सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

वडोदरा (बड़ौदा) जिले के पर्यटन स्थल - Vadodara (Baroda) tourist place

वडोदरा (बड़ौदा) जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Vadodara (Baroda) / वडोदरा (बड़ौदा) के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह 


वड़ोदरा गुजरात राज्य का एक मुख्य जिला है। वड़ोदरा गुजरात की राजधानी गांधीनगर से करीब 134 किलोमीटर दूर है। बड़ोदरा जिले को पहले बड़ौदा नाम से जाना जाता था। इसका नाम परिवर्तित करके वडोदरा रखा गया। वडोदरा में गायकवाड फैमिली के बहुत सारे महल, मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। गायकवाड शासक यहां पर राज किया करते थे। वडोदरा जिले के पास में माही नदी बहती है। वडोदरा में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - वडोदरा जिले में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 

 

वडोदरा में घूमने की जगह - Vadodara mein ghumne ki jagah 


लक्ष्मी विलास पैलेस वडोदरा - Laxmi Vilas Palace Vadodara

लक्ष्मी विलास पैलेस वडोदरा शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको महल देखने के लिए मिलता है। यह महल बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह महल करीब 700 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है। इस महल का निर्माण 1890 में महाराजा सयाजीराव गायकवाड तृतीय ने करवाया था। इस महल में एंट्री के लिए शुल्क लिया जाता है। इस महल में आज भी राज परिवार के लोग रहते हैं। यहां पर आप महल का कुछ भाग ही देख सकते हैं। यह महल बहुत सुंदर है। महल में आपको ऊंची मीनार, गुंबद, खिड़कियां, प्रवेश द्वार देखने के लिए मिलता है, जो बहुत ही आकर्षक है। 

लक्ष्मी विलास पैलेस में बहुत बड़ा बगीचा है। महल में करीब 20 से ज्यादा जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं। लक्ष्मी विलास पैलेस में आपको म्यूजियम भी देखने के लिए मिलता है। म्यूजियम और महल में अलग-अलग टिकट लगता है। दोनों जगह के चार्ज अलग रहते हैं। यहां पर आपको ऑडियो गाइड के द्वारा आप महल के बारे में अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। ऑडियो गाइड अलग-अलग लैंग्वेज में उपलब्ध है। इस महल की वास्तुकला हिंदू, मुगल, और गोथिक शैली में है। 

लक्ष्मी विलास पैलेस का गार्डन बहुत बड़ा है और इस गार्डन में आपको बहुत सारी स्टेचू देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत सुंदर लगते हैं। यहां गार्डन में मोर का स्टेच्यू है, जो बहुत ही जबरदस्त लगता है। इसके अलावा आपको यहां पर नवलखी बावड़ी देखने के लिए मिलती है, जो प्राचीन है और बहुत सुंदर है। आप यहां पर गार्डन में घूम सकते हैं। यहां चारों तरफ पेड़ पौधे हैं। लक्ष्मी विलास पैलेस के पास में आपको गायकवाड बड़ौदा गोल्फ क्लब  देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यह बड़ोदरा में घूमने लायक एक मुख्य जगह है।


महाराजा फतेह सिंह म्यूजियम बड़ोदरा - Maharaja Fateh Singh Museum Vadodara

महाराजा फतेह सिंह म्यूजियम बड़ोदरा शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह लक्ष्मी विलास पैलेस के परिसर में ही स्थित है। यह म्यूजियम 10 बजे से 5 बजे तक खुला रहता है। इस म्यूजियम में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर एक भारतीय व्यक्ति का 150 रुपए शुल्क लिया जाता है। म्यूजियम के अंदर फोटोग्राफी करना मना है। म्यूजियम में आपको बहुत सारी प्राचीन वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिलता है। 

यहां पर आपको पेंटिंग का अच्छा संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यह पेंटिंग इंडियन और यूरोपियन आर्टिस्ट के द्वारा बनवाई गई है। यहां पर राजा रवि वर्मा की पेंटिंग का भी अच्छा संग्रह देखने के लिए मिलता है। यहां पर 3D पेंटिंग भी देखने के लिए मिलती हैं। इसके अलावा आपको यहां पर मार्बल की सुंदर मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। ट्रेन का मॉडल देखने के लिए मिलता है। यहां पर और भी बहुत सारी चीजें हैं, जो बहुत सुंदर है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं और इंजॉय कर सकते हैं। म्यूजियम के बाहर आपको बगीचा देखने के लिए मिलता है, जहां पर आपको मोर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर पार्किंग फैसिलिटी अवेलेबल है। 


श्री अक्कलकोट स्वामी समर्थ मठ बड़ौदा - Sri Akkalkot Swami Samarth Math Baroda

श्री अक्कलकोट स्वामी समर्थ मठ बड़ौदा शहर का एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको स्वामी समर्थ की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मठ बड़ौदा जिले में सूरसागर झील के किनारे स्थित है। यहां पर आपको आकर अच्छा लगेगा। शांति मिलेगा। यहां झील का दृश्य भी देखने में बहुत सुंदर लगता है। झील के बीच में आपको शिव शंकर जी के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। 


सुरसागर झील वडोदरा - Sursagar Lake Vadodara

सुरसागर झील वडोदरा शहर का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यह झील वडोदरा शहर के मध्य में स्थित है। यह झील बहुत सुंदर है। झील के बीच में शंकर जी की बहुत बड़ी प्रतिमा बनी हुई है। यह प्रतिमा करीब 120 फीट ऊंची है। यह प्रतिमा बहुत ही सुंदर लगती है। यह मानव निर्मित झील है। इस झील के किनारे बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं। इस झील के किनारे भगवान शिव का पातालेश्वर मंदिर देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है और मंदिर में शिव भगवान जी का शिवलिंग विराजमान है। झील के किनारे छोटे-छोटे पार्क बने हुए हैं, जहां पर बैठने के लिए जगह है और आप यहां से बैठकर झील का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। इस झील में साल भर पानी रहता है। यह बड़ौदा शहर की सबसे अच्छी जगह है। 


सूर्य नारायण मंदिर वडोदरा - Surya Narayan Temple Vadodara

सूर्य नारायण मंदिर बड़ौदा शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर करीब 200 साल पुराना है। यह मंदिर सूर्य भगवान जी को समर्पित है। मंदिर के गर्भ ग्रह में सूर्य भगवान जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस प्रतिमा में सूर्य भगवान जी अपने घोड़ों को साथ लिए हैं और रथ में सवार है। मंदिर के बाहर आपको हाथी की बड़ी सी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर दिखती है। यह प्रतिमा एक ही पत्थर से बनाई गई है। यहां पर आपको गार्डन भी देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर रावपुरा रोड में स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यह बड़ौदा में घूमने लायक मुख्य जगह है। 


ताम्बेकर वाड़ा वडोदरा - Tambekar Wada Vadodara

ताम्बेकर बाड़ा वडोदरा शहर का एक सुंदर स्थल है। यह बड़ोदरा के दीवान भाऊ ताम्बेकर का निवास स्थान था। यह विशिष्ट मराठा भवन है। पाषाण पीठ पर निर्मित इस भवन का ढांचा लकड़ी का है। इसकी दीवारें ईट की बनी हुई है। इस भवन की दीवारों में आपको सुंदर सुंदर पेंटिंग देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर रामायण और महाभारत के दृश्य, हिंदू देवी देवता, लौकिक एवं युद्ध दृश्य, जिसमें भारतीय तथा यूरोपीय सैनिक दिखाए गए हैं। अधिकारीगण, वनस्पतियां तथा पशु पक्षी के दृश्य, देखने के लिए मिलते हैं। 

यूरोपीय शैली में बने कुछ चित्र संभावित प्रतिकृतियां है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और इस पूरी जगह का अवलोकन कर सकते हैं। यह वडोदरा में रावपुरा एरिया में स्थित है। इस जगह के बारे में ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं है। इसलिए यहां पर ज्यादा लोग नहीं आते हैं। आप अगर हिस्ट्री लवर हैं, तो आप यहां पर आ सकते हैं। 


रावपुरा टावर वडोदरा - Raopura Tower Vadodara

रावपुरा टावर वडोदरा का एक ऐतिहासिक स्थल है। यहां पर आपको एक टावर देखने के लिए मिलता है। यह मुख्य तौर पर क्लॉक टावर है। इसमें घड़ी भी लगी हुई है। इस टावर का वास्तविक नाम महारानी चिमनाबाई टावर है। यह टावर महारानी चिमनाबाई की याद में बनाया गया है। महारानी चिमनाबाई महाराज सियाजी राव गायकवाड तृतीय की पहली पत्नी थी। यह टावर 1896 में नगरवासियों के सहयोग के द्वारा बनवाया गया है। इस टावर का इनॉग्रेशन बड़ौदा के अंतिम नवाब मीर कमालुद्दीन हुसैन खान ने किया है। यह टावर वडोदरा में रावपुरा बाजार में स्थित है यह एक मुख्य लैंड मार्क हैं।


जुबेली बाग वडोदरा - Jubeli Bagh Vadodara

जुबेली बाग बड़ोदरा शहर का एक सुंदर बगीचा है। यह उद्यान वडोदरा शहर के बीचोंबीच स्थित है। यह बगीचा बहुत सुंदर है। इस उद्यान में चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं और यहां पर आपको गौतम बुद्ध जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


कुतुबुद्दीन मुहम्मद खान का मकबरा वडोदरा - Tomb of Qutbuddin Muhammad Khan Vadodara

कुतुबुद्दीन मुहम्मद खान का मकबरा वडोदरा शहर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह कुतुबुद्दीन खान का मकबरा है। यह मकबरा हजीरा के नाम से प्रसिद्ध है। कुतुबुद्दीन खान अकबर के उत्तराधिकारी सलीम के शिक्षक थे, जो गुजरात में अकबर की सेना में महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त है। यह मकबरा बहुत ही सुंदर है। यह मकबरा ऊंचे चबूतरे पर बना हुआ है और मकबरे के अंदर आपको कब्र देखने के लिए मिलती है। मकबरे के चारों तरफ सुंदर बगीचा बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मकबरा नवापुरा में स्थित है। यह मकबरा बहुत सुंदर है। 


कीर्ति मंदिर वडोदरा - Kirti Mandir Vadodara

कीर्ति मंदिर वडोदरा शहर का एक ऐतिहासिक स्मारक है। यह स्मारक वडोदरा के महाराजा सयाजीराव गायकवाड तृतीय ने 1936 में बनाया था। यह स्मारक गायकवाड फैमिली की याद में बनाई गई है। यहां पर आपको गायकवाड फैमिली के बारे में बहुत सारी जानकारी मिल जाती है। यहां पर आपको गायकवाड़ परिवार के सदस्यों की मूर्तियां और तस्वीरें देखने के लिए मिल जाती हैं। यहां पर किसी भगवान की स्थापना नहीं की गई है। 

यह स्मारक गायकवाड फैमिली की कीर्ति को सहेज के रखी है। इसलिए इसे कीर्ति मंदिर कहते हैं। इस मंदिर के परिसर में आपको भगवान सर्वेश्वर महादेव मंदिर, दत्त मंदिर और राधे कृष्ण मंदिर भी देखने के लिए मिल जाता है, जो बहुत सुंदर है। इस स्मारक के बाहर आपको सुंदर गार्डन देखने के लिए मिल जाता है। यह स्मारक वडोदरा शहर में काला घोड़ा सर्कल की तरफ जाने वाली रोड में स्थित है। आप यहां पर पहुंचकर इस महल को देख सकते हैं। 


यवतेश्वर महादेव मंदिर वडोदरा - Yavateshwar Mahadev Temple Vadodara

यावतेश्वर महादेव मंदिर वडोदरा शहर का एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर वडोदरा शहर में विश्वमित्री नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर करीब 200 साल पुराना है। यह मंदिर शंकर भगवान जी को समर्पित है। गर्भ गृह में शंकर भगवान जी की शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारे लोग भगवान शिव के दर्शन करने के लिए आते हैं। 

यह मंदिर बड़ोदरा शहर के राजा के द्वारा बनाया गया है। मंदिर के पास में आपको सयाजी बावड़ी देखने के लिए मिलती है, जो प्राचीन है और बहुत सुंदर है। मगर इसका संरक्षण नहीं किया जा रहा है। इस मंदिर के पास में आपको विश्वामित्री घाट भी देखने के लिए मिलेगा, जो बहुत सुंदर है। यह वडोदरा में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


बड़ौदा म्यूजियम और पिक्चर गैलरी वडोदरा - Baroda Museum and Picture Gallery Vadodara

बड़ौदा म्यूजियम एवं पिक्चर गैलरी वडोदरा शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह पर आपको बहुत सारी वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिलता है। यहां पर अलग-अलग सेक्शन बांटे गए हैं, जिसमें आपको हिस्ट्री, नेचर, विज्ञान, जीवविज्ञान, बॉटनी, इजिप्शियन और भी बहुत सारी सेक्शन देखने के लिए मिलते हैं, जिसमें बहुत सारी वस्तुओं का प्रदर्शन किया गया है। इस म्यूजियम के बिल्डिंग भी बहुत सुंदर है। यहां पर आपको बिल्डिंग के बाहर गार्डन देखने के लिए मिलता है, जिसमें टॉय ट्रेन में आप घूम सकते हैं। 

बड़ौदा म्यूजियम में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर 100 रुपए एक व्यक्ति का लिया जाता है। आप अगर हिस्ट्री लवर है, तो आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। इस म्यूजियम के बाहर आपको बहुत बड़ा गार्डन देखने के लिए मिलता है। यह गार्डन बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। गार्डन में भी आपको बहुत सारे कलाकृतियां देखने के लिए मिल जाती हैं। बडौदा म्यूजियम वडोदरा में यूनिवर्सिटी मार्ग में सयाजी बाग के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए पहुंच सकते हैं। यह वडोदरा की सबसे अच्छी जगह है। 


सयाजी बाग वडोदरा - Sayaji Bagh Vadodara

सयाजी बाग वडोदरा शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। सयाजीबाग बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर आपको बहुत सारे स्थल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको सरदार पटेल प्लेनेटोरियम, रेनबो फाउंटेन, सयाजी बाग संग्रहालय, फ्लावर क्लॉक, वडोदरा नेम स्कल्पचर, बैंडस्टैंड, देखने के लिए मिलता है। यहां पर आप साइकिल द्वारा भी पूरा बाग घूम सकते हैं। यहां पर साइकिल आपको रेंट पर मिल जाती है। इस बाग को कमाटी बाग के नाम से भी जाना जाता है। यह बाग कमाटीपुरा में स्थित है।

यहां पर आपको चिड़ियाघर देखने के लिए मिलता है, जिसमें बहुत सारे जंगली जानवरों को रखा गया है। यहां पर जानवरों को अलग-अलग बाड़े में रखा गया है। चिड़ियाघर में आपको बाघ, शेर, हिप्पोपोटामस, बंदर, नीलगाय, मगरमच्छ, घड़ियाल, खरगोश, हिरण शुतुरमुर्ग, चित्तीदार हिरण, लव बर्ड्स, और भी बहुत सारे जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको बहुत सारी पक्षी भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर विदेशी पक्षी भी देखने के लिए मिलते हैं। 

यहां पर आपको प्लेनेटोरियम भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें आपको ग्रह नक्षत्रों के बारे में बताया जाता है। यहां पर आप जॉय ट्रेन के द्वारा पूरे बाग में घूम सकते हैं। जॉय ट्रेन में आप सवारी का मजा ले सकते हैं। यह ट्रेन में बहुत अच्छी दिखती है। यहां पर आपको फ्लावर क्लॉक देखने के लिए मिलती है। यह क्लॉक फूलों से बनाई गई है और बहुत ही सुंदर दिखाई देती है। पार्क में विश्वमित्री नदी बहती है। नदी के ऊपर पुल भी बनाया गया है, जो बहुत सुंदर है। आप यहां पर आ कर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह वडोदरा में घूमने लायक जगह है। 


श्री कामनाथ महादेव मंदिर बड़ोदरा - Shri Kamnath Mahadev Temple Vadodara

श्री कामनाथ महादेव मंदिर बड़ोदरा का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर वडोदरा में सयाजी गार्डन के पास विश्वामित्री नदी के किनारे बना हुआ है। यहां मंदिर शंकर भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में शंकर भगवान जी के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको विश्वमित्री नदी के किनारे सुंदर घाट भी देखने के लिए मिलता है। यह घाट बहुत अच्छी तरह से बना हुआ है और आप यहां पर आकर स्नान कर सकते हैं। यहां पर आपको हनुमान जी और गणेश जी के भी दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। इसे नवनाथ महादेव मंदिर भी कहा जाता है, क्योंकि यह वडोदरा के 9 महादेव मंदिरों में से एक है। 


ईएमई मंदिर वडोदरा - EME Mandir Vadodara

ईएमई मंदिर वडोदरा शहर के प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर वडोदरा जिले में इंडियन आर्मी कैंपस के अंदर स्थित है। इस मंदिर का प्रबंधन आर्मी के द्वारा किया जाता है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर का डिजाइन बहुत ही सुंदर है। इस मंदिर को एल्यूमीनियम शीट द्वारा बहुत ही सुंदर डिजाइन दिया गया है। मंदिर के बाहर आपको सुंदर गार्डन देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर में जाने के लिए आपके पास आइडेंटी कार्ड होना चाहिए, नहीं तो आपको मंदिर में नहीं जाने दिया जाएगा और अगर आप यहां टू व्हीलर गाड़ी से आते हैं, तो आपको हेलमेट पहनना जरूरी है। नहीं तो तब भी आपको मंदिर में जाने की मनाही रहेगी। 

ईएमई मंदिर को दक्षिण मुखी मंदिर भी कहा जाता है। इस मंदिर में शिव भगवान जी की प्रतिमा दक्षिण मुख की आसन किए हुए विराजमान है। मंदिर के बाहर आप को बहुत बड़ा गार्डन देखने के लिए मिलता है। इस गार्डन में और भी बहुत सारी प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको गौतम बुद्ध की सफेद रंग की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है और गणेश जी एवं अन्य देवी-देवताओं की भी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको युद्ध में इस्तेमाल किया हुआ, टैंक देखने के लिए मिलता है। यहां चारों तरफ का वातावरण हरियाली भरा है और बहुत सुंदर है। ईएमई मंदिर का निर्माण 1946 में किया गया था। मंदिर कैंपस में आपको गुरुद्वारा भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर आर्मी कैंटीन है, जहां पर आपको बहुत बढ़िया खाना मिल जाता है। यहां पर सुबह और शाम के समय आप भगवान शिव के दर्शन करने के लिए जा सकते हैं। यहां पर आकर बहुत शांति मिलती है। 


इस्कॉन मंदिर वडोदरा - ISKCON temple vadodara

इस्कॉन मंदिर वडोदरा शहर का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर श्री कृष्ण जी को समर्पित है। यह मंदिर वडोदरा में गोत्री में स्थित है। इस मंदिर में श्री राधे कृष्ण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं और जगन्नाथ पुरी जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर हरे राम, हरे कृष्णा के भजन चलते रहते हैं। यहां पर आकर बहुत शांति मिलती है। 

यह मंदिर बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है और सुव्यवस्थित है। मंदिर के बाहर गार्डन बना हुआ है। मंदिर के अंदर दीवारों में श्री कृष्ण जी की बहुत सारी पेंटिंग देखने के लिए मिलती है, जिसमें महाभारत के दृश्यों को दिखाया गया है। मंदिर के अंदर मंडप के गुंबद में श्री कृष्ण जी की रासलीला को दिखाया गया है। मंदिर में कैंटीन भी है, जहां पर आपको खाने पीने का सामान मिल जाता है। यहां पर शॉप भी है, जहां से आप कोई भी गिफ्ट ले सकते हैं। यहां पर आकर शांति से अपना समय व्यतीत कर सकते हैं। यह वडोदरा की सबसे अच्छी जगह है। 


श्री खंडोबा महाराज मंदिर वडोदरा - Shri Khandoba Maharaj Mandir Vadodara

श्री खंडोबा महाराज मंदिर प्राचीन मंदिर है। यह वडोदरा शहर में स्थित धार्मिक स्थल है। इस मंदिर का निर्माण 1786 में महाराजा फतेह सिंह राव गायकवाड के द्वारा किया गया था। यहां पर आपको भगवान मल्हार खंडोबा और महालासा देवी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है। मंदिर के ऊपर गुंबद में बहुत ही सुंदर पेंटिंग देखने के लिए मिलती है। मंदिर का डिज़ाइन भी बहुत आकर्षक है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर वडोदरा में नबपारा में स्थित है। यहां पर खंडोबा तालाब भी बना है। यह वडोदरा की सबसे अच्छी जगह है। 


गायत्री शक्तिपीठ वडोदरा - Gayatri Shaktipeeth Vadodara

गायत्री शक्तिपीठ वडोदरा शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर गायत्री माता को समर्पित है। मंदिर में गायत्री माता की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर शिव मंदिर भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर शिवलिंग विराजमान है। यह मंदिर वडोदरा में अमोदर में स्थित है। यह मंदिर वडोदरा में, वडोदरा वाघोडिया जाने वाले मार्ग पर स्थित है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। मंदिर परिसर बहुत अच्छा है और यह मंदिर भी बहुत अच्छे तरीके से बना हुआ है। यहां पर आकर शांति मिलती है। यह वडोदरा में घूमने लायक जगह है। 


श्री महीसागर मंदिर वडोदरा - Shri Mahisagar Temple Vadodara

श्री महिसागर माताजी मंदिर वडोदरा का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर वडोदरा में माही नदी के किनारे बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आते हैं और महीसागर माता जी के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर आप माही नदी में स्नान भी कर सकते हैं। यहां पर आपको और भी मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर शिव जी का मंदिर और हनुमान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर बहुत सारे बंदर भी हैं। यह जगह प्राकृतिक सुंदरता से भरी हुई है। 

महीसागर मंदिर के पास में ही बूढ़ेश्वर महादेव मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर शिव शंकर जी को समर्पित है। यहां पर आप आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह वडोदरा का पिकनिक स्पॉट है। 


भीमनाथ महादेव मंदिर वडोदरा - Bhimnath Mahadev Temple Vadodara

भीमनाथ महादेव मंदिर वडोदरा में स्थित एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर वडोदरा में सावली गांव में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर और भी बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमा विराजमान है। यहां पर शंकर जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। यहां पर श्री राम जी की मूर्ति के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा। यह वडोदरा में घूमने लायक जगह है। 


स्टेचू ऑफ यूनिटी वडोदरा - Statue of Unity Vadodara

स्टेचू ऑफ यूनिटी वडोदरा के पास स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। स्टैचू ऑफ यूनिटी कावड़िया में स्थित है। यहां पर आपको सरदार वल्लभ भाई पटेल की बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह दुनिया का आठवां अजूबा है। इसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। स्टैचू ऑफ यूनिटी से आप दूर दूर तक का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। इसमें 135 फ्लोर हैं। इसमें ऊपर जाने के लिए लिफ्ट बनाई गई है। 

स्टेचू ऑफ यूनिटी 182 मीटर ऊंचा है। इससे सरदार सरोवर बांध का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आपको और भी बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको ग्लो गार्डन, एकता नर्सरी, कैक्टस गार्डन, बटरफ्लाई पार्क, सरदार सरोवर डैम, सरदार पटेल जूलॉजिकल पार्क देखने के लिए मिलता है। इसके अलावा आप यहां बोटिंग का भी मजा ले सकते हैं। आप बड़ोदरा से यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह वडोदरा में घूमने लायक जगह है। 


वडोदरा जिले के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों की सूची - List of famous tourist places in Vadodara district

जावलिया हनुमान मंदिर जवला सावली वडोदरा 
अजवा झील वडोदरा
सुमेरु नवकार जैन तीर्थ (द गोल्डन टेंपल) कर्जन वडोदरा
गोत्री गार्डन और गोत्री झील वडोदरा
परमेश्वर महादेव मंदिर गोत्री झील वडोदरा
पंचमुखी हनुमान मंदिर गोपाल नगर वडोदरा
कमला नगर तालाब और गार्डन वडोदरा
नंदालय मंदिर वडोदरा 
सामा गार्डन एवं सामा तलाव वडोदरा
जलाराम मंदिर समा एरिया वडोदरा
बॉटनिकल गार्डन वडोदरा
सर सयाजीराव मेमोरियल ट्रस्ट लाइब्रेरी वडोदरा 
श्री रोकड़नाथ हनुमान मंदिर वडोदरा
मामा नी पोल बड़ोदरा
भास्कर विट्ठल वाड़ा बड़ोदरा
प्रोफेसर मानेकराव अखाड़ा बड़ोदरा
कलाभवन बड़ोदरा
खानका ए रिफाई दरगाह बड़ोदरा
अरविंदो आश्रम बड़ोदरा


बलिया में घूमने वाली जगह
मथुरा में घूमने वाली जगह
आगरा में घूमने वाली जगह
बनारस में घूमने की जगह


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।