सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

देवास जिले के पर्यटन स्थल - Dewas tourist places

देवास जिले के दर्शनीय स्थल - Dewas tourism / Dewas picnic spot / Dewas famous places


देवास में घूमने की जगह - Best places to visit in dewas


चामुंडा माता मंदिर और तुलजा भवानी मंदिर देवास - Chamunda Mata Temple and Tulja Bhavani Temple Dewas

चामुंडा माता मंदिर और तुलजा भवानी मंदिर देवास जिले के एक प्रसिद्ध स्थल है। यह धार्मिक स्थल है। इस जगह को देवास टेकरी या चामुंडा टेकरी के नाम से भी जाना जाता है। यह ऊंची पहाड़ी पर स्थित दो मंदिर है। यह दोनों मंदिर चामुंडा माता और तुलाजा माता को समर्पित है। आप इन मंदिरों में सीढ़ियों के द्वारा और रोपवे के द्वारा पहुंच सकते हैं। सीढ़ियों के द्वारा यह सफर बहुत ही अद्भुत रहता है। आप मंदिर के शिखर से चारों तरफ का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। बरसात के समय यह जगह बहुत अच्छी लगती है। यहां पर आपको बहुत सारे अन्य देवी-देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर और भी मंदिर बने हुए हैं। यहां पर हनुमान जी का मंदिर बना हुआ है। भैरव जी का मंदिर बना हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आप आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता  सकते हैं। यह देवास में घूमने की सबसे अच्छी जगहों में से एक है। यहां पर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। बहुत सारे भक्त चामुंडा माता और तुलजा माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आपको एक छोटा सा कुंड देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर देवास के अलावा इंदौर और उज्जैन जिले में भी प्रसिद्ध है। इन जिलों से भी लोग इस मंदिर में घूमने के लिए आते हैं। 


मीठा तालाब देवास - Meetha Talab Dewas

मीठा तालाब देवास में घूमने की सबसे अच्छी जगह है। यह तालाब बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इस तालाब के पास में एक गार्डन भी बना हुआ है। यह गार्डन एमपी टूरिज्म की तरफ से प्रबंधित किया जाता है। यह गार्डन बहुत सुंदर है। यहां पर प्रवेश करने के लिए शुल्क लगता है। मीठा तालाब में आपको फव्वारा भी देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आप सुबह और शाम के समय अपना समय बिताने के लिए आ सकते हैं। शाम के समय यहां पर आपको सूर्यास्त का दृश्य देखने के लिए मिलेगा। मीठा तालाब के आसपास आपको बहुत सारे स्ट्रीट वेंडर भी देखने के लिए मिल जाते हैं, जो खाने के बहुत सारे सामान रखते हैं। आप यहां चाट और फुलकी का मजा ले सकते हैं। यह देवास में घूमने लायक जगह है। 


पवार छत्री देवास - Pawar Chhatri Dewas

पवार छत्री देवास शहर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह जगह देवास शहर में मीठा तालाब के पास में स्थित है। यहां पर आपको प्राचीन छतरियां देखने के लिए मिलती हैं। यह छत्री बहुत सुंदर लगती हैं। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आप जब भी देवास मीठा तालाब घूमने के लिए आते हैं, तो इन छत्री को देखने के लिए भी आ सकते हैं। 


केदार खो नागदा हिल्स देवास - Kedar Kho Nagda Hills Dewas

केदार खो देवास की एक प्राकृतिक जगह है। यहां पर आपको पहाड़ियां और बरसात के समय झरने देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर हनुमान जी और शंकर जी का मंदिर भी है। यह जगह देवास जिले में नागदा हिल्स में स्थित है। इस जगह में आने के लिए आपको जो सड़क मिलती है। वह बहुत ही खूबसूरत रहती है और सड़क के दोनों तरफ आपको पवन चक्की देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और आप प्रकृति के बहुत ज्यादा करीब पहुंच जाते हैं। यहां पर बहुत शांति है। 


सिद्धिविनायक गणेश मंदिर देवास - Siddhivinayak Ganesh Temple Dewas

सिद्धिविनायक गणेश मंदिर देवास जिले का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर गणेश जी को समर्पित है। इस मंदिर में गणेश जी की बहुत ही अद्भुत प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर देवास जिले के नागदा में स्थित है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यह मंदिर बहुत प्राचीन है और इस मंदिर की स्थापना पांडवों के द्वारा की गई है। आप यहां पर आकर गणेश जी के दर्शन कर सकते हैं। 


शिप्रा बांध देवास - Shipra Dam Dewas

शिप्रा बांध देवास जिले की एक सुंदर जगह है। यहां पर आपको एक सुंदर जलाशय देखने के लिए मिलता है। यह जलाशय शिप्रा नदी पर बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। बरसात के समय शिप्रा डैम पानी से पूरी तरह भर जाता है, जिससे इस के गेट खोले जाते हैं और डैम का खूबसूरत नजारा देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


पुष्पगिरी तीर्थ देवास -  Pushpagiri Tirtha Dewas

पुष्पगिरी तीर्थ देवास जिले के पास में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह जैन धार्मिक स्थल है। पुष्पगिरी जैन तीर्थ देवास से करीब 20 किलोमीटर दूर है। यह जैन तीर्थ देवास भोपाल राजमार्ग में स्थित है। यहां पर आपको पारसनाथ भगवान जी का मंदिर और पदम प्रभु जैन मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर लगते हैं और  मंदिर में आपको पारसनाथ भगवान और पदम प्रभु की मूर्ति देखने के लिए मिल जाती है। इन मंदिरों में बहुत सुंदर पत्थर पर कारीगरी की गई है। वह भी आप देख सकते हैं। आपको पहाड़ी के ऊपर पारसनाथ भगवान की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। पुष्पगिरी बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर आपको और भी दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर ठहरने के लिए भी व्यवस्था की गई है। यहां पर जैन लोग रुक सकते हैं। यहां पर बच्चों के खेलने के लिए झूले भी लगाए गए हैं और म्यूजियम भी है। यहां पर आकर आप अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। 


पिपलेश्वर मंदिर सोनकच्छ देवास - Pipleshwar Temple Sonkach Dewas

पिपलेश्वर मंदिर देवास शहर में सोनकच्छ में स्थित एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर काली सिंध नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है और प्राचीन है। इस मंदिर में बहुत सारे संतों ने तपस्या की है। यहां का वातावरण बहुत अच्छा है और काली सिंध नदी का नजारा भी बहुत सुंदर लगता है। आप यहां पर आकर बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। 


कोटेश्वर महादेव मंदिर सोनकच्छ देवास - Koteshwar Mahadev Temple Sonkach Dewas

कोटेश्वर महादेव मंदिर देवास जिले के सोनकच्छ में स्थित है। यह मंदिर देवास जिले का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में शिव भगवान जी का शिवलिंग विराजमान है। इस शिवलिंग के बारे में कहा जाता है, कि यह महाभारत काल से यहां पर विराजमान है। यह मंदिर कालीसिंध नदी के किनारे बना हुआ है, जिससे आप कालीसिंध नदी का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। यहां पर आपको धूमावती माता का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है। धूमावती माता लोगों की मनोकामनाएं पूरी करती हैं। यहां पर बना हुआ धूमावती माता का मंदिर मध्य प्रदेश का दूसरा मंदिर है। आप यहां पर आ कर मां धूमावती के दर्शन कर सकते हैं। 


कावड़िया पहाड़ी देवास - Kavadia Hill Dewas

कावड़िया पहाड़ी देवास जिले में स्थित एक अद्भुत स्थल है। यहां पर आपको हेक्सागोनल शेप की बहुत सारी चट्टाने देखने के लिए मिलती हैं। यह चटाने प्राकृतिक रूप से बनी हुई है और बहुत ही सुंदर लगती हैं। यह चटाने पूरी पहाड़ी पर फैली हुई है। यहां पर हनुमान जी की मूर्ति भी आपको देखने के लिए मिलती है। हनुमान जी की मूर्ति इन चट्टानों के बीच में रखी गई है, जो सुंदर लगती है। यहां पर इन चट्टानों की पूरी पहाड़ी बनी हुई है और आप यहां पर घूमने आ सकते हैं। इन चट्टानों के अलग-अलग शेप के कारण इस जगह को देखने के लिए बहुत सारे लोग आते हैं। आप इन चट्टानों को देखकर कहेंगे, कि यह तो चमत्कार है। कावड़िया हिल देवास जिले में पोटलागांव से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप यहां पर बाइक से आराम से पहुंच सकते हैं और इस जगह को देख सकते हैं। 


सीता माता मंदिर एवं झरना देवास - Sita Mata Temple and Waterfall Dewas

सीता माता का मंदिर एवं झरना देवास जिले में स्थित एक सुंदर स्थल है। यह स्थल प्राकृतिक है। यहां पर आपको बरसात के समय सुंदर झरना देखने के लिए मिलता है। यहां पर कुंड बना हुआ है, जिसे आप देख सकते हैं। यहां पर सीता माता का बहुत सुंदर मंदिर है। यह जगह प्रकृति की गोद में है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। सीता माता का मंदिर और झरना देवास जिले में पिपरी गांव में स्थित है। आप यहां पर अपनी गाड़ी से आसानी से पहुंच सकते हैं। 


श्री जटाशंकर महादेव मंदिर देवास - Shri Jatashankar Mahadev Temple Dewas

श्री जटाशंकर महादेव मंदिर देवास जिले का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर देवास जिले में बगली गांव में स्थित है। यहां पर जटाशंकर मंदिर प्राकृतिक परिवेश में स्थित है। यहां पर आपको भगवान शिव जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर एक जलकुंड भी है। बरसात के समय यहां पर आपको एक झरना देखने के लिए मिलता है। यहां पर गौमुख देखने के लिए मिलता है। गोमुख से 24 घंटे पानी बहता रहता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 


देवास जिले के अन्य प्रसिद्ध पर्यटन आकर्षण स्थल - Other Famous Tourist Attractions in Dewas District


चामुंडा माता मंदिर बरोठा ग्राम देवास
च्यवन ऋषि की तपोभूमि और चंद्रकेश्वर मंदिर देवास 
शंकरगढ़ हिल देवास
हरनवाड़ा हिल्स देवास
श्री कैलाश कुटी देवास
देवांचल धाम देवास


ओंकारेश्वर के पर्यटन स्थल

सीहोर के पर्यटन स्थल

उज्जैन जिले के पर्यटन स्थल

इंदौर के पर्यटन स्थल

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

बैतूल पर्यटन स्थल - Betul tourist place | Betul famous places

बैतूल दर्शनीय स्थल - Places to visit near Betul | Betul tourist spot | Betul city बैतूल जिले की जानकारी - Betul district information बैतूल मध्यप्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है। बैतूल जिला सतपुडा की पहाडियों से घिरा हुआ है। बैतूल जिला के मुलताई में ताप्ती नदी का उदगम हुआ है। ताप्ती मध्यप्रदेश की मुख्य नदी है। बैतूल जिले की सीमा छिंदवाड़ा, नागपुर, अमरावती, बुरहानपुर, खंडवा, हरदा, और होशंगाबाद की सीमाओं को छूती है। बैतूल जिला 10 विकास खंडों में बटा हुआ है। यह विकासखंड है - बैतूल, मुलताई, भैंसदेही, शाहपुर, अमला, प्रभातपट्टन, घोड़ाडोंगरी, चिचोली, भीमपुर, आठनेर, । बैतूल नर्मदापुरम संभाग के अंर्तगत आता है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से बैतूल की दूरी करीब 178 किलोमीटर है। बैतूल जिलें में घूमने के लिए बहुत सारी दर्शनीय जगह मौजूद है, जहां पर जाकर आप बहुत अच्छा समय बिता सकते है।  बैतूल में घूमने की जगहें Places to visit in Betul बालाजीपुरम - Balajipuram betul | Betul ka Balajipuram | Balajipuram temple betul बालाजीपुरम बैतूल जिले में स्थित दर्शनीय स्थल है।