सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

राजनांदगांव जिले के पर्यटन स्थल - Rajnandgaon Tourist Place

राजनांदगांव जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Rajnandgaon / राजनांदगांव जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह / राजनांदगांव पर्यटन


राजनांदगांव छत्तीसगढ़ का एक मुख्य जिला है। राजनांदगांव छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से करीब 75 किलोमीटर दूर है। राजनांदगांव छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित है।  राजनांदगांव दुर्ग जिले का एक हिस्सा हुआ करता था। इसे 26 जनवरी 1973 को एक अलग करके नया जिला बनाया गया। राजनांदगांव जिला मे घूमने के लिए बहुत सारी जगह आपको देखने के लिए मिल जाती है। चलिए जानते हैं राजनांदगांव में कौन-कौन सी जगह घूमने के लिए है। 


राजनांदगांव में घूमने की जगह
Rajnandgaon me ghumne ki jagah


मां बमलेश्वरी मंदिर राजनांदगांव - Maa Bamleshwari Temple Rajnandgaon

मां बमलेश्वरी मंदिर राजनांदगांव जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर पूरे भारत देश में प्रसिद्ध है। डोंगरगढ़ राजनांदगांव का एक प्रमुख नगर है और डोंगरगढ़ मां बम्लेश्वरी मंदिर के कारण ही प्रसिद्ध है। यहां पर आसपास के शहरों से बहुत सारे लोग मां बमलेश्वरी के दर्शन करने के लिए आते हैं। डोंगरगढ़ में बहुत सारी जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं। डोंगर का मतलब होता है पहाड़ियां और गढ़ का मतलब होता है - किला। डोंगरगढ़ घाटियों और पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यहां पर आपको प्राकृतिक दृश्य देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर रहते हैं और मंदिर की सीढ़ियां चढ़ते हुए आपको बहुत मजा आता है। 

मां बमलेश्वरी का मंदिर ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। यह मंदिर 1600 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। मंदिर तक जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। आप मंदिर के ऊपर जाते हैं, तो आपको चारों तरफ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। पहाड़ी के ऊपर आपको मां बमलेश्वरी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है। मंदिर की दीवारों और छत में नक्काशी की गई है और गर्भ ग्रह में मां बमलेश्वरी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। मां बमलेश्वरी गहनों और वस्त्रों से सुसज्जित है। यहां पर आकर अच्छा लगता है और शांति मिलती है। इस मंदिर से आप चारों तरफ का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। मंदिर के नीचे एक झील भी है, जो आप यहां से देख सकते हैं। 

मां बमलेश्वरी मंदिर में आपको प्रसाद खाने के लिए भी मिलता है। यहां पर रोपवे की सुविधा भी उपलब्ध है। यहां पर बहुत सारी दुकान है, तो आप कभी भी यहां आते हैं, तो ऐसा लगता है, कि यहां मेला लगा हुआ है। यहां पर बहुत सारे बंदर है। इसलिए आपको अपना सामान संभाल कर रखना चाहिए। आप यहां पर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं और यहां पर आपको बहुत सारे देवी देवताओं के मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर शिव भगवान जी, हनुमान जी के मंदिर बने हुए हैं। यह राजनंदगांव के पास में स्थित एक मुख्य आकर्षण स्थल है। 


प्रज्ञागिरी डोंगरगढ़ - Pragyagiri Dongargarh

प्रज्ञागिरी राजनांदगांव का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। प्रज्ञागिरी राजनांदगांव में डोंगरगढ़ में स्थित है। प्रज्ञागिरी एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। पहाड़ी तक पहुंचने के लिए यहां पर सीढ़ियां दी गई है। आप सीढ़ियों से चढ़कर पहाड़ी तक पहुंच सकते हैं। यहां पर आपको बुद्ध भगवान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है और पहाड़ी की चोटी से आपको चारों तरफ का सुंदर दृश्य भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर डॉक्टर अंबेडकर की भी फोटो आपको देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर पार्क बना हुआ है और बड़ी ऊंची चट्टान आपको यहां पर देखने के लिए मिल जाती है। आप डोंगरगढ़ आते हैं, तो आप यहां पर भी घूमने के लिए आ सकते हैं। यह डोंगरगढ़ में घूमने वाली एक मुख्य जगह है। 


छोटी बमलेश्वरी मंदिर राजनांदगांव - Choti Bamleshwari Temple Rajnandgaon

छोटा बमलेश्वरी मंदिर राजनांदगांव का धार्मिक स्थल है। यह डोंगरगढ़ में मां बमलेश्वरी मंदिर के नीचे पहाड़ी में ही स्थित है। यह मंदिर में बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है। मंदिर की दीवारों पर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यहां पर विभिन्न देवी-देवताओं विराजमान है, जिनके दर्शन आप कर सकते हैं। 


श्री चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर डोंगरगढ़ - Shri Chandraprabhu Digambar Jain Temple Dongargarh

श्री चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर राजनंदगांव का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह जैन मंदिर है। यह मंदिर पूरी तरह लाल पत्थरों से बना हुआ है। यह मंदिर भी बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है और यहां पर आपको गर्भगृह में चंद्रप्रभु जी के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर चंद्रप्रभु जी की बहुत बड़ी प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। आप यहां पहाड़ी के ऊपर जा सकते हैं और चारों तरफ के सुंदर दृश्य को भी देख सकते हैं। यह डोंगरगढ़ में घूमने लायक जगह है। 


निगो जलाशय राजनांदगांव - Nigo Reservoir Rajnandgaon

निगो जलाशय राजनांदगांव के पास स्थित एक प्राकृतिक स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यह जलाशय जंगल के अंदर स्थित है। यहां पर आप आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह जलाशय डोंगरगढ़ से करीब 15 किलोमीटर दूर है। यह कान्हर गांव के पास स्थित है। आप यहां पर गाड़ी से घूमने के लिए आ सकते हैं। 


दंगबोरा जलाशय राजनांदगांव - Dangbora Reservoir Rajnandgaon

दंगबोरा बांध राजनांदगांव के पास स्थित एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यह चारों तरफ से जंगलों से घिरा हुआ है। यहां पर आपको जंगली जानवर और मछलियां देखने के लिए मिलती हैं। यह जगह बहुत सुंदर है। यह बांध डोंगरगढ़ से करीब 16 किलोमीटर दूर है। दंगबोरा बांध तोतलभर्री घोटिया मार्ग में स्थित है। आप यहां पर फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। यह पिकनिक मनाने के लिए एक अच्छी जगह है। 


करेला भवानी माता मंदिर राजनांदगांव - Karela Bhavani Mata Mandir Rajnandgaon

करेला भवानी माता मंदिर राजनांदगांव का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर घने जंगलों के बीच में और ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर में पहुंचने के लिए आपको सीढ़ियां चढ़कर जाना पड़ता है। मंदिर में पहुंचकर आपको भवानी माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां से चारों तरफ का जंगल का बहुत सुंदर दृश्य आपको देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर बरसात में बहुत अच्छा लगता है। यहां पर ढेर सारे बंदर भी हैं। यह मंदिर राजनांदगांव में डोंगरगढ़ के पास में स्थित है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा शांतिमय समय बिता सकते हैं। 


पनियाजोब बांध राजनांदगांव - Paniyajob Dam Rajnandgaon

पनियाजोब बांध राजनांदगांव के पास स्थित एक सुंदर स्थल है।  यह एक जलाशय है। यह जलाशय चारों तरफ से जंगल से घिरा हुआ है। यहां पर आपको मां कुवारी पाठ मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर शंकर भगवान जी की प्रतिमा विराजमान है। यह बांध चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है और यहां पर आपको मछलियां और विदेशी पक्षी देखने के लिए मिल जाते हैं। आप यहां पर पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। यह बांध डोंगरगढ़ के पास में स्थित है। 


छिंदारी बांध राजनांदगांव - Chhindari Dam Rajnandgaon

छिंदरी बांध राजनांदगांव के पास स्थित एक प्रमुख प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। छिंदरी बांध चारों तरफ से पहाड़ों और जंगलों से घिरा हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर बरसात के समय आएंगे, तो पानी ओवरफ्लो होकर बहता है, जिसका दृश्य बहुत सुंदर रहता है। यहां पर आप आकर पिकनिक मना सकते हैं। यह बांध राजनांदगांव में छुई खदान ब्लॉक में स्थित है। 


नाथेला जलप्रपात राजनांदगांव - Nathela Falls Rajnandgaon

नाथेला जलप्रपात राजनांदगांव का एक दर्शनीय स्थल है। यहां पर आपको खूबसूरत झरना देखने के लिए मिलता है। यह झरना जब छिंदरी बांध ओवरफ्लो होकर बहता है। तब देखने के लिए मिलता है। यह बहुत सुंदर है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह छुई खदान ब्लॉक में स्थित है। 


शिव मंदिर घटियारी राजनांदगांव - Shiv Mandir Ghatiyari Rajnandgaon

शिव मंदिर घटियारी राजनांदगांव का एक प्राचीन मंदिर है। यहां पर आपको प्राचीन मंदिर के अवशेष देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर प्राचीन मूर्तियां देखने के लिए मिल जाती है। यह मंदिर छत्तीसगढ़ पुरातत्व विभाग के द्वारा संरक्षित किया गया है। यह मंदिर 1979 में टीले के उत्खनन के फल स्वरुप प्राप्त हुआ था। यह मंदिर राजनांदगांव में गंडई नगर से 3 किलोमीटर दूर पश्चिम में स्थित है। इस मंदिर के पास में एक तालाब भी बना हुआ है, जिसे घटियारी तालाब कहते हैं। मंदिर में आपको मंडप, अंतराल खंड और गर्भ ग्रह देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर पूरी तरह से नष्ट हो गया है। मंदिर के गर्भ गृह में जलहरी पर शिवलिंग स्थापित है। यहां पर आपको नंदी, गणेश, भैरव की प्रतिमाएं देखने के लिए मिल जाती है। यह मंदिर नागवंशी राजाओं के शासनकाल में 10वीं से 11वीं सदी ईस्वी में बनाया गया था। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यह राजनांदगांव के पास घूमने के लिए एक अच्छी जगह है। 


शिव मंदिर गंडई राजनांदगांव - Shiv Mandir Gandai Rajnandgaon

शिव मंदिर राजनांदगांव के गंडई में स्थित है। इस मंदिर का मुख पूर्व दिशा की ओर है। यह मंदिर पूरी तरह पत्थर से बना हुआ है। मंदिर के बाहर बहुत सारी सुंदर सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। गर्भ ग्रह के ऊपर शिखर विराजमान है। मंदिर के सामने नंदी की प्रतिमा स्थापित है। गर्भ गृह में शिवलिंग स्थापित है। यहां पर आपको मंडप और महामंडप देखने के लिए मिल जाता है। प्रवेश द्वार में बहुत ही सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिल जाती है। यह मंदिर एक ऊंचे चबूतरे पर बना हुआ है।  यह राजनांदगांव में देखने लायक जगह है। 


श्री भवाल माता जी मंदिर राजनांदगांव - Shri Bhawal Mata Ji Temple Rajnandgaon

श्री भवाल माताजी मंदिर राजनंदगांव में खैरागढ़ में स्थित है। यह मंदिर पूरी तरह सफेद मार्बल से बना हुआ है। मंदिर की दीवारों में और छत में सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। मंदिर के बाहर हाथी और शेर की मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। मंदिर के बाहर सुंदर गार्डन बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


डोंगेश्वर महादेव मंदिर राजनांदगांव - Dongeshwar Mahadev Temple Rajnandgaon

डोंगेश्वर महादेव मंदिर राजनंदगांव का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर आपको एक गुफा देखने के लिए मिलती है। इस गुफा में पानी बहता रहता है। गुफा में शिवलिंग विराजमान है। यह गुफा प्रकृति के बीच में स्थित है। यहां के प्राकृतिक नजारे बहुत ही मंत्रमुग्ध करने वाले रहते हैं। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। डोंगेश्वर महादेव मंदिर राजनांदगांव में गंडई तहसील के पास में स्थित है। आप यहां पर गाड़ी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आपको चारों तरफ पहाड़ियां और जंगल का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। 


मंडीप खोल गंडई राजनांदगांव - Mandeep Khol Gandai Rajnandgaon

मंडीप खोल राजनांदगांव का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह गंडई तहसील के पास स्थित है। यहां पर एक गुफा है। यह गुफा प्राकृतिक है और यह गुफा बहुत ही गहरी है। इस गुफा के अंदर शिवलिंग विराजमान हैं। यह गुफा साल में एक ही बार खुलती है। यह गुफा अक्षय तृतीया के समय खुलती है। इस गुफा में भगवान शिव के दर्शन करने के लिए बहुत सारे भक्त आते हैं। यहां पर प्राकृतिक जल स्त्रोत भी है। यहां पर बहुत सारे लोग शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। उस समय यहां पर बहुत भीड़-भाड़ रहती है। 

मंडीप खोल पर पूजा पाठ एवं भंडारा भी होता है। गुफा के अंदर जाने के लिए जो रास्ता है। वह बहुत ही सकरा रहता है और इस सकरे रास्ते से होते हुए गुफा के अंदर लोग शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए जाते हैं। गुफा में बहुत अंधेरा रहता है। यहां पर आपको टॉर्च लेकर ही जाना होता है। यह राजनांदगांव के पास स्थित एक दर्शनीय स्थल है। 


बूढ़ा सागर राजनांदगांव - Budha sagar Rajnandgaon

बूढ़ा सागर राजनांदगांव जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर झील है। यह झील राजनांदगांव के बीचों-बीच स्थित है। आप यहां पर बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं, क्योंकि यह मुख्य शहर में स्थित है और यहां पर पहुंचने के लिए आपको बस और ऑटो आराम से मिल जाएंगे। इस झील के किनारे बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं। यहां पर आपको पार्क भी देखने के लिए मिलते हैं। झील के किनारे बना हुआ शीतला माता मंदिर बहुत सुंदर है और यहां पर शिव भगवान जी की बहुत बड़ी मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको नेहरू पार्क भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत अच्छा है और आप यहां पर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। झील के किनारे आपको राधा कृष्ण मंदिर भी देखने के लिए मिल जाता है। यह राजनांदगांव में घूमने लायक जगह है। 


एनर्जी पार्क राजनांदगांव - Energy Park Rajnandgaon

एनर्जी पार्क राजनांदगांव में स्थित एक सुंदर स्थल है। यह एक खूबसूरत पार्क है। यह पार्क राजनांदगांव जिला के बीचो बीच स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको अक्षय ऊर्जा स्त्रोतों के बारे में जानकारी मिल जाती है। यहां पर बहुत सारे झूले हैं और हरियाली भरा माहौल है। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। यह पार्क राजनांदगांव में रानी तालाब के पास में स्थित है। यह राजनांदगांव घूमने की जगह है। 


पुष्प वाटिका राजनांदगांव - Pushpa Vatika Rajnandgaon

पुष्प वाटिका राजनांदगांव का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको सुंदर बगीचा देखने के लिए मिलता है। यहां पर टॉय ट्रेन भी है, जिसमें बच्चे लोग काफी इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर एक तालाब भी है, जिसमें बोटिंग का मजा लिया जा सकता है। यहां पर और भी बहुत सारी वस्तुएं हैं, जिनका आप मजा ले सकते हैं। यहां पर आप आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


मां पाताल भैरवी मंदिर राजनांदगांव - Maa Patal Bhairavi Temple Rajnandgaon

मां पाताल भैरवी मंदिर राजनांदगांव का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर मां पाताल भैरवी को समर्पित है। गर्भ गृह में मां पाताल भैरवी की बहुत ही विशाल प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जिसमें पाताल भैरवी मां रौद्र रूप में देखने के लिए मिलती है। इनकी प्रतिमा को देखकर सभी लोग अचंभित होते हैं। यहां पर आपको मंदिर के ऊपरी भाग में शिवलिंग देखने के लिए मिलता है। यह शिवलिंग 108 फीट का विशाल शिवलिंग है और यह बहुत ही आकर्षक लगता है। यहां पर आपको त्रिपुर सुंदरी माता के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। नवरात्रि के समय यहां पर मेला लगता है और यहां पर बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर बर्फानी आश्रम के रूप में भी जाना जाता है। यह मंदिर राजनांदगांव में जी ई रोड पर स्थित है। यह राजनांदगांव में घूमने वाली जगह है। 


सूखा नाला बैराज राजनांदगांव - Sukha Nala Barrage Rajnandgaon

सूखा नाला बैराज राजनांदगांव का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको एक सुंदर जलाशय देखने के लिए मिलता है। यह जलाशय चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यह जलाशय राजनांदगांव में डोंगरगढ़ तहसील में स्थित है। यह जलाशय राजनांदगांव से 37 किलोमीटर दूर है। 

सूखा नाला बैराज बहुत सुंदर है और आप यहां पर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह जलाशय सूखा नाला नदी पर बना हुआ है। बरसात के समय आप यहां आएंगे, तो आपको बहुत अच्छा लगेगा। क्योंकि यहां पर चारों तरफ हरियाली रहती है और बरसात के समय यहां पर पानी छोड़ा जाता है, जिस का दृश्य बहुत ही शानदार रहता है। इस जलाशय के पास में बहुत सारे मंदिर भी आपको देखने के लिए मिलते हैं और यहां पर गार्डन भी बना हुआ है, जहां पर आप पिकनिक मना सकते हैं। 


सिरपुर बांध राजनांदगांव - Sirpur Dam Rajnandgaon

सिरपुर बांध राजनांदगांव के पास स्थित एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह जलाशय महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के बॉर्डर एरिया में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर बरसात के समय आएंगे, तो आपको बहुत अच्छा लगेगा। क्योंकि बरसात के समय यहां पर ओवरफ्लो होने के कारण पानी छोड़ा जाता है। जिसका दृश्य बहुत अच्छा रहता है। आप यहां पर पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। यह राजनांदगांव के पास स्थित दर्शनीय स्थलों में से एक है। 


मोगरा बांध राजनांदगांव - Mogra Dam Rajnandgaon

मोगरा बांध राजनांदगांव का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह जलाशय पहाड़ों और जंगलों से घिरा हुआ है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह जलाशय राजनांदगांव में अंबागढ़ चौकी के पास स्थित है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यह राजनांदगांव के पास स्थित घूमने वाली एक मुख्य जगह है। 


राजनांदगांव जिले के प्रमुख आकर्षण स्थल एवं पिकनिक स्पॉट की सूची - List of major attractions and picnic spots of Rajnandgaon district

अंबेश्वरी मंदिर अंबागढ़ चौकी राजनांदगांव
साईं बाबा मंदिर राजनांदगांव
रानी सागर राजनांदगांव
मुक्तिबोध स्मारक त्रिवेणी संग्रहालय राजनांदगांव
मनगट्टा वन्य जीव रिजर्व पार्क 
कालीसरार डैम राजनांदगांव
खरखरा बांध राजनांदगांव
मटियामोती बांध राजनांदगांव
रूसे बांध राजनांदगांव
पैलिमेता बांध राजनांदगांव
बैताल रानी घाटी राजनांदगांव
मां वैष्णो देवी मंदिर छुईखदान राजनांदगांव
राउरकासा बांध राजनांदगांव
विंध्यवासिनी मंदिर कोपेनवगांव राजनांदगांव
प्रधानपद बैराज दल्ली खोली राजनांदगांव
नवागांव कनवार बांध राजनांदगांव
फन वैली वाटर पार्क डोंगरगढ़
कैलवेरी हिल डोंगरगढ़ 
भर्रीटोला जलाशय



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का