सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Temple लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

इस्कॉन मंदिर इलाहाबाद - ISKCON Temple Allahabad / Allahabad Tourism

इस्कॉन मंदिर इलाहाबाद (प्रयागराज) - ISKCON mandir Allahabad (prayagraj) / इलाहाबाद यात्रा   इस्कॉन मंदिर इलाहाबाद का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर श्री कृष्ण जी और राधा रानी को समर्पित है। इस्कॉन मंदिर इलाहाबाद शहर में यमुना नदी के किनारे बलुआ घाट के पास में स्थित है। इस मंदिर में आप बहुत ही आसानी से पहुंच सकते हैं। आप इस मंदिर में पैदल भी आ सकते हैं और  ऑटो से भी आ सकते हैं। इस मंदिर में आपको श्री कृष्ण जी की और राधा रानी जी की बहुत ही आकर्षक प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के बाहर आपको गरुड़ भगवान जी के दर्शन करने मिल जाते हैं। मंदिर में बगीचा भी है, जिसमें सुंदर-सुंदर पुष्प खिले रहते हैं, जिनको देखकर मन खुश हो जाता है। मंदिर में गौशाला भी देखने के लिए मिल जाती है, जहां पर गायों की सेवा की जाती है। मंदिर में आपको एक छोटी सी शॉप भी देखने के लिए मिल जाती है, जहां से आप धार्मिक चीजें खरीद सकते हैं। मंदिर में आकर बहुत ही अच्छा लगता है।     हम लोग इस्कॉन मंदिर में पैदल ही आए थे। हम लोग ओल्ड नैनी ब्रिज से घूमते हुए आए थे। हम लोग को रास्ते में ओम नमः शिवाय मंदिर भी देखन

श्रीलंका मंदिर कौशांबी - Sri Lanka Temple Kaushambi / Kaushambi tourism

श्रीलंका मंदिर कौशांबी - Sri Lanka Temple Kaushambi / धम्म मित्र बुद्ध विहार कौशांबी - Dhamma Mitra Buddha Vihar Kaushambi   श्रीलंका मंदिर कौशांबी में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर श्रीलंका देश की मदद से कौशांबी में बनाया गया है। इसलिए इस मंदिर को श्रीलंका मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह मंदिर बहुत ही खूबसूरती से बना हुआ है। हम लोग मंदिर के अंदर नहीं जा पाए थे, इसलिए हम लोगों ने मंदिर को बाहर से ही देखा। बाहर से ही मंदिर की बनावट बहुत ही खूबसूरत है।    हम लोग कौशांबी में जितने भी मंदिर घूमे हैं या जितने भी प्राचीन स्थल घूमे हैं। वह सभी पैदल ही घूमे हैं। हम लोग अशोक स्तंभ स्थल और गोष्ट राम बिहार स्थल में पैदल घूम कर कौशांबी की तरफ आ गए। कौशांबी थाने से श्रीलंका टेंपल करीब 500 से 600 मीटर दूर होगा। हम लोग पैदल ही श्रीलंका टेंपल की तरफ चल दिए। हम लोग टेंपल पहुंच गए। टेंपल बाहर से बंद था। हम लोगों ने टेंपल के भीतर बैठे कर्मचारियों से पूछा कि टेंपल में हम लोग दर्शन कर सकते हैं, तो उन्होंने बोला कि अभी कोविड-19 कारण आप लोग मंदिर के अंदर नहीं आ सकते हैं। मंदिर को बाहर से ही देख सक

54 feet high Hanuman ji temple Jhusi Allahabad - हनुमान मंदिर इलाहाबाद

54 फीट ऊंचे हनुमान जी का मंदिर झूसी इलाहाबाद (प्रयागराज) - 54 feet high Hanuman ji temple Jhusi Allahabad (Prayagraj) / इलाहाबाद यात्रा / Allahabad Tourism   54 फीट ऊंचे हनुमान जी का मंदिर इलाहाबाद का एक प्रसिद्ध मंदिर है। आप इलाहाबाद के झूसी एरिया में घूमने के लिए आते हैं, तो आपको यहां पर बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। इन मंदिरों में एक मंदिर और प्रसिद्ध है, जो हनुमान जी का मंदिर है। इस मंदिर में आपको हनुमान जी की 54 फीट ऊंची प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको 111 छोटे-छोटे शिवलिंग देखने के लिए मिलते हैं। यहां एक नर्वदेश्वर शिवलिंग स्थित है। नर्वदेश्वर शिवलिंग का मतलब है, कि यह शिवलिंग नर्मदा नदी से लाया गया होगा, क्योंकि नर्मदा नदी एक ऐसी नदी है, जिसके हर पत्थर में शिवलिंग है। इसलिए इसे नर्वदेश्वर शिवलिंग कहते हैं। यहां पर दुर्गा जी की विराट प्रतिमा आपको देखने के लिए मिल जाती है। माता सीता और राम जी की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलती है। राधा और कृष्ण की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। श्री लक्ष्मी नारायण जी की भी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है और शंकर जी पार्वती

प्राचीन श्री हनुमान गुफा इलाहाबाद - Hanuman Mandir Allahabad

हनुमान मंदिर इलाहाबाद - प्राचीन श्री हनुमान गुफा इलाहाबाद   Hanuman Temple Allahabad - Ancient Sri Hanuman Cave Allahabad   प्राचीन श्री हनुमान गुफा इलाहाबाद में प्रसिद्ध मंदिर है और यह मंदिर इलाहाबाद में गंगा नदी के दूसरी तरफ झूसी में स्थित है।  यहां पर आपको एक गुफा देखने के लिए मिलती है। आपको यहां पर हनुमान जी के दर्शन करने मिलते हैं। यह मंदिर एक ऊंचे टीले पर स्थित है और टीले पर चढ़ने के लिए सीढ़ियां चढ़ने पड़ती है, और जो यहां पर सीढ़ियां है। वह इतनी पुरानी है और इतनी पतली है, कि चढ़ने में बहुत डर लगता है और बिलकुल खड़ी सीढ़ियां है, तो डर लगेगा ही।  प्राचीन श्री हनुमान गुफा मंदिर पहुंचकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आप मंदिर में प्रवेश करते हैं, तो आपको एक बड़ा सा आंगन देखने के लिए मिलता है और इसके साथ ही यहां पर एक चबूतरे में शिवलिंग भी विराजमान है। आप उनके दर्शन कर सकते हैं। यहां पर एक संत की मूर्ति रखी रही। आप उनके भी दर्शन कर सकते हैं और आगे साइड छोटा सा गार्डन बना हुआ है, जहां पर फूलों के प्लांट लगे हुए हैं। यहां पर आपको एक कुआं भी देखने के लिए मिलता है।  आप हनुमान जी के दर्शन के लिए सीढ़

Hanuman Mandir Civil Lines Allahabad - हनुमान मंदिर सिविल लाइंस इलाहाबाद

हनुमत  निकेतन मंदिर इलाहाबाद (प्रयागराज ) -  हनुमान मंदिर सिविल लाइंस इलाहाबाद ( प्रयागराज ) Hanumat Niketan Temple Allahabad (Prayagraj )  - Hanuman Mandir Allahabad civil lines हनुमत निकेतन मंदिर  इलाहाबाद में प्रसिद्ध मंदिर हैं। यह मंदिर इलाहाबाद के सिविल लाइन इलाके में स्थित है। इसलिए इस मंदिर को सिविल लाइन के हनुमान मंदिर के नाम से भी जाना जाता है और इसे हनुमत निकेतन मंदिर के  नाम  में जाना जाता है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। आपको इस मंदिर में हनुमान जी की बहुत ही भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। हनुमत निकेतन मंदिर   का प्रवेश द्वार बहुत ही भव्य है। मंदिर के प्रवेश द्वार के ऊपर आपको रथ का डिजाइन देखने के लिए मिल जाएगा, जो बहुत ही आकर्षक लगता है। यह रथ भीष्म पितामह जी का है। आप प्रवेश द्वार से अंदर जाएंगे, तो आपको यहां पर बहुत बड़ा ग्राउंड देखने के लिए मिलेगा। ग्राउंड के एक साइड में आपको प्रसाद की दुकान देखने के लिए मिलेगी, जहां से आप हनुमान जी को प्रसाद चढ़ाने के लिए खरीद सकते हैं। आपको दूसरे साइट एक मंदिर देखने मिलेगा और मुख्य मंदिर आपको सामने देखने के लिए मिलेगा। मुख्

बडे हनुमान मंदिर इलाहाबाद - Bade Hanuman Mandir Allahabad

लेटे हुए हनुमान जी का मंदिर  इलाहाबाद  या श्री बडे हनुमान जी इलाहाबाद   - L ete hue hanuman ji ka mandir  Allahabad or  Bade hanuman ji Allahabad लेटे हुए हनुमान जी का मंदिर इलाहाबाद में बहुत प्रसिद्ध है। श्री बड़े हनुमान जी मंदिर संगम के पास ही में स्थित है।  श्री बड़े हनुमान जी मंदिर  हनुमान जी को समर्पित है। आपने हनुमान जी के बहुत सारे मंदिर देखे होंगे, जहां पर आप को हनुमान जी की प्रतिमा खड़ी हुई अवस्था में देखने के लिए मिली होगी। मगर इस मंदिर में आपको हनुमान जी की प्रतिमा लेटी हुई अवस्था में देखने के लिए मिलती है। यहां पर हनुमान जी की मूर्ति लेटी हुई अवस्था में विराजमान है और  श्री बड़े हनुमान जी मंदिर  में इस मूर्ति को देखने के लिए बहुत भीड़ लगती है। दूर-दूर से लोग जो भी संगम स्नान के लिए आते हैं। वह  श्री बड़े हनुमान जी मंदिर  में आकर हनुमान जी की मूर्ति के दर्शन जरूर करते हैं।  इस मंदिर को  श्री  बड़े हनुमान जी के मंदिर के नाम से भी जाना जाता है और यह बहुत प्रसिद्ध मंदिर है। यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। हम लोगों को भी यहां पर दर्शन करने नहीं मिले थे। हम लोग यहां पर दो बार दर

Veni Madhav Temple Allahabad - वेणी माधव मंदिर इलाहाबाद

Veni Madhav Mandir Allahabad ( Prayagraj ) - वेणी माधव मंदिर इलाहाबाद ( प्रयागराज ) श्री  वेणी माधव मंदिर इलाहाबाद का एक प्रसिद्ध मंदिर है।  इलाहाबाद का वेणी माधव मंदिर श्री कृष्ण जी को समर्पित है। श्री कृष्ण जी को इलाहाबाद शहर का नगर देवता कहा जाता है। वेणी माधव मंदिर इलाहाबाद में दारागंज में स्थित है। यह मंदिर दारागंज की तंग गली में स्थित है। मंदिर में लोगों की भीड़ हमेशा लगी रहती है और मंदिर में भजन-कीर्तन हमेशा चलते रहते हैं।  श्री वेणी माधव मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि सृष्टिकर्ता ब्रह्मा ने सृष्टि कार्य पूर्ण होने के बाद प्रयाग में प्रथम यज्ञ किया था। पुराणों के अनुसार प्रयाग में सभी तीर्थों का उद्गम है। इस पावन नगरी की निर्माता भगवान श्री विष्णु स्वयं है और वह यहां भगवान श्री वेणी माधव के रूप में विराजमान है। भगवान के प्रयाग में 12 स्वरूप विद्यमान है, जिन्हें द्वादश माधव कहा जाता है। जिनमें से भगवान श्री वेणी माधव प्रयाग के प्रधान देवता माने गए हैं, क्योंकि इनका निवास गंगा यमुना और सरस्वती नदियों के संगम से बने त्रिवेणी क्षेत्र के मध्य में स्थित है। संगम स्नान के बाद भग

Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद

Mankameshwar mandir allahabad or M ankameshwar mandir Prayagraj मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद या मनकामेश्वर मंदिर प्रयागराज श्री मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। श्री मनकामेश्वर मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है और यह मंदिर यमुना नदी के किनारे पर बना हुआ है। इस मंदिर में आकर बहुत शांति मिलती है। यहां पर आपको हमेशा भीड़ देखने के लिए मिल जाएगी। श्री मनकामेश्वर मंदिर परिसर में आपको और भी मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। श्री मनकामेश्वर मंदिर परिसर में मुख्य मंदिर श्री मनकामेश्वर का मंदिर बना हुआ है और यहां पर ऋण मुक्तेश्वर मंदिर भी बना हुआ है। यहां पर एक पीपल का पेड़ है, उसके नीचे भी शिवलिंग विराजमान है। मंदिर से आपको यमुना नदी का बहुत ही विहंगम दृश्य देखने के लिए मिलता है।  मनकामेश्वर मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि मनकामेश्वर मंदिर श्रद्धालुओं की मनोकामना को पूर्ण करने के लिए प्रसिद्ध है। सच्चे मन से यहां पर दर्शन एवं पूजन करने से मनोकामना की पूर्ति होती है। मंदिर के दक्षिणी भाग से सीडी नुमा मार्ग नीचे की ओर यमुना नदी में जाता है। यहीं से यमुना आगे चलकर उत्तर दिशा म

भारद्वाज आश्रम इलाहाबाद - Bharadwaj Ashram Allahabad

भारद्वाज आश्रम इलाहाबाद  Bharadwaj Ashram Allahabad भारद्वाज आश्रम  प्रयागराज शहर की एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां मुख्य मंदिर  भारद्वाज  मुनि का है। यहां पर और भी मंदिर बने हुए हैं। मंदिर परिसर बहुत बड़ा है। यहां पर आपको श्री भरत कुंड देखने के लिए मिलता है, जहां पर भगवान राम ने यज्ञ किया था। मंदिर परिसर में आपको सीता कुंड और पार्वती कुंड भी देखने के लिए मिलता है। मंदिर परिसर में आपको माता संतोषी का प्राचीन मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर  भारद्वाज  ऋषि के गुरु का भी मंदिर आपको देखने के लिए भी मिलता है। यहां पर एक प्राचीन  कुआं भी देख सकते हैं।  भारद्वाज  आश्रम के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर श्री राम जी ने अपने वनवास काल के दौरान कुछ समय यहां पर बिताया था। जब श्री राम जी ने गंगा नदी पार किया था, तो उसके बाद भरद्वाज ऋषि ने उन्हें आश्रय दिया था और यहां पर वह कुछ समय तक रहे थे। यहां पर आपको श्री राम जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है।  भारद्वाज ऋषि का परिचय महर्षि भारद्वाज आश्रम वैदिक काल में सबसे प्राचीन और पूज्यतम ऋषियों में से