सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Nalanda लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नालंदा जिले के पर्यटन स्थल - Nalanda tourist places

नालंदा जिला के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Nalanda / नालंदा जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह नालंदा बिहार राज्य का एक प्रमुख जिला है। नालंदा बिहार की राजधानी पटना से करीब 60 किलोमीटर दूर है। नालंदा जिला में आपको प्राचीन विश्वविद्यालय देखने के लिए मिलता है। यह दुनिया में एकमात्र सबसे पहला विश्वविद्यालय है। अब इस विश्वविद्यालय के आपको खंडहर देखने के लिए मिलते हैं। यह  बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। नालंदा में महावीर स्वामी का जन्म हुआ है और उन्हें मोक्ष भी प्राप्त हुआ है। नालंदा में बहुत ही बहुत सारी आश्चर्यजनक जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं। नालंदा जिले का मुख्यालय बिहार शरीफ है। नालंदा जिले में पंचाने नदी बहती है। पंचाने नदी नालंदा जिले के बीचो-बीच से बहती है। नालंदा जिले में बुद्ध भगवान जी ने अपना उपदेश दिया था। बुद्ध भगवान जी यहां पर अपना बहुत सारा समय बिताया था। यहां पर राजा बिंबिसार का भी शासन हुआ करता था। नालंदा जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं, कि - नालंदा जिले में घूमने लायक कौन-कौन सी जगह है। जहां पर आप जाकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं।

राजगीर के पर्यटन स्थल - Rajgir tourist places

राजगीर के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Rajgir /  राजगीर के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह राजगीर में घूमने की जगह - Rajgir mein ghumne ki jagah नेचर सफारी पार्क राजगीर - Nature Safari Park Rajgir नेचर सफारी पार्क राजगीर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह नालंदा वन प्रभाग के अंतर्गत आता है। यहां पर आपको बहुत सारी जगह देखने के लिए मिलती है। यहां पर आप जिपलाइन, ग्लास ब्रिज, सस्पेंशन ब्रिज, ग्लास स्काईवॉक, स्काई बाइकिंग, रफल शूटिंग, तीरंदाजी इन सभी गतिविधियां का मजा ले सकते हैं। यह जगह बहुत सुंदर है और पहाड़ों से घिरी हुई है। यहां पर आपको चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिलते हैं, जो प्राकृतिक वातावरण में रखे गए हैं।  इस पार्क में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर मात्र 50 रुपए लिए लिए जाते हैं। यहां पर आप बस के द्वारा पूरी सफारी को इंजॉय कर सकते हैं। अगर आप यहां पर कैंप लगाकर रहना चाहते हैं, तो उसकी भी यहां पर व्यवस्था है। यहां पर वन विभाग के द्वारा हट बनाया गया है, जहां पर आप रह सकते हैं और यहां पर रहने के लिए कुछ चार्ज लगता है। य