सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

कोरिया जिला के पर्यटन स्थल - Koriya tourist places

कोरिया जिला के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Koriya / कोरिया जिले के आसपास घूमने वाली जगह / कोरिया जिला आकर्षक स्थल


कोरिया छत्तीसगढ़ का एक मुख्य जिला है। कोरिया छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित है। कोरिया जिले का निर्माण छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश का जब विभाजन नहीं हुआ था। तब ही कोरिया जिले का निर्माण हो गया था। कोरिया जिले का निर्माण 25 मई 1998 को हुआ था। यह एक नए जिले के रूप में अस्तित्व में आया था। सन 2000 में छत्तीसगढ़ के विभाजन के बाद कोरिया जिला छत्तीसगढ़ का एक मुख्य जिला बन गया। कोरिया जिले की मुख्य नदी हसदेव नदी है।कोरिया जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं, कोरिया जिले में घूमने वाली कौन कौन सी है। 


कोरिया में घूमने की जगह
Koriya mein ghumne ki jagah



गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान - Guru Ghasidas National Park

गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान छत्तीसगढ़ का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह छत्तीसगढ़ में कोरिया जिले में स्थित है। यहां पर आपको विभिन्न तरह के पक्षी और पेड़ पौधों की प्रजातियां देखने के लिए मिल जाती है। यह अभ्यारण मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा पर स्थित है। जब छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश का विभाजन नहीं हुआ था। तब यह राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश के सीधी जिले के अंतर्गत आता था और इस राष्ट्रीय उद्यान को संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के नाम से जाना जाता था। मगर विभाजन के बाद, इस राष्ट्रीय उद्यान को गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान के नाम से जाना जाता है। 

गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान कोरिया जिले के बैकुंठपुर सोनहत मार्ग पर 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसका क्षेत्रफल 1440 वर्ग किलोमीटर है। इस पार्क के अंदर हसदेव नदी बहती है और पार्क के अंदर गोपद नदी का उद्गम हुआ है।  इस पार्क में विभिन्न तरह की वन औषधि प्राप्त की जाती है। यहां पर बाघ, तेंदुआ, गौर, चिंकारा, मैना आदि प्रकार के पक्षी पाए जाते हैं। 

गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान में आपको जंगली जानवर और पेड़ पौधों की बहुत सारी प्रजातियों के अलावा और भी बहुत सुंदर सुंदर जगह देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आपको बालम घाट देखने के लिए मिलता है, जिससे आपको पूरे गुरु घासीदास नेशनल पार्क का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आपको हसदेव नदी का उद्गम स्थल भी देखने के लिए मिलेगा, जो अकल्पनीय दृष्टि से सुंदर है। यह पार्क कोरिया में घूमने लायक जगह है। 


हसदेव नदी का उद्गम स्थल कोरिया - Hasdeo River Origin Koriya

हसदेव नदी का उद्गम स्थल कोरिया जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। हसदेव नदी का उद्गम गुरु घासीदास नेशनल पार्क में हुआ है। हसदेव नदी छत्तीसगढ़ की मुख्य नदी है। यह पर हसदेव नदी के दो उद्गम स्थल देखने के लिए मिलते हैं। हसदेव नदी के दो उद्गम स्थल है। 1 इसका भौगोलिक उद्गम स्थल है और एक इसका धार्मिक उद्गम स्थल है। भौगोलिक उद्गम स्थल गुरु घासीदास नेशनल पार्क के अंदर स्थित है और धार्मिक स्थल गुरु घासीदास नेशनल पार्क के पास में स्थित मेंड्रा कला नाम के गांव में स्थित है। आप यहां पर आकर दोनों ही स्थानों को घूम सकते हैं। दोनों ही स्थान सुंदर और शांति देने वाले हैं। 


महादेव घाट तर्रा - Mahadev Ghat Tarra

महादेव घाट कोरिया में स्थित एक सुंदर स्थल है। महादेव घाट तर्रा एक सुंदर पिकनिक स्थल है। यह जगह कोरिया में केव्राबहरा नाम के गांव में स्थित है। यह जगह जंगल में स्थित है। यहां पर आपको हसदेव नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। हसदेव नदी यहां पर चट्टानों के ऊपर से बहती हुई आगे बढ़ती है, जो बहुत अच्छी लगती है। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


गौरघाट झरना कोरिया - Gourghat Waterfall Koriya

गौरघाट जलप्रपात कोरिया जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह जलप्रपात घने जंगल के अंदर स्थित है। यह जलप्रपात हसदेव नदी पर बना हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां हसदेव नदी का पानी कुंड पर गिरता है। जलप्रपात में आप नहाने का मजा ले सकते हैं। यहां पर हर समय लोग आते रहते हैं। इस जलप्रपात में आप गाड़ी और कार से आराम से पहुंच सकते हैं। मगर जलप्रपात तक पहुंचने के लिए, जो रोड है। वह खराब है। इसलिए आपको थोड़ी दिक्कत हो सकती है। मगर जलप्रपात पर आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर चट्टानों के ऊपर से पानी बहता है।चट्टानों के ऊपर से जलप्रपात का दृश्य बहुत सुंदर लगता है। आसपास पूरा हरियाली भरा माहौल रहता है। यहां पर आप बरसात और ठंड के समय घूमने के लिए आ सकते हैं और पिकनिक मना सकते हैं। 


कुबेर घाट जलप्रपात - Kuber Ghat Falls

कुबेर घाट जलप्रपात हसदेव नदी पर बना हुआ एक और सुंदर जलप्रपात है। यह जलप्रपात कोरिया जिले में गौर घाट जलप्रपात के पास ही में स्थित है। यह जलप्रपात घने जंगलों के अंदर स्थित है। आप यहां पर भी घूमने के लिए आ सकते हैं। इस जलप्रपात के बारे में ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं है। इसलिए यहां पर बहुत कम भीड़ पड़ती है। आप यहां पर आ कर शांतिमय वातावरण का आनंद ले सकते हैं। 


अमृतधारा जलप्रपात कोरिया - Amritdhara Falls Koriya

अमृतधारा जलप्रपात कोरिया शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह हसदेव नदी पर बनने वाला एक सुंदर जलप्रपात है। यह जलप्रपात बैकुंठपुर और महेंद्रगढ़ रोड में स्थित है। यह जलप्रपात मुख्य सड़क से अंदर के तरफ जंगल में स्थित है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। यह जलप्रपात करीब 90 फीट ऊंचा है। जलप्रपात चट्टानों के ऊपर से नीचे बहता है और बहुत ही सुंदर लगता है। यह जलप्रपात बहुत ही अच्छी तरह से विकसित किया गया है। छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग की तरफ से यहां पर आपको बहुत सारी सुविधाएं मिल जाती है। 

अमृतधारा जलप्रपात के पास में छोटा सा गार्डन देखने के लिए मिल जाता है, जहां पर आप आकर पिकनिक मना सकते हैं और बच्चों के लिए प्ले एरिया भी यहां पर स्थित है। यहां पर जलपान ग्रह है, जहां पर आप खाना वगैरह खा सकते हैं। यहां पर बाथरूम की सुविधा भी उपलब्ध है। सुरक्षा की दृष्टि से भी इस जलप्रपात में रेलिंग लगाई गई है, ताकि कोई भी दुर्घटना ना हो। यहां पर आपको बंदर देखने के लिए मिल जाते हैं। यह जलप्रपात आप बरसात के समय और ठंड के समय घूमने के लिए जा सकते हैं। इसका नजारा बहुत सुंदर रहता है। यहां पार्किंग के लिए भी अच्छी जगह है और यहां पर पार्किंग चार्ज दिया जाता है। यहां पर शिव जी का मंदिर भी देखने के लिए मिल जाता है। आप यहां पर आ कर इंजॉय कर सकते हैं। 


श्री जगन्नाथ मंदिर चिरमिरी कोरिया - Shri Jagannath Temple Chirmiri Koriya

जगन्नाथ मंदिर कोरिया का एक प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर को पोड़ी जगन्नाथ मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि यह मंदिर पोड़ी गांव में स्थित है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर पुरी के जगन्नाथ मंदिर के समान है और बहुत ही सुंदर लगता है। इसकी वास्तुकला बहुत ही सुंदर है। यह मंदिर ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है और मंदिर तक पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है।

जगन्नाथ मंदिर के गर्भगृह में आपको भगवान जगन्नाथ, भगवान बलभद्र और माता सुभद्रा की मूर्ति के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिरों की छत में भी आपको सुंदर कारीगिरी देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको शिव भगवान जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है। गर्भ गृह में शिवलिंग विराजमान है। यह मंदिर कोरिया जिले के चिरमिरी क्षेत्र में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर महाशिवरात्रि के समय मेला भरता है, जिसमें आसपास के लोग घूमने के लिए आते हैं। 


पंचवटी पहाड़ शिव मंदिर कोरिया - Panchavati Pahad Shiva Temple Koriya

पंचवटी पहाड़ शिव मंदिर कोरिया जिले में चिरमिरी में स्थित है। यह मंदिर से भगवान शिवजी को समर्पित है। यह मंदिर ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर तक जाने के लिए सीढ़ियां हैं। मंदिर से आपको चारों तरफ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है, जो बहुत ही आकर्षक रहता है। इस मंदिर में आप घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको यहां पर बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलेंगे। आप यहां पर शांति से आकर बैठ सकते हैं और अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


जयधारी काली मां बैगा पारा मंदिर कोरिया - Jaidhari Kali Maa Baiga Para Temple Koriya

काली माता बैगा पारा मंदिर काली माता का एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर कोरिया जिले में चिरमिरी क्षेत्र में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर परिसर में और भी देवी देवताओं की प्रतिमाएं विराजमान है। यह मंदिर ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। इस मंदिर से चारों तरफ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर एक तालाब भी है, जिसमें कमल के बहुत सारे फूल लगे हुए हैं। आप यहां पर आकर यहां की प्राकृतिक सुंदरता को देख सकते हैं, जो बहुत ही आकर्षक रहती है। 


मैरिन फॉसिल पार्क कोरिया - Marin Fossil Park Koriya

मैरिन फॉसिल पार्क कोरिया जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह पार्क कोरिया जिले में महेंद्रगढ़ में स्थित है। यह महेंद्रगढ़ वन मंडल के अंतर्गत आता है। यह पार्क हसदेव नदी के किनारे बना हुआ है। इस पार्क में आपको फॉसिल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर एक सुंदर पार्क बना हुआ है। यह पार्क चारों तरफ से बाउंड्री वॉल से घिरा हुआ है। यहां पार्क के बाजू में ही हसदेव नदी बहती है, जिसका आपको सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर बहुत सारे फॉसिल भी देख सकते हैं। यहां पर 28 करोड़ साल पुराने मरीन फॉसिल देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर घूम सकते हैं। 


कर्मघोंघा जलप्रपात कोरिया - Karmagongha Falls Koriya

कर्मघोंघा जलप्रपात कोरिया जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह जलप्रपात घने जंगलों के अंदर स्थित है। यह जलप्रपात मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा पर स्थित है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। इस जलप्रपात में बहुत ऊंचाई से पानी नीचे गिरता है। यहां पर आपको मंदिर भी देखने के लिए मिलता है, जिसे कर्मघोंघेश्वर धाम कहते हैं। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। 

कर्मघोंघा झरना प्राकृतिक सुंदरता से घिरा हुआ है। झरना ऊंची चट्टानों से नीचे गिरता है। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत सुंदर लगते हैं। आप यहां पर बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। बरसात में इस झरने में पानी की मात्रा बहुत ज्यादा रहती है और चारों तरफ हरियाली रहती है। यह झरना महेंद्रगढ़ से 15 किलोमीटर दूर है। आप सलही गांव से होते हुए इस झरने में पहुंच सकते हैं। आप यहां पर आ कर पिकनिक मना सकते हैं। यह महेंद्रगढ़ के पास घूमने के लिए एक अच्छी जगह है। यह कोरिया में घूमने वाली सबसे अच्छी जगह है। 


शिव धारा जलप्रपात कोरिया - shiv dhara waterfall Koriya

शिव धारा जलप्रपात कोरिया जिले का एक सुंदर जलप्रपात है। यह जलप्रपात कोरिया में धरमपुर गांव के पास स्थित है। यह जलप्रपात मुख्य सड़क से कुछ दूरी पर जंगल के अंदर स्थित है। यहां पर आपको महादेव जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर शिवलिंग विराजमान है। झरने तक नीचे जाने के लिए आपको सीढ़ियां यहां पर मिल जाती है। यह झरना जंगल के अंदर स्थित है और यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। चारों तरफ पहाड़ियां और हरा भरा जंगल है, जो बहुत ही सुंदर है। आप यहां पर अपना अच्छा समय बिताने के लिए आ सकते हैं। यह कोरिया में घूमने लायक जगह है। 


श्री जटाशंकर धाम कोरिया - Shree Jatashankar Dham Koriya

श्री जटाशंकर धाम कोरिया शहर का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर घने जंगलों के अंदर गहरी घाटी में स्थित है। इस मंदिर में पहुंचने के लिए आपको सीढ़ियों से नीचे उतरना पड़ता है। यहां पर 700 से भी ज्यादा सीढ़ियां हैं। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे हैं और पहाड़ियां है। इस मंदिर तक पहुंचने के लिए रास्ता भी कच्चा है। 

आप यहां पर महाशिवरात्रि के समय और सावन सोमवार के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर एक छोटी सी गुफा है, जिसमें शंकर जी का शिवलिंग विराजमान है। यहां पर गुफा में 24 घंटे 12 महीने पानी गिरता रहता है और यहां पर एक कुंड है। आप यहां पर शंकर जी के दर्शन कर सकते हैं और उन्हें जल चढ़ा सकते हैं। यहां पर मेला भी लगता है, जिसमें आसपास के बहुत सारे लोग भगवान शंकर जी के दर्शन करने के लिए और मेले में इंजॉय करने के लिए आते हैं। यह मंदिर कोरिया जिले में बैरागी गांव के पास स्थित है। यह कोरिया में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


झुमका बांध कोरिया - Jhumka Dam Koriya

झुमका बांध कोरिया जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर आप आकर पिकनिक मना सकते हैं। झुमका बांध के किनारे बोट क्लब एवं फिश एक्वेरियम बना हुआ है। बोट क्लब में विभिन्न तरह के वाटर स्पोर्ट्स का मजा लिया जा सकता है। यहां पर आप बोट राइड एवं क्रूज राइड का मजा ले सकते हैं। इसके अलावा यहां पर और भी वॉटर स्पोर्ट्स है, जिनका आप लुफ्त उठा सकते हैं। यहां पर फिश एक्वेरियम भी है, जहां पर आपको तरह तरह की मछलियां देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर एक बहुत बड़ी मछली का स्टेचू भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर लगता है। यहां पर झुमका पार्क बना हुआ है, जहां पर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। झुमका बांध कोरिया जिले में बैकुंठपुर में स्थित है। आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। यह कोरिया में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


कोरिया पैलेस - Koriya Palace

कोरिया पैलेस कोरिया जिले का एक मुख्य स्थल है। यह एक प्राचीन स्थल है। यह प्राचीन महल है। यह महल कोरिया जिले में बैकुंठपुर में स्थित है। कोरिया पैलेस का निर्माण राजा रामानुज प्रताप सिंह देव जी ने करवाया था। यह महल बहुत सुंदर है। यह महल तीन मंजिला है।  इस महल की अच्छे से देख रेख नहीं की जा रही है। 


गेज बांध कोरिया - Gauge dam Koriya

गेज बांध कोरिया जिले का एक मुख्य स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय बरसात के समय बहुत सुंदर लगता है, क्योंकि बरसात के समय यह जलाशय पूरी तरह पानी से भर जाता है और इसका पानी ओवरफ्लो होता है, तो बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। आप बरसात के समय यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा समय आप बिता सकते हैं। यह जलाशय चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यह जलाशय गेज नदी पर बना हुआ है। यह जलाशय कोरिया जिले में बैकुंठपुर के पास स्थित है। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। यह कोरिया में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


रामदाह जलप्रपात कोरिया - Ramdah Falls Koriya

रामदाह जलप्रपात कोरिया जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह चारों तरफ से जंगल से घिरा हुआ है और यह सुंदर झरना है।  यहां पर ऊंची चट्टानों से पानी नीचे गिरता है। आप यहां पर नहाने का मजा भी ले सकते हैं। यहां पर रेत का किनारा है, जहां पर आपको बहुत मजा आएगा। यहां आने के लिए रोड इतनी अच्छी नहीं है। मगर यहां पहुंचकर झरने का दृश्य बहुत सुंदर है। यह झरना बानस नदी पर बना हुआ है। यह झरना भरतपुर गांव के पास में स्थित है। यह कोरिया में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


कोरिया जिले के प्रमुख आकर्षण स्थल एवं पिकनिक स्थल - Major attractions and picnic spots of Koriya district

शिव घाट बैकुंठपुर 
कोठीखर्रा कोरिया
देवगढ़ धाम कोरिया
केतकी झरिया देवी धाम कोरिया
समुंदई प्राचीन गुफा एवं जलप्रपात बैकुंठपुर कोरिया 
चिल्ड्रन पार्क एवं शिव जी की विशाल मूर्ति बैकुंठपुर कोरिया
ऑक्सीजन पार्क बैकुंठपुर कोरिया 
सजनखंड डैम कोरिया


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का