सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बहराइच जिले के पर्यटन स्थल - Bahraich Tourist Places

बहराइच जिले के दर्शनीय स्थल - places to visit in Bahraich district / बहराइच जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह 



बहराइच उत्तर प्रदेश का प्रमुख जिला है। बहराइच उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 128 किलोमीटर दूर है। बहराइच उत्तर प्रदेश में, भारत और नेपाल की सीमा पर स्थित है। बहराइच में घाघरा नदी बहती है। बहराइच में गिरवा नदी के पास कर्तनिया घाट देखने के लिए मिलती है। बहराइच में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - बहराइच में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


बहराइच में घूमने वाली जगह - Bahraich mein ghumne ki jagah


श्री सिद्धनाथ महादेव मंदिर बहराइच - Shri Siddhanath Mahadev Temple Bahraich

श्री सिद्धनाथ महादेव मंदिर बहराइच का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। सिद्धनाथ मंदिर बहराइच जिले में घंटाघर के पास स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। इस मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में आपको राधा कृष्ण जी और हनुमान जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। सावन सोमवार में यहां पर बहुत भीड़ रहती है। बहुत सारे भक्त शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह बहराइच शहर का प्रसिद्ध मंदिर है। 


राजकीय इंदिरा उद्यान बहराइच - Rajkiy Indira Udyan Bahraich

राजकीय इंदिरा उद्यान बहराइच का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह उद्यान बहराइच शहर के बीचो बीच में स्थित है। यह उद्यान कलेक्टर ऑफिस के पास में बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलेगी और यहां पर कसरत करने वाले यंत्र भी लगाए गए हैं, जिनमें आराम से कसरत कर सकते हैं। यह जगह मॉर्निंग वॉक पर इवनिंग वॉक करने वालों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। यहां पर जॉगिंग ट्रैक बना हुआ है, जहां पर आराम से यह लोग घूम सकते हैं। यहां पर चारों तरफ फूल वाले पौधे और बहुत सारे पौधे लगाए गए हैं। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यह बहराइच की घूमने लायक जगह है। 


मरी माता मंदिर बहराइच - Mari Mata Mandir Bahraich

मरी माता मंदिर बहराइच का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहराइच लखनऊ हाईवे सड़क में सरयू नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर है और मरी माता को समर्पित है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर बहुत सारे लोग मरी माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आपको हनुमान जी और शंकर जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। हनुमान जी कि यहां पर बहुत बड़ी प्रतिमा है और बहुत सुंदर लगती है। यह प्रतिमा मंदिर के प्रवेश द्वार पर ही बनी हुई है और हनुमान जी अपना सीना चीरकर राम जी और सीता जी की प्रतिमा को दिखा रहे हैं। यह प्रतिमा बहुत ही आकर्षक लगती है। मंदिर के अंदर आपको शंकर जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। शंकर जी एक बड़े से कुंड में विराजमान है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 

इस मंदिर में राम जी, सीता जी और लक्ष्मण जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां पर लोगों की इच्छाएं पूरी होती है। इसलिए यहां पर लोगों का आना जाना लगा ही रहता है। यह बहराइच में सबसे अच्छी जगह है। 


राजा की कोठी बहराइच - Raja Ki Kothi Bahraich

राजा की कोठी बहराइच के नानापारा में स्थित एक मुख्य जगह है। यह एक प्राचीन महल है। इस महल को राजा शहादत अली ने बनवाया था। यह महल बहुत सुंदर है। मगर अभी इसकी हालत इतनी अच्छी नहीं है। अभी इसकी देखभाल नहीं की जा रही है, जिससे यह खराब अवस्था में है। आप इसको देख सकते हैं। 


ककहरा इको पर्यटन बहराइच - Kakhara Eco Tourism Bahraich

इको पर्यटन ककहरा बहराइच का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको हरे भरे पेड़ और खूबसूरत जंगल देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको बहुत सारी जानकारियां भी मिलती है। यहां पर आप आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आने के लिए सड़क माध्यम उपलब्ध है। यहां पर आपको जंगल और जंगली जीवो के बारे में बहुत सारी जानकारियां मिल जाती है। यहां पर पेड़ पौधों के बारे में भी आपको जानकारी दी जाती है। आप यहां फैमिली के साथ पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। यह बहराइच का पिकनिक स्पॉट है। 


कतर्नियाघाट वन्यजीव अभयारण्य बहराइच - Katarniaghat Wildlife Sanctuary Bahraich

कर्तनिया वन्यजीव अभयारण्य बहराइच का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह अभयारण्य नेपाल और भारत के बॉर्डर एरिया में स्थित है। यह जगह बहुत सुंदर है। चारों तरफ पेड़ पौधे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको गिरवा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है, जहां पर आप बोट राइड का मजा ले सकते हैं। गिरवा नदी में आपको मगरमच्छ घड़ियाल जैसे जानवर भी देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको आवासीय सुविधा भी मिलती है, जहां पर आप ठहर सकते हैं। यहां पर हट में रहने की सुविधा भी है। यहां पर ट्रीहाउस भी बनाया गया है। यह ट्री हाउस में रहने की सुविधा उपलब्ध है। इन सभी जगहों में रहने के चार्ज अलग अलग रहते हैं। 

कर्तनिया वन्यजीव अभयारण्य आप बोट राइड कर सकते हैं। बोट राइड का भी चार्ज लगता है। यहां पर आप जंगल में सफारी का मजा ले सकते हैं। उसका भी चार्ज लिया जाता है और गाइड का चार्ज अलग लिया जाता है। यहां पर आप बुकिंग ऑनलाइन माध्यम से कर सकते हैं। यहां पर आपको बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको लंगूर, हिरण, पाइथन, गंगेटिक डॉल्फिन, जंगली कुत्ते देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर वॉच टावर बना हुआ है, जहां से आप चढ़कर पूरे जंगल का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। यहां पर आपको जंगल और जंगली जीवो के बारे में जानकारी भी दी जाती है। यहां पर वन चेतना केंद्र है, जहां पर आपको सारी जानकारियां मिलती हैं। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह बहराइच का एक पिकनिक स्पॉट है। 


संघारण महाकाली मंदिर बहराइच - Sangharan Mahakali Temple Bahraich

संघारण महाकाली मंदिर बहराइच का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर में बहराइच में दीघही चौराहे के पास में स्थित है। इस मंदिर में काली माता की बहुत ही भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर बहुत सारे लोग काली माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर काली माता के अलावा और भी बहुत सारे देवी देवता विराजमान है। यहां पर शंकर जी और पार्वती जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। दुर्गा जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर नवरात्रि में बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। बहुत सारे भक्त यहां पर मां काली के दर्शन करने के लिए आते हैं। 


सतरूपा अष्टभुजा दुर्गा मंदिर नानापारा बहराइच 


महाराजगंज के पर्यटन स्थल
हरदोई के पर्यटन स्थल
अमरोहा के पर्यटन स्थल
बागपत के पर्यटन स्थल


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।