सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सिद्धार्थनगर के पर्यटन स्थल - Siddharthnagar Tourist Places

सिद्धार्थनगर के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Siddharthnagar / सिद्धार्थनगर जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह 



सिद्धार्थनगर उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। सिद्धार्थनगर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 270 किलोमीटर दूर है। सिद्धार्थनगर उत्तर प्रदेश में भारत और नेपाल की सीमा पर स्थित है। सिद्धार्थनगर में प्रसिद्ध प्राचीन नगर कपिलवस्तु स्थित है, जहां पर भगवान गौतम बुद्ध जी का जन्म हुआ था और उन्होंने अपने जीवन के 29 वर्ष वहां पर बताए थे। कपिलवस्तु शाक्य गणराज्य की राजधानी थी। सिद्धार्थनगर का नाम गौतम बुद्ध के बचपन के नाम सिद्धार्थ पर रखा गया है। सिद्धार्थ नगर में राप्ती और दानो नदियां बहती है। सिद्धार्थनगर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - सिद्धार्थनगर में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


सिद्धार्थनगर मे घूमने वाली जगह - Siddharthnagar mein ghumne ki jagah


श्री शोहरत नाथ मंदिर सिद्धार्थनगर - Shri Shohrat Nath Temple Siddharthnagar

श्री शोहरत नाथ मंदिर सिद्धार्थनगर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर बना है। मंदिर की वास्तुकला देखने में बहुत ही जबरदस्त लगती है। मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग विराजमान है और मंडप में नंदी भगवान जी की प्रतिमा विराजमान है। यह मंदिर सिद्धार्थनगर में शोहरतगढ़ तहसील में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 

यहां पर सावन सोमवार और महाशिवरात्रि को बहुत भीड़ लगती है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यह मंदिर मुख्य सड़क में स्थित है। आप यहां आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आप को बहुत बड़ा शिवलिंग देखने के लिए मिलता है। यह शिवलिंग धातु का बना हुआ है और पत्थर की जलहरी में रखा हुआ है। यहां पर आकर बहुत शांति मिलती है। 


शोहरतगढ़ पैलेस सिद्धार्थनगर - Shohratgarh Palace Siddharthnagar

शोहरतगढ़ पैलेस सिद्धार्थनगर का एक सुंदर स्थल है। यहां पर आपको एक महल देखने के लिए मिलता है। यह महल देखने में बहुत ही जबरदस्त लगता है। यहां पर, जो यहां के राजा थे। उनकी बहुत सारी तस्वीर देखने के लिए मिलती है और यहां पर बहुत बड़ा गार्डन भी बना हुआ है, जो बहुत सुंदर लगता है। यह महल सिद्धार्थनगर में शोहरतगढ़ में स्थित है। आपको यहां पर खूब सारी तस्वीरें देखने के लिए मिलेंगे, जिससे आपको हिस्ट्री के बारे में जानकारी मिलेगी। आप यहां पर आ सकते हैं। 


श्री समय माता मंदिर सिद्धार्थनगर - Shri Samay Mata Mandir Siddharthnagar

श्री समय माता मंदिर सिद्धार्थनगर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर समय माता को समर्पित है। यह मंदिर सिद्धार्थनगर में शोहरतगढ़ में स्थित है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर में नवरात्रि में बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। यहां पर बहुत सारी रीति रिवाज भी किए जाते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। इस मंदिर के चारों तरफ आपको सुंदर खेत के दृश्य देखने के लिए मिलते हैं। 


बाणगंगा बैराज सिद्धार्थनगर - Banganga Barrage Siddharthnagar

बाणगंगा बैराज सिद्धार्थनगर का एक सुंदर स्थल है। यहां पर आपको एक जलाशय देखने के लिए मिलता है। यहां पर पार्क भी बना हुआ है। यह पार्क बहुत सुंदर है। बाणगंगा जलाशय बाणगंगा नदी पर बना हुआ है। यह नेपाल शहर की प्रमुख नदी है और यह नेपाल शहर से आती है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं और पार्क में बहुत ज्यादा इंजॉय कर सकते हैं। इस सुंदर जलाशय का दृश्य को देख सकते हैं। यह सिद्धार्थनगर में शोहरतगढ़ के पास में स्थित है। 


बुद्ध बिहार पार्क सिद्धार्थनगर - Buddha Bihar Park Siddharthnagar

बुद्ध विहार पार्क सिद्धार्थनगर का एक सुंदर पार्क है। यह पार्क सिद्धार्थनगर के मुख्यालय नौगढ़ में स्थित है। यह पार्क बहुत सुंदर है। पार्क के अंदर आपको बहुत सारे फूलों वाले पौधे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारे झूले भी हैं। इस पार्क का मेंटेन अच्छी तरह से किया जाता है। इस पार्क में आपको बुद्ध भगवान जी की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलती है। यह पार्क डीएम कार्यालय के पास में स्थित है। यह पार्क मुख्य सड़क में स्थित है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। 


राजकीय अलंकृत उद्यान सिद्धार्थ नगर - Rajkiya alankrit Udyan Siddharthnagar

राजकीय अलंकृत उद्यान पार्क सिद्धार्थ नगर का एक प्रमुख स्थल है। इस पार्क को सिद्धार्थ नगर गार्डन के नाम से भी जाना जाता है। यह एक सुंदर बगीचा है। यह बगीचा विभिन्न प्रकार के फूलों से भरा हुआ है। यहां पर आपको सुंदर-सुंदर फूल देखने के लिए मिलते हैं। यह बगीचा चारों तरफ से हरियाली से घिरा हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और आप अपना समय बहुत अच्छे से बिता सकते हैं। यह पार्क सिद्धार्थ नगर में नौगढ़ में स्थित है। 


प्राचीन बौद्ध स्थल कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर - Ancient Buddhist site Kapilvastu Siddharthnagar

प्राचीन बौद्ध स्थल कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह स्थल देश में और विदेशों में भी मशहूर है। यहां पर देशी और विदेशी दोनों ही पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। यह स्थल भगवान गौतम बुद्ध की जन्मस्थली थी और यहां पर गौतम बुद्ध ने अपने बचपन का और युवावस्था का समय बिताया था। यहां पर आप को बहुत बड़ा गार्डन देखने के लिए मिलता है, जहां पर मंदिर, स्तूप, विहार बनाए गए हैं। यह सभी बहुत सुंदर है। यहां पर प्रवेश के लिए एंट्री फीस लिया जाता है। यहां पर भारतीयों के लिए एंट्री फीस 25 रुपए होता है और अन्य विदेशी नागरिकों के लिए 300 रुपए होता है। इस जगह को पिपरहवा स्तूप के नाम से भी जाना जाता है। यह भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित स्थल है। 

यह जगह बौद्ध धर्म के लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। बौद्ध साहित्य में कपिलवस्तु का उल्लेख बुद्ध के गृह नगर तथा शाक्य गणराज्य की राजधानी के रूप में मिलता है। छठी शताब्दी ईसा पूर्व में बुद्ध के पिता शुद्धोधन शाक्य गणराज्य के प्रमुख थे। इस नगर में भगवान बुद्ध ने राजकुमार सिद्धार्थ के रूप में अपना बाल्यकाल व्यतीत किया था। इसलिए इस जिले को सिद्धार्थनगर जिले के नाम से भी जाना जाता है। उन्होंने 29 वर्ष की युवावस्था अपनी पत्नी तथा पुत्र तथा सभी राजसी वैभव को त्याग कर सत्य और मोक्ष की खोज में गृह त्याग किया, जिसे बुद्ध साहित्य में महाभिनिष्क्रमण कहा जाता है। 

बुद्ध के महापरिनिर्वाण के उपरांत उनकी अस्थि अवशेषों का एक भाग शाक्य ने प्राप्त कर कपिलवस्तु में एक स्तूप स्थापित किया। यहां से प्राप्त प्राचीनतम धातु मंजूषा पर ब्राह्मी लिपि के अभिलेख से ज्ञात होता है, कि इस स्थल पर शाक्यमुनि (भगवान बुद्ध) के अवशेष के ऊपर स्तूप का निर्माण किया गया था। कपिलवस्तु नगर से संबंधित अवशेष पिपरहवा के अतिरिक्त गनवारिया एवं सालारगढ़ में भी विद्यमान है। 

कपिलवस्तु से संबंधित स्थलों के उत्खनन से कुछ अवशेषों को कपिल वस्तु संग्रहालय में रखा गया है। इनमें मुद्रा एवं मुद्रांक, मिट्टी के खिलौने, चूड़ियां, मिट्टी के बर्तन, इत्यादि हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह नौगढ़ से करीब 18 किलोमीटर दूर है। 


गनवारिया सिद्धार्थनगर - Ganwaria Siddharthnagar

गनवारिया सिद्धार्थनगर में स्थित एक प्राचीन स्थल है। इस स्थल का उत्खनन 1971 से 1976 के मध्य हुआ है। गनवारिया में कपिलवस्तु नगर का रिहायशी क्षेत्र स्थित था। आपको यहां पर बहुत सारे घरों के और महलों के अवशेष देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको कुआं भी देखने के लिए मिलता है, जो प्राचीन है। यहां पर चार चरणों में विकास हुआ है। यहां पर आप आकर पक्की ईंटों से बने हुए घरों को देख सकते हैं।  यह जगह  पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित है। आप कपिलवस्तु घूमने के लिए आते हैं, तो आप इस स्थान में भी आ सकते हैं। 


भारत भारी मंदिर सिद्धार्थनगर - Bharat Bhari Mandir Siddharth Nagar

भारत भारी मंदिर सिद्धार्थनगर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर सिद्धार्थनगर में डुमरियागंज ब्लॉक में स्थित है। यहां पर आपको एक तालाब देखने के लिए मिलता है और तालाब के चारों तरफ बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं। यहां पर शिव भगवान जी का मंदिर बना हुआ है, जो बहुत सुंदर है और मंदिर में शिव भगवान जी की प्रतिमा विराजमान है। यहां पर हनुमान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। काली जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर तलाब का भी बहुत सुंदर दृश्य रहता है। यहां पर एक हफ्ते का बहुत बड़ा मेला लगता है, जिसमें दूर दूर से लोग शामिल होने के लिए आते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह सिद्धार्थनगर में घूमने लायक जगह है


मां वटवासिनी महाकाली मंदिर सिद्धार्थनगर - Maa Vatvasini Mahakali Temple Siddharthnagar

मां वटवासिनी महाकाली मंदिर सिद्धार्थ नगर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर डुमरियागंज ब्लॉक में गालापुर में स्थित है। इस मंदिर में आपको महाकाली जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर मंदिर नहीं बना है। यहां पर वटवृक्ष के नीचे खुले वातावरण में महाकाली विराजमान है। यहां पर बहुत सारे हाथियों की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इस मंदिर की मान्यता बहुत ज्यादा है। यहां पर बहुत सारे भक्तों मां के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर लोगों की इच्छाएं पूरी होती है। यहां पर नवरात्रि में बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। यह सिद्धार्थनगर की सबसे अच्छी जगह है। 


मां योगमाया मंदिर सिद्धार्थनगर - Maa Yog Maya Temple Siddharthnagar

मां योगमाया मंदिर सिद्धार्थनगर का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर नौगढ़ बंसी हाईवे सड़क से थोड़ा अंदर जाकर गांव में स्थित है। यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है और योग माया जी को समर्पित है। यहां पर बहुत सारे लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। कहा जाता है यहां पर माता के दर्शन करने से लोगों की मनोकामनाएं पूरी होती है। यह सिद्धार्थनगर में घूमने लायक जगह है


सरघाट मंदिर रुधौली सिद्धार्थनगर
बुद्धा थीम पार्क 
सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी
श्री बाबा पलटन नाथ मंदिर सेमरा सिद्धार्थनगर


देवरिया के पर्यटन स्थल
श्रावस्ती के पर्यटन स्थल
बहराइच के पर्यटन स्थल
महाराजगंज के पर्यटन स्थल


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।