सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

अहमदाबाद जिले के पर्यटन स्थल - Ahmedabad tourist places

अहमदाबाद जिले के दर्शनीय स्थल - Place to visit in Ahmedabad / अहमदाबाद के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


अहमदाबाद गुजरात का एक मुख्य जिला है। अहमदाबाद गुजरात की राजधानी गांधीनगर से करीब 30 किलोमीटर दूर है। साबरमती नदी अहमदाबाद के बीच से बहती है। अहमदाबाद की स्थापना 11 वीं सदी में राजा कर्णदेव प्रथम के द्वारा की गई थी। इन्होंने भील राजा अशपल्ल के खिलाफ युद्ध छेड़ा था और जीत के बाद साबरमती नदी के किनारे आधुनिक अहमदाबाद की स्थापना कर्णावती नाम से की थी। 15 वीं सदी के शुरुआत में, 1411 ईस्वी में सुल्तान अहमद शाह ने कर्णावती को अहमदाबाद नाम से बदल कर इसे अपनी राजधानी के रूप में स्थापित किया। सन 1818 में यहां पर ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने अहमदाबाद शहर पर कब्जा कर लिया और 1824 में सैन्य छावनी स्थापित की गई। 1915 महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से वापस आयो और साबरमती नदी के किनारे एक आश्रम की स्थापना की। उन्होंने 1930 में नमक सत्याग्रह शुरू किया। अंग्रेजो ने नमक पर टैक्स लगाया था। इसके विरोध नमक सत्याग्रह किया गया और गांधीजी साबरमती आश्रम से गुजरात के तटीय गांव दांडी तक पैदल यात्रा करके गए। इसमें गांधी जी और अन्य कई अनुयायियों भी उनके साथ थे। ऐसे ही अनेक ऐतिहासिक घटना अहमदाबाद में हुई है। अहमदाबाद में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। यहां पर प्राकृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक जगह देखने के लिए मिलती है। अहमदाबाद में बहुत सारे मंदिर हैं। चलिए जानते हैं - अहमदाबाद में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


अहमदाबाद में घूमने की जगह - Ahmedabad mein ghumne ki jagah 


कमला नेहरू प्राणी उद्यान अहमदाबाद - Kamala Nehru Zoological Park Ahmedabad

कमला नेहरू प्राणी उद्यान अहमदाबाद का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। कमला नेहरू प्राणी उद्यान को कांकरिया जू के नाम से भी जाना जाता है। कमला नेहरू प्राणी उद्यान अहमदाबाद में कांकरिया झील के पास में स्थित है। इस उद्यान में आपको बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। इस उद्यान में प्रवेश के लिए टिकट लगता है। यह उद्यान सुबह 9 बजे से 6 बजे तक खुला रहता है। यहां पर पार्किंग के लिए भी जगह है और पार्किंग का भी अलग से चार्ज लगता है। यहां पर अगर आप कैमरा से फोटोग्राफी करते हैं, तो उसका चार्ज भी लिया जाता है। 

कमला नेहरू प्राणी उद्यान में आपको बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको हिरण, हाथी, भालू, गैंडा, हिप्पोपोटामस, शेर, चीता, बाघ, बंदर, बब्बर शेर, मगरमच्छ, घड़ियाल, बारहसिंघा, चत्तेदार हिरन, जंगली कुत्ता, शाही देखने के लिए मिल जाता है। इस पार्क के अंदर आपको कैंटीन भी देखने के लिए मिलती है, जहां पर आपको खाने पीने का सामान मिल जाता है। यहां पर जंगली जानवरों के बाड़े के बाहर बोर्ड लगा हुआ है, जहां पर जानवरों के बारे में जानकारी दी गई है। 

यहां पर आपको सरीसृप हाउस भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर आपको विभिन्न प्रकार के सांप देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको इंडियन पाइथन, कोबरा, रसल वाइपर और भी बहुत सारे सांप देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आप राइड का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर टॉय ट्रेन हैं, जिसमें आप घूम सकते हैं। इस पूरे पार्क को घूमने के लिए आपको 2 घंटा लग जाता है। आप यहां पर आकर बहुत इंजॉय कर सकते हैं। यह अहमदाबाद में घूमने लायक जगह है। 


नगीना वाडी अहमदाबाद - Nagina Wadi Ahmedabad

नगीना वाडी अहमदाबाद शहर का एक मुख्य स्थल है। नगीना वाडी कंकरिया झील के बीच में एक द्वीप में बना हुआ है। इस द्वीप में जाने के लिए पुल बनाया गया है। पुल से होते हुए आप इस द्वीप में पहुंच सकते हैं। इस द्वीप में आपको प्राचीन महल देखने के लिए मिलता है, जो मुगल शासकों द्वारा बनवाया गया था। इस महल को उन्होंने ग्रीष्मकालीन महल के रूप में बनाया था। अब आप यहां पर घूम सकते हैं। यहां पर आपको एक फव्वारा भी देखने के लिए मिलता है, जो म्यूजिकल फाउंटेन है।  यह फाउंटेन शाम के समय चालू होता है और बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर बहुत सारे खाने पीने की दुकानें भी है। यहां शाम के समय बहुत अच्छा लगता है। यह अहमदाबाद में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


कांकरिया झील अहमदाबाद - Kankaria Lake Ahmedabad

कांकरिया झील अहमदाबाद जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह झील बहुत सुंदर है और यह झील अहमदाबाद शहर में बीचो-बीच स्थित है। यह झील मानव निर्मित है। यह झील गोलाकार है। कांकरिया झील के सभी और आपको कुछ ना कुछ घूमने वाली जगह देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आपको बहुत सारे पार्क, कमला नेहरू प्राणी उद्यान, एम्यूजमेंट पार्क, टॉय ट्रेन, म्यूजियम, फाउंटेन यह सभी चीजें देखने के लिए मिलती है। इसके अलावा आपको झील में बहुत सारी गतिविधियां भी करने के लिए मिलती हैं। यहां पर आप वॉटर स्पोर्ट्स का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर तरह तरह के खेल खेले जा सकते हैं। यहां पर नाव की सवारी का भी मजा लिया जा सकता है। यहां पर सभी आयु वर्ग के लोग आकर इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं और अगर आप अहमदाबाद घूमने के लिए आते हैं, तो आपको यहां पर जरूर आना चाहिए। 


हठी सिंह जैन मंदिर - Hathi Singh Jain Temple

हठी सिंह जैन मंदिर अहमदाबाद का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर जैन धार्मिक स्थल है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर करीब 200 साल पुराना है। यह मंदिर 1848 में बनाया गया था। इस  मंदिर का निर्माण सेठ हठी सिंह ने करवाया था। यह मंदिर 15 वे जैन तीर्थकार श्री धर्म नाथ जी को समर्पित है। इस मंदिर में बहुत ही सुंदर कारीगरी  देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यहां पर आपको मंडप, बालकनी, गुंबद और खंभे देखने के लिए मिलते हैं, जिनमें बहुत जबरदस्त नक्काशी की गई है। 

इस मंदिर में आपको भोजशाला मिल जाती है, जहां पर आपको सात्विक भोजन मिलता है। यहां पर रुकने की व्यवस्था है। यहां पर म्यूजियम है, जहां पर 20 रूपए एंट्री चार्ज लिया जाता है। म्यूजियम में आपको जैन धर्म से संबंधित बहुत सारी जानकारियां मिलती है। यहां पर गाड़ी की पार्किंग के लिए भी बहुत बड़ा जगह है। यह मंदिर बहुत ही सुंदरता से बनाया गया है। यह अहमदाबाद में घूमने वाली मुख्य जगहों में से एक है। 


स्वामीनारायण मंदिर अहमदाबाद - Swaminarayan Mandir Ahmedabad

स्वामीनारायण मंदिर अहमदाबाद का एक प्रसिद्ध स्थल है। यहां पर आपको एक सुंदर संगमरमर से बना हुआ नक्काशीदार मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर लगता है। इस मंदिर का शिखर बहुत ही आकर्षक है। यह मंदिर अहमदाबाद में नमस्ते सर्कल के पास स्थित है। 


जामा मस्जिद अहमदाबाद - Jama Masjid Ahmedabad

जामा मस्जिद अहमदाबाद जिले का एक प्रमुख स्थल है। जामा मस्जिद मुस्लिम लोगों का धार्मिक स्थल है। इस मस्जिद को जामा मस्जिद या जुम्मा मस्जिद के नाम से भी जाना जाता है। इस मस्जिद का निर्माण अहमद शाह ने 1423 में करवाया था। इस मस्जिद को मुख्य रूप से शुक्रवार को नमाज अदा करने के लिए बनवाया गया था। यह भारत की सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है। 

यहां पर आपको खूबसूरत खंभे और खंभों के ऊपर बड़े-बड़े गुंबद देखने देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही आकर्षक लगते हैं। इस मस्जिद की वास्तुकला बहुत जबरदस्त है। खंबो, दीवारों, मीनारों, गुंबद के अंदरूनी भाग में बहुत ही सुंदर कारीगरी की गई है। यह मंदिर अहमदाबाद में गांधी रोड में स्थित है। आप यहां पर बाइक और कार से घूमने के लिए आ सकते हैं। आप यहां पर गाइड को लेकर आएंगे, तो गाइड आपको इस मस्जिद के बारे में पूरी जानकारी विस्तार पूर्वक दे सकेगा। यह मस्जिद मुगल, जैन एवं हिंदू वास्तुकला में बनाई गई है। यह अहमदाबाद में घूमने लायक जगह है। 


अहमद शाह का मकबरा अहमदाबाद - Ahmed Shah's Tomb Ahmedabad

अहमद शाह का मकबरा अहमदाबाद का एक मुख्य स्थल है। यह मकबरा जामा मस्जिद के पास में ही स्थित है। यह मकबरा बहुत सुंदर है। इस मकबरे का निर्माण अहमद शाह प्रथम की मृत्यु उपरांत 1424 ईस्वी में किया गया था। कुछ विद्वानों के अनुसार इस मकबरे का निर्माण सुल्तान अहमद शाह प्रथम द्वारा स्वयं किया गया था। इस मकबरे को बादशाह का हजीरा के नाम से भी जाना जाता है। इस मकबरे में आपको एक विशाल गुंबद युक्त सुंदर कक्ष देखने के लिए मिलता है। यह कक्ष चारों तरफ से गलियारे से घिरा हुआ है। इस गलियारे में सुंदर स्तंभ देखने के लिए मिलते हैं। इस मकबरे में आपको सुल्तान अहमद शाह प्रथम के पुत्र महमूद शाह द्वितीय एवं पौत्र कुतुबुद्दीन अहमद शाह के मकबरे भी देखने के लिए मिलते हैं, जो बेहद सुंदरता से बनाए गए हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह अहमदाबाद के सबसे अच्छी जगह है। 


मां भद्रकाली मंदिर अहमदाबाद - Maa Bhadrakali Temple Ahmedabad

मां भद्रकाली मंदिर अहमदाबाद का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर भद्रकाली माता को समर्पित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में माता की काले रंग की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही आकर्षक लगती है। इस मंदिर में बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। लोगों का मानना है, कि भद्रकाली माता के दर्शन करने से मनोकामनाएं पूरी होती है। यह मंदिर अहमदाबाद में 3 दरवाजे के पास में स्थित है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। इस मंदिर का निर्माण मराठों के द्वारा किया गया था। माता भद्रकाली को अहमदाबाद की नगर देवी कहा जाता है। 


साबरमती रिवर फ्रंट अहमदाबाद - Sabarmati Riverfront Ahmedabad

साबरमती रिवर फ्रंट अहमदाबाद में देखने लायक एक मुख्य जगह है। यहां पर आपको साबरमती नदी के दोनों किनारों पर बहुत सुंदर घाट देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको खाने पीने, गेमिंग, बोटिंग की सुविधाएं उपलब्ध है। आप यहां पर बहुत एंजॉय कर सकते हैं। यहां पर बहुत लम्बा वॉकवे बनाया गया है, जहां पर आप साबरमती नदी के किनारे वॉक कर सकते हैं और नदी का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। यहां पर गार्डन बना हुआ है, जहां पर आप बैठ सकते हैं। 

साबरमती रिवरफ्रंट को बहुत अच्छी तरह से मैनेज किया गया है। यहां पर साफ सफाई का विशेष ध्यान दिया गया है। यहां पर पूरे वॉकवे एरिया में लाइट की व्यवस्था की गई है। यहां पर रात के समय दृश्य बहुत ही सुंदर लगता है। जब नदी के दोनों तरफ लाइट जल जाती है। यहां शाम के समय आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आप साबरमती नदी में बहुत सारी गतिविधियां भी कर सकते हैं। साबरमती नदी के किनारे साइकिलिंग से पूरा घाट घूम सकते हैं। यह घाट करीब 10 किलोमीटर लंबे हैं और अच्छी तरह बनाए गए हैं। यहां पर अटल घाट बना हुआ है, जो प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी को समर्पित है। आप यहां पर बहुत इंजॉय कर सकते हैं।


रिवरफ्रंट फ्लावर पार्क अहमदाबाद - Riverfront Flower Park Ahmedabad

रिवरफ्रंट फ्लावर पार्क अहमदाबाद का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यह पार्क साबरमती रिवर फ्रंट में स्थित है। इस पार्क का प्रबंधन अहमदाबाद मुंसिपल कारपोरेशन द्वारा किया जाता है। यहां पर आपको चारों तरफ फूलों वाले पौधे देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आप बहुत सारे प्लांट खरीद भी सकते हैं। यहां पर आपको फ्लावर प्लांट, औषधि, मेडिकल, किचन प्लांट देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर एक छोटा सा तालाब भी बना हुआ है, जिसमें कमल के फूल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर फव्वारा भी देखने के लिए मिलता है। 

यहां पर हर साल एग्जीबिशन होता है, जिसमें बहुत ही यूनिक तरीके से इस जगह में फूलों वाले पौधों के प्रस्तुत किया जाता है। यहां पर फूलों के द्वारा बहुत सारे मॉडल तैयार किए जाते हैं। यहां पर चिड़िया, मछली, चश्मा, हिरण, मोर, नाव, कार, हनुमान जी की प्रतिमा, यह सब चीजें लोगों के सामने प्रस्तुत की जाती है, जो बहुत ही शानदार लगती है। यह एग्जीबिशन जनवरी में होता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और बहुत इंजॉय कर सकते हैं।  


साबरमती आश्रम अहमदाबाद - Sabarmati Ashram Ahmedabad

साबरमती आश्रम अहमदाबाद का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। आप अगर अहमदाबाद घूमने के लिए आते हैं, तो आपको इस आश्रम में जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। साबरमती आश्रम अहमदाबाद में साबरमती नदी के किनारे बना हुआ है। यह आश्रम महात्मा गांधी और कस्तूरबा बाई का निवास स्थान था। यहां पर उन्होंने 1918 से 1930 तक निवास किया। यहां पर उन्होंने देश के प्रथम सत्याग्रह दांडी यात्रा का शुभारंभ किया। 

यहां पर आपको म्यूजियम देखने के लिए मिल जाएगा, जहां पर गांधीजी से संबंधित बहुत सारी वस्तुओं का संग्रह किया गया है। इसके अलावा उनके जीवन के बारे में भी बताया गया है। यहां पर आपको बहुत सारी पेंटिंग देखने के लिए मिलती है। बहुत सारे लेख देखने के लिए मिलते हैं, जो गांधी जी और अन्य फ्रीडम फाइटर से संबंधित है। यहां पर आपको सुंदर बगीचा देखने के लिए मिलता है। बगीचे में गांधीजी की प्रतिमा विराजमान है। इस आश्रम को बहुत ही अच्छी तरह से मेंटेन किया गया है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 


श्री सोमनाथ महादेव मंदिर अहमदाबाद - Shri Somnath Mahadev Temple Ahmedabad

श्री सोमनाथ महादेव मंदिर अहमदाबाद का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं और मंदिर के बाहर मंडप में नंदी भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर 1000 साल पुराना है। इस मंदिर का पौराणिक महत्व है। यह शिव मंदिर अहमदाबाद के बाहरी एरिया में विशाला के निकट ग्यासपुर गांव में स्थित है। यह मंदिर बहुत बड़ी क्षेत्र में फैला हुआ है। 


रानी सिपरी मस्जिद अहमदाबाद - Rani Sipri Masjid Ahmedabad

रानी सिपरी मस्जिद अहमदाबाद का एक मुख्य स्थान है। यह एक मुस्लिम धार्मिक स्थल है। यह मस्जिद बहुत ही सुंदर है।  इस मस्जिद में आपको जाली की सुंदर कारीगरी देखने के लिए मिलती है, जो इस मस्जिद को आकर्षक बनाती है। इस मस्जिद में आपको एक बड़ा सा गुंबददार केंद्रीय कक्ष देखने के लिए मिलता है, जिसकी दीवारों पर सुंदर जालीदार खिड़कियां बनाई गई है। यहां पर आपको सुंदर मीनार भी देखने के लिए मिलते हैं। 

इस मस्जिद को और भी बहुत सारे नामों से जाना जाता है। इसे मस्जिद ए नगीना, रानी आसनी की मस्जिद के नाम से भी जाना जाता था। इस मस्जिद का निर्माण 1514 ई में गुजरात के सुल्तान महमूद बेगड़ा की हिंदू पत्नी रानी सिपरी ने करवाया था। इसकी दीवारों पर बहुत ही सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यह मस्जिद आस्टोड़िया दरवाजे के पास में बनी हुई है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। यह अहमदाबाद की सबसे अच्छी जगह है। 


भाद्र का किला अहमदाबाद - Bhadra Fort Ahmedabad

भाद्र का किला अहमदाबाद का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह एक ऐतिहासिक किला है। यह किला अहमदाबाद जिले में तीन दरवाजा के पास में स्थित है। यह किला भद्रकाली मंदिर के पास में बना हुआ है। यह किला बहुत ही सुंदर है। इस किले में आपको मोटी दीवारें, क्लॉक टावर और बुर्ज देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। इस किले का निर्माण 1411 ईस्वी में अहमद शाह के द्वारा किया गया था। इस किले के ऊपर जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है, जहां से आप अहमदाबाद शहर का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। यहां पर मार्केट एरिया देखने के लिए मिलता है। यह किला अहमदाबाद मुंसिपल कारपोरेशन के द्वारा प्रबंधित किया जाता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह अहमदाबाद में घूमने लायक जगह है। 


दादा हरिर बावड़ी अहमदाबाद - Dada Harir Bawdi Ahmedabad

दादा हरीर बावड़ी अहमदाबाद का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह एक सुंदर बावड़ी है। बावड़ी का मतलब होता है, प्राचीन समय में जमीन से पानी निकालने के लिए कुआं बनाया जाता था। यह बावड़ी बहुत ही जबरदस्त है। यह बावड़ी 7 मंजिला है। इस पूरी बावड़ी का निर्माण पत्थर से किया गया है और इस बावड़ी में बहुत ही जबरदस्त नक्काशी देखने के लिए मिलती है। आप इस बावड़ी की निचली मंजिलों में भी जा सकते हैं। निचली मंजिलों में जाने के लिए सीढ़ियां बनाई गई है। इस बावड़ी के पास ही में आपको एक मस्जिद देखने के लिए मिलती है। यह बावड़ी 15 वी शताब्दी में बनाई गई थी और इस बावड़ी को किसने बनाया इस को लेकर अलग-अलग राय है। आप अगर अहमदाबाद आते हैं, तो आप इस बावड़ी में घूमने के लिए आ सकते हैं। यह अहमदाबाद का एक आकर्षण स्थल है। यह बावड़ी अहमदाबाद में असर्वा एरिया में स्थित है। 


वेचार संग्रहालय अहमदाबाद - Vechaar  Museum Ahmedabad

वेचार संग्रहालय अहमदाबाद का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह संग्रहालय विशाला रेस्टोरेंट के परिसर में स्थित है। इस संग्रहालय में आपको गृहस्थी के सामान का संग्रह देखने के लिए मिलता है। यहां पर राजस्थान, गुजरात मध्य प्रदेश और उड़ीसा जैसे अन्य राज्यों से विभिन्न सामग्री एकत्र की गई है और उसका सुंदर प्रदर्शन किया गया है। यहां पर आपको स्टेनलेस स्टील, जस्ता, लकड़ी, कांसा, जर्मन, चांदी, मिट्टी, तांबे, कांच के बने हुए बर्तन देखने के लिए मिलते हैं। आपको यहां पर पुराने बर्तन देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत सुंदर हैं। 

वेचार संग्रहालय पर आप को बहुत बड़ा ताला देखने के लिए मिलता है। आपने इतना बड़ा ताला शायद ही, कहीं देखा हो। यहां पर बहुत बड़े-बड़े मटके देखने के लिए मिलते हैं, जो अनाज को स्टोर करने के काम आते थे। आप यहां पर आकर बहुत सारी लाजवाब वस्तु देख सकते हैं। यहां पर झोपड़ी का मॉडल बनाया गया है और उसमें इन सभी सामानों को प्रस्तुत किया गया है। यहां ऐसे भी बर्तन देखने के लिए मिलेंगे, जो आपने कभी देखा नहीं होगा। यहां पर आप को ताजमहल देखने के लिए मिलेगा, जो 75000 माचिस की तीलियों से बना हुआ है और बहुत ही जबरदस्त लगता है। यहां पर पेंटिंग भी दिखाई गई है, कि किस तरह से लोग प्राचीन समय में खाद्य सामग्री तैयार किया करते थे। यहां पर प्रवेश के लिए टिकट लगता है और आप यहां पर बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं। यह मुख्य सड़क पर स्थित है। 


लालाभाई दलपत भाई संग्रहालय अहमदाबाद - Lalabhai Dalpat Bhai Museum Ahmedabad

लालाभाई दलपतभाई संग्रहालय अहमदाबाद का एक मुख्य स्थल है। यहां पर आपको बहुत सारी वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यह संग्रहालय जैन संत अगमप्रभाकर मुनि श्री पुण्यविजय जी महाराज और उद्योगपति श्री कस्तूर भाई लाल भाई के द्वारा स्थापित किया गया है। इस संग्रहालय में आपको 45000 पुस्तकें का संग्रह देखने के लिए मिलता है और 75000 पांडुलिपियों का संग्रह देखने के लिए मिलता है।

इस संग्रहालय की स्थापना 1984 में की गई थी और यहां पर आपको बहुत सारी वस्तुएं देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको पेंटिंग, लघु चित्र, लकड़ी की बहुत सारी कलाकृतियां, प्राचीन बर्तन देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर जैन लिपियों का सबसे बड़ा संग्रह है। पुरानी किताबें संस्कृत, पाली, गुजराती, हिंदी और राजस्थानी भाषाओं में देखने के लिए मिल जाती हैं। यहां पर मूर्तियों का दुर्लभ संग्रह है। इस संग्रहालय को एलडी संग्रहालय भी कहा जाता है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। यह अहमदाबाद की घूमने वाली जगह में से एक है। 


इस्कॉन मंदिर अहमदाबाद - ISKCON temple ahmedabad

इस्कॉन मंदिर अहमदाबाद का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह  मंदिर श्री कृष्ण जी को समर्पित है। इस मंदिर में आपको श्री राधे गोविंद जी और श्री राम जी, लक्ष्मण जी और सीता जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर आपको एक बड़ा सा मंडप देखने के लिए मिलता है। यहां पर आप आकर शांति से बैठ कर मेडिटेशन कर सकते हैं। मंदिर के बाहर आपको फव्वारा देखने के लिए मिलता है, जिसमें श्री कृष्ण जी की कालिया नाग को मारते हुए प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। 

यहां पर आपको बगीचा भी देखने के लिए मिलता है और यहां पर गौशाला बनी हुई है, जहां पर गायों की सेवा की जाती है। आप चाहे, तो यहां पर दान भी कर सकते हैं। यहां पर श्री कृष्ण जी की बहुत सारी पेंटिंग देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। यहां आकर शांति का अनुभव होता है। यह मंदिर मुख्य गांधीनगर हाईवे सड़क पर बना हुआ है। आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। यह अहमदाबाद में घूमने लायक जगह है। 


ऑटो वर्ल्ड विंटेज कार संग्रहालय अहमदाबाद - Auto World Vintage Car Museum Ahmedabad

ऑटो वर्ल्ड विंटेज कार संग्रहालय अहमदाबाद का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको विंटेज कारों का संग्रह देखने के लिए मिलता है। यह सबसे बड़ा विंटेज कारों संग्रह है। यहां पर आपको विंटेज कार की सवारी करने के लिए भी मिल जाती है। इसके लिए आपको कुछ चार्ज अलग से देना पड़ता है। यहां पर और भी बहुत सारे वाहनों का संग्रह किया गया है। यहां पर बाइक और घोड़ा गाड़ी का संग्रह किया गया है। 

संग्रहालय में प्रवेश के लिए टिकट लगता है और यहां पर आपको एम्यूज़मेंट पार्क भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर आप टॉय ट्रेन राइड का मजा ले सकते हैं। यहां पर एक रेस्टोरेंट भी है, जहां पर आप खाने का मजा ले सकते हैं। यहां पर सुंदर बगीचा बना हुआ है। आपको अगर कारों के प्रति रुचि है, तो आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह संग्रहालय काठीवाडा में स्थित है। आप यहां आसानी से आ सकते हैं। यह मुख्य हाईवे सड़क पर स्थित है। 


झूलता मीनार अहमदाबाद - Jhulta Minar Ahmedabad

झूलता मीनार अहमदाबाद का एक मुख्य स्थल है। यह एक आश्चर्यजनक स्थल है। यहां पर आपको दो मीनार देखने के लिए मिलती है। जब एक मीनार हिलती है तो दूसरी में कंपन होने लगती है, इन दोनों के बीच का मीनार का भाग में किसी भी तरह का कंपन नहीं होता है। मगर इन मीनारों में कंपन होता है। यह प्राचीन इंजीनियरिंग का एक नमूना है। इस बात की जांच करने के लिए अंग्रेजों ने एक मीनार को तोड़ भी दिया था। मगर इस बात का अंग्रेजों को भी पता नहीं चल सका, कि यह किस कारण होता है।  अब इन मीनारों के अंदर जाने की मनाही है। आप मीनारों को बाहर से देख सकते हैं और इनका अवलोकन कर सकते हैं। यह मीनारें सारंगपुर में स्थित है। 

झूलता मीनार के पास में ही आपको सिदी बशीर मस्जिद देखने के लिए मिलती है, जिसे 1442 ईस्वी में सुल्तान अहमद शाह के गुलाम सिदी बशीर ने बनवाया था। यह मस्जिद बहुत ही खूबसूरत है और इसमें नक्काशी की गई है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं।

 

परिमल गार्डन अहमदाबाद - Parimal Garden Ahmedabad

परिमल गार्डन अहमदाबाद का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह अहमदाबाद के सबसे अच्छे गार्डन में से एक है। यह गार्डन बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। इस गार्डन में चारों तरफ आपको हरियाली देखने के लिए मिलती है। इस गार्डन के अंदर झील भी बनी हुई है, जिसमें कमल के फूल और फव्वारे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको बहुत सारी बर्ड्स देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर फूलों वाले भी बहुत सारे प्लांट लगे हुए हैं। यहां पर सुबह एवं शाम के समय मॉर्निंग वॉक वाले लोग आते हैं। यह सभी आयु वर्ग के लिए उपयुक्त स्थल है। आप अगर अहमदाबाद आते हैं, तो आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मुख्य अहमदाबाद शहर में स्थित है। यहां पर आसानी से पहुंचा जा सकता है। 


सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय स्मारक अहमदाबाद - Sardar Vallabhbhai Patel National Memorial Ahmedabad

सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय स्मारक अहमदाबाद का एक मुख्य स्थल है। यहां पर आपको एक संग्रहालय देखने के लिए मिलता है। इस संग्रहालय में आपको हमारे देश के इतिहास और सरदार वल्लभ भाई पटेल के बारे में बहुत सारी जानकारी मिलेगी। संग्रहालय की बिल्डिंग बहुत ही सुंदर है। यह संग्रहालय अहमदाबाद में शाही बाग में स्थित है। यह संग्रहालय 9:30 बजे से 5 बजे तक खुला रहता है। संग्रहालय में प्रवेश के लिए टिकट लगता है। 

इस संग्रहालय में आपको आयरन मैन सरदार पटेल की व्यक्तिगत जीवन से संबंधित मूवी दिखाई जाती है, जिसमें उनके बारे में बहुत सारी जानकारियां मिलती है। इस म्यूजियम में आपको सरदार वल्लभभाई पटेल की शिक्षा, उनके घर, स्कूल, सत्याग्रह, जेल और भी बहुत सारी जानकारियां मिलती है। यहां पर गांधी जी, नेहरु जी और सरदार पटेल जी ने किस तरह अंग्रेजो के खिलाफ लड़ाई लड़ी, उसके बारे में जानकारी मिलती है। सरदार पटेल जी ने किस प्रकार पूरे देश को एक किया, उसकी भी जानकारी मिलती है। यहां पर रविंद्र नाथ टैगोर के द्वारा लिखी हुई किताबें भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर सिक्कों का बहुत अच्छा कलेक्शन किया गया है। यहां पर बहुत सुंदर गार्डन बना हुआ है। गाड़ियों की पार्किंग के लिए जगह है। यह अहमदाबाद की सबसे अच्छी जगहों में से एक है और आप अपना बहुत अच्छा समय यहां पर व्यतीत कर सकते हैं। 


लॉ गार्डन अहमदाबाद - Law Garden Ahmedabad

लॉ गार्डन अहमदाबाद शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। इस पार्क को सेठ मोतीलाल हीरालाल पार्क के नाम से भी जाना जाता है। यह एक सुंदर गार्डन है। यह गार्डन अहमदाबाद शहर के मध्य स्थित है। यह गार्डन बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है और गार्डन में चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। गार्डन में आपको तालाब भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें बहुत सारे कमल के फूल लगे हुए हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। गार्डन में आपको फव्वारा भी देखने के लिए मिलता है। 

लॉ गार्डन के बाहर आपको मार्केट एरिया देखने के लिए मिलता है, जिसे हैप्पी स्ट्रीट कहा जाता है। इस मार्केट एरिया में आपको सभी प्रकार के सामान मिल जाते हैं। यहां पर खासतौर पर लेडीस क्लॉथ और जूते का अच्छा कलेक्शन देखने के लिए मिलता है। इसके अलावा यहां पर और भी बहुत सारे घरेलू आइटम देखने के लिए मिलते हैं। यहां ज्वेलरी, होम डेकोर, क्राफ्ट आइटम, हैंड मेड बेल्ट, वॉल हैंगिंग, हैंडबैग, एंटीक गले का हार और चूड़ी, कुर्ती, सूट, बंधेज और बांधनी साड़ी और कपड़ा और भी बहुत सारी चीजें मिल जाती हैं। यहां पर खाने की भी बहुत सारे ऑप्शन आपको मिल जाते हैं। यहां पर आप आकर बहुत इंजॉय कर सकते हैं और आपको बहुत मजा आएगा। लॉ गार्डन अहमदाबाद में घूमने लायक एक मुख्य स्थान है। 


सरखेज रोजा अहमदाबाद - Sarkhej Roza Ahmedabad

सरखेज रोजा अहमदाबाद का एक मुख्य ऐतिहासिक स्थल है। यहां पर आपको मस्जिद एवं मकबरा देखने के लिए मिलता है। सरखेज रोजा अहमदाबाद में मकरबा गांव में स्थित है। यहां पर आपको महमूद बेगड़ा का मकबरा देखने के लिए मिलता है, जो गुजरात सल्तनत के एक प्रमुख सुल्तान थे। यह मकबरा बहुत ही सुंदर बना हुआ है। इस मकबरे में बहुत ही सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। 

यहां पर आपको सूफी संत शेख अहमद गंज बक्शी की दरगाह भी देखने के लिए मिलती है। यह बहुत पवित्र स्थान है और यहां पर बहुत सारे लोग आते हैं और दुआ मांगते हैं। इस दरगाह में आपको एक बड़ा सा गुंबद वाला केंद्रीय कक्ष देखने के लिए मिलता है। इसके अलावा यहां पर गुंबद के चारों तरफ छोटे-छोटे गुंबद बनाए गए हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। सामने बगीचा बना हुआ है और अंदर आपको संत अहमद गंज बख्शी की कब्र देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको जामा मस्जिद की देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर है। मस्जिद चारों तरफ से दीवार से घिरी हुई है। यह मुख्य प्रार्थना हॉल देखने के लिए मिलता है, जिसमें सुंदर गुंबद है। यहां पर और भी बहुत सारी प्राचीन इमारतें हैं। 

यहां पर आपको शेख अहमद खट्टू का प्रार्थना हॉल देखने के लिए मिलता है। ग्याससुद्दीन अली क़ज़्वानी का मकबरा देखने के लिए मिलता है। बरादरी देखने के लिए मिलती है। रानी रजाबाई का मकबरा देखने के लिए मिलता है। कलन्दरी मस्जिद देखने के लिए मिलती है। राजा महल और रानी महल देखने के लिए मिलता है। यहां पर सरखेज तालाब भी बना हुआ है, जो बहुत बड़ा है और यह बरसात के समय पूरी तरह पानी से भर जाता है। आप अगर अहमदाबाद घूमने के लिए आते हैं, तो आपको यहां पर जरूर आना चाहिए, क्योंकि आपको यहां पर एक साथ बहुत सारे प्राचीन इमारतें देखने के लिए मिलती है और इन इमारतों की नक्काशी बहुत ही बढ़िया है। 


गुजरात साइंस सिटी अहमदाबाद - Gujarat Science City Ahmedabad

गुजरात साइंस सिटी अहमदाबाद का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको बहुत सारे जगह देखने मिलती है, जहां पर आप घूम सकते हैं। यहां पर आपको एक्वेटिक गैलरी, एस्ट्रोनॉमी एंड स्पेस गैलरी, साइंस रोबोटिक सेंटर, प्लैनेट अर्थ, म्यूजिकल फाउंटेन, एनर्जी पार्क, नेचर पार्क स्पेस, आईमैक्स जैसे स्थान देखने के लिए मिल जाते हैं। यह बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है, तो यहां पर आपको साइकिल की व्यवस्था मिल जाती है, जिससे आप पूरे क्षेत्र में घूम सकते हैं। साइंस सिटी में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है और इन सभी जगह में भी जाने के लिए अलग-अलग शुल्क लगता है। यहां पर कैंटीन भी है, जहां पर चाय कॉफी और खाने के लिए खाद्य पदार्थ मिल जाता है। 

साइंस सिटी बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर आपको एक्वेटिक गैलरी देखने के लिए मिलता है। यहां पर आप विभिन्न तरह के जलीय जीवो को देख सकते हैं। यहां पर आपको पेंग्विन, स्टार फिश, शार्क, जैसी मछलियां देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर बड़े-बड़े शंख भी रखे गए हैं। यहां पर जाने का अलग चार्ज लिया जाता है। प्लैनेट अर्थ की बिल्डिंग का आकार ही बहुत सुंदर है और इसका आकार हमारी पृथ्वी जैसा है। इसके अंदर भी आपको बहुत सारी जानकारियां मिलती हैं। नेचर पार्क में आपको बहुत सुंदर झील देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको डायनासोर का स्टेचू भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत जबरदस्त लगता है। रोबोटिक्स में जाकर आप रोबोट का अनुभव ले सकते हैं और उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। म्यूजिकल फाउंटेन में आपको संगीतमय फव्वारा देखने के लिए मिलता है और जब यह चलाया जाता है, तो बहुत ही जबरदस्त लगता है। आप यहां पर आकर बहुत एंजॉय कर सकते हैं। यहां पर आपको थोड़ा खर्चा ज्यादा आ सकता है। मगर आपको मजा भी बहुत आएगा। 


सीदी सैयद की मस्जिद अहमदाबाद - Sidi Syed's Mosque Ahmedabad

सीदी सैयद मस्जिद अहमदाबाद जिले की एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह मुसलमानों का धार्मिक स्थल है। यह मस्जिद अहमदाबाद में भाद्र के लिए किले की तरफ जाने वाली सड़क में स्थित है। यह मस्जिद बहुत ही सुंदर है। इस मस्जिद को सीदी सैयद की जाली कहा जाता है। इस मस्जिद का निर्माण सीदी सैयद ने किया था। इस मस्जिद की खिड़कियों में आपको खूबसूरत जालियों का काम देखने के लिए मिलता है। यहां पर जालियों का काम बहुत जबरदस्त है। यहां पर खिड़कियों में बहुत सुंदर पेड़ का काम किया गया है। यह बहुत ही आकर्षक लगता है। इसी के कारण मस्जिद प्रसिद्ध है। इसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। यहां पर और भी सुंदर सुंदर नक्काशी की गई है। इस मस्जिद का निर्माण सीदी सैयद ने करवाया था। उन्होंने इस मस्जिद का निर्माण 1573 में करवाया था। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री माता वैष्णो देवी तीर्थ धाम अहमदाबाद - Shri Mata Vaishno Devi Teerth Dham Ahmedabad

श्री वैष्णो देवी तीर्थ धाम अहमदाबाद का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह धार्मिक स्थल है। यहां मंदिर वैष्णो माता जी को समर्पित है। यहां पर आपको आर्टिफिशियल वैष्णो देवी जी की गुफा देखने के लिए मिलती है, जिस तरह की गुफा जम्मू कटरा में बनी हुई है। उसी तरह की गुफा यहां पर बनाई गई है। यहां पर गुफा के अंदर मां वैष्णो माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर पार्किंग के लिए अच्छी जगह है। वैष्णो देवी तीर्थ धाम मंदिर अहमदाबाद में सरखेज गांधीनगर हाईवे रोड पर स्थित है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री बालाजी मंदिर अहमदाबाद - Shree Balaji Mandir Ahmedabad

श्री बालाजी मंदिर अहमदाबाद का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यहां पर आपको भगवान वेंकटेश्वर स्वामी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है और साउथ इंडियन स्टाइल में बना हुआ है। यहां पर आपको प्रवेश द्वार में ही हनुमान जी और गरुण जी की बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है और प्रवेश द्वार का शिखर बहुत ही सुंदर लगता है। यह मंदिर अहमदाबाद में सरखेज गांधीनगर हाईवे सड़क के पास स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। मंदिर परिसर बहुत अच्छा है और साफ सुथरा है। यहां पर आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। आपको यहां पर आकर शांति महसूस होगी। 

श्री बालाजी मंदिर में आपको एक छोटा सा गार्डन, पार्किंग स्पेस, एक कैंटीन देखने के लिए मिल जाती है, जहां पर बहुत ही सस्ते दामों पर खाने पीने का सामान मिल जाता है। यहां पर मुंडन भी किया जाता है। यहां पर ठहरने की सुविधा भी उपलब्ध है। यह मंदिर भगवान तिरुपति बालाजी की प्रतिरूप की तरह बनाया गया है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 


अदालज की बावड़ी अहमदाबाद - Adalaj Ki Baori Ahmedabad

अदालज की बावड़ी अहमदाबाद का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक प्राचीन बावड़ी है। इस बावड़ी का निर्माण रानी रूदाबाई ने अपने पति रणवीर सिंह की स्मृति में किया था। यह बावड़ी 5 मंजिला है। इस बावड़ी में आप नीचे जा सकते हैं। पांचवी मंजिल में आपको बावड़ी में पानी देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर दीवारों में बहुत ही सुंदर नक्काशी की गई है। खंभों में भी आकर्षक नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यहां पर प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। आप यहां पर आ कर घूम सकते हैं। 

अदालज बावड़ी में निचली मंजिल में जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। अदालज बावड़ी की दीवारों और खंभों में बहुत ही सुंदर नक्काशी की गई है। इस बावड़ी की वास्तुकला हिंदू और मुगल है। यहां पर सुंदर गार्डन भी देखने के लिए मिलता है। यह बावड़ी मुख्य अहमदाबाद शहर से 20 किलोमीटर दूर अदालज नामक जगह पर स्थित है। यह जगह गांधीनगर जाने वाले मार्ग पर पड़ती है। आप यहां पर बाइक और कार से पहुंच सकते हैं। यहां पार्किंग की जगह भी है। 


रानी रूपमती मस्जिद अहमदाबाद - Rani Rupmati mosque ahmedabad

रानी रूपमती मस्जिद अहमदाबाद का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मुस्लिम धार्मिक स्थल है। यह मस्जिद अहमदाबाद कोर्ट के पास में स्थित है। यह मस्जिद बहुत सुंदर है। मस्जिद में एंट्री गेट पर आपको दो बड़े-बड़े मीनार देखने के लिए मिलते हैं। इनमें मीनारों में बहुत ही सुंदर नक्काशी की गई है। यहां पर आपको बालकनी देखने के लिए मिलती है। बालकनी में भी बहुत सुंदर कारीगरी की गई है। इस मस्जिद का निर्माण सुल्तान कुतुबुद्दीन के भाई महमूद बेगड़ा ने करवाया था। रानी रूपमती सुल्तान कुतुबुद्दीन की पत्नी थी, जिनका विवाह सुल्तान की मृत्यु के बाद महमूद बेगड़ा से हुआ था। रानी रूपमती बहुत सुंदर और बुद्धिमान थी। रानी रूपमती को रूपमंजरी के नाम से भी जाना जाता था। इस मस्जिद का नाम रानी रूपमती के नाम पर रखा गया है। इस मस्जिद में आपको मुस्लिम और हिंदू वास्तुकला देखने के लिए मिल जाती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 



अहमदाबाद जिले के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों की सूची - List of famous tourist places in Ahmedabad district 

ऋणमुक्तेश्वर महादेव मंदिर अहमदाबाद
कोटेश्वर महादेव मंदिर अहमदाबाद
मनेक चौक अहमदाबाद 
नेहरू ब्रिज अहमदाबाद 
स्वामी विवेकानंद (अहमदाबाद का पुराना ब्रिज)
थोल पक्षी अभ्यारण्य अहमदाबाद 
श्री CAMP हनुमान अहमदाबाद 
जगन्नाथ मंदिर जमालपुर अहमदाबाद 
लोथल अहमदाबाद 
अक्षरधाम अहमदाबाद 
त्रिमंदिर अहमदाबाद 
हुसैन दोशी गुफा या अहमदाबाद नी गुफा कस्तूरबा लाल भाई कैंपस अहमदाबाद
श्री राधा माधव मंदिर भडाज अहमदाबाद
केलिको संग्रहालय अहमदाबाद
सती माता मंदिर शाहीबाग अहमदाबाद
एनसी मेहता गैलरी
श्रेयस लोक संग्रहालय 
श्री गोसाई जी गोकुलनाथजी बैठकी असर्वा अहमदाबाद
इंद्रोडा डायनासोर एवं जीवाश्म पार्क 
मनीयर्स वंडरलैंड अहमदाबाद
चंदोला झील अहमदाबाद
वस्त्रापुर झील अहमदाबाद
गायत्री मंदिर शाहीबाग अहमदाबाद 
पौराणिक श्री भीमनाथ महादेव मंदिर शाहीबाग अहमदाबाद 
शहीद स्मारक शाहीबाग अहमदाबाद
नरेंद्र मोदी स्टेडियम अहमदाबाद (विश्व का सबसे बड़ा स्टेडियम)
तीन दरवाजा अहमदाबाद 
लोकमान्य तिलक बाग स्वामी विवेकानंद रोड अहमदाबाद 
श्री महालक्ष्मी मंदिर रिवरफ्रंट अहमदाबाद


वडोदरा में घूमने की जगह
बलिया में घूमने वाली जगह
मथुरा में घूमने वाली जगह
आगरा में घूमने वाली जगह


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।