निदान फॉल का मनोरम दृश्य - Nidan fall, Jabalpur

निदान जलप्रपात जबलपुरNidan Falls Jabalpur


निदान जलप्रपात जबलपुर (Nidan Falls Jabalpur) का एक खूबसूरत झरना है, जो कटंगी में स्थित है। आप जबलपुर से कटंगी जाते है, तो आपको यह झरना देखने मिलता है। यहां झरना चारों तरफ से खूबसूरत पहाडियों से घिरा हुआ है। 

निदान फॉल का मनोरम दृश्य -  Nidan fall, Jabalpur

निदान जलप्रपात की खूबसूरती 

निदान जलप्रपात कहां स्थित है
Where is the Nidan waterfall


निदान जलप्रपात जबलपुर (Nidan Falls Jabalpur) जिले के कंटगी में स्थित है। जबलपुर से दमोह हाईवे रोड पर निदान जलप्रपात (Nidan Fallsस्थित है। कटंगी जबलपुर (Katangi Jabalpur) से 50 से 55 किमी दूर होगा। आप इस झरने में अपनी गाड़ी से जा सकते हैं। आपको यह पर अपनी गाड़ी से ही जाना पड़ेगा, क्योकि यह झरना जंगल के बीच स्थित है। अगर आप पैदल चलना चाहते है, तो जबलपुर दमोह हाईवे रोड (Jabalpur Damoh Highway Roadपर बसें भी चलती हैं। आप बसों से मेन रोड तक आ सकते हैं और मेन रोड से आपको दो से ढाई किलोमीटर पैदल चलना पड़ेगा। इस झरने तक पहुंचने के लिए। आप चाहे तो इस तरह कभी कर सकते हैं।

यह झरना आपको दमोह जबलपुर हाईवे रोड (Jabalpur Damoh Highway Road) से ही दिखने लगता है। झरने तक पहुॅचने के लिए आपको कटंगी से आगे आना पड़ता है, आपको रोड के बाजू में एक मस्जिद मिलती है। मस्जिद के बाजू से रास्ता गया है झरनें के लिए। आप अपनी गाड़ी से झरनें की तरफ जा सकते हैं। आपको इस रास्तें में एक नदी मिलती है। उस नदी पर झरने का ही पानी आता है। आपको नदी पार करना पडता है, वैसे नदी पर से गाडी चली जाती है। नदी के पास आपको थोडी बदबु आयेगी। नदी में पानी ज्यादा है, तो आप ना जाए और नदी में पानी कम है, तो आप जा सकते हैं। आप झरनें की तरफ आगे बढते है, तो आपको यहां पर खूबसूरत और उचे उचें पहाड देखने मिलेगें। आप अगर ग्रुप में रहेंगे, तो अच्छा रहेगा, क्योंकि यह जो झरना है। यह थोड़ा सुनसान है। वैसे जब झरनें में पानी रहता है, तब यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। बहुत ज्यादा लोग आते हैं। आप यहां पर सुबह जल्दी आते है, तो यहां पर सुनसान रहता है, जैसे जैसे दिन बढता है भीड बढनें लगती है। 

निदान फॉल का मनोरम दृश्य -  Nidan fall, Jabalpur

निदान जलप्रपात 


निदान जलप्रपात (Nidan Falls) से करीब 1 किलोमीटर दूर आपकी गाडी खड़ी होती है और आपको झरनें तक पैदल चलकर आना होता है। बरसात के समय पर यह जगह जन्नत के समान लगती है, क्योंकि आपको चारों तरफ हरे भरे पेड़, ऊंचे पहाड, कलकल करती नदी और शानदार झरनें देखनें मिलते है, जो एक अविस्मरणीय अनुभव होता है। 

आपको निदान झरने (Nidan Falls) तक पैदल चलना पड़ता है, इसलिए आप जूते पहन कर आए, वो आपके लिए बेहतर होगा। अगर आप बरसात के समय यहां पर आते है, तो यहां पर जो चट्टाने रहती हैं। वह फिसलन भरी हो सकती है। जिनमें चलनें में आपको परेशानी हो सकती है, जिसमें आप फिसल कर गिर सकते हैं। तो आपको यहां पर ध्यान से चलने की आवश्यकता है। यहां पर जो रास्ता है  वह बहुत ही उबड़ खाबड़ है, इसलिए आप यहां पर सावधानी पूर्वक कदम बढायें अगर आप यहां पर आते है, तो बूढ़े और बच्चे को साथ न लायें। यह मेरी सलाह है, क्योंकि वह इस जगह पर नहीं चल सकेंगें। 

इस जगह पर एक नहीं दो झरने है और दोनों अलग-अलग दिशा में है। आप अपनी गाडी पार्क करते है, तो आपको दोनों झरनें देखने मिलते है। दोनों झरनों तक पहुंचने के लिए आपको 1 किलोमीटर ट्रैक करना पड़ता है, मतलब 1 किलोमीटर तक पैदल चलना होता है। आप झरना पहुंचते हैं, तो झरना बहुत खूबसूरत है। ऊंची पहाड़ियां के ऊपर से गिरता हुआ पानी एक कुंड में गिरता है, जो देखने में बहुत अच्छा लगता है। 

हम लोग को इस जगह पर जाकर बहुत अच्छा लगा। हम लोग जिस झरनें मे गए थे। उस झरने का जो कुंड है, वह बहुत गहरा है और यहां पर आप कुंड में नहा नहीं सकते है। यहां पर नहानें की मनाही है। पर्किग वाला आपको यह जरूर बोलेगा और आप भी इस बात का ध्यान दें। झरनें तक पहुॅचने का जो रास्ता है, वह जंगल वाला है। यहां पर जंगली जानवर तो नहीं मगर छोटे-मोटे जहरीले जानवर हो सकते है। आप यहां पर आये तो जूते पहनकर आएंगे।

यहां पर दूसरी तरफ जो झरना है, उस तरफ का कुंड छोटा है और उस तरफ आप नहाने का आनंद भी उठा सकते हैं, तो आप चाहें तो वहां जा सकते हैं।  यह जानकारी आप पार्किंग वालों से ले सकते हैं। वह आपको दोनों झरनें की  जानकारी दे सकते हैं, कि आप कहां नहा सकते हैं और कहां कुंड गहरा है।

आप यहां पर अपना पूरा 1 दिन बिता सकते हैं। आप यहां पर आते हैं, तो अपने साथ कुछ खाने पीने का जरूर लेकर आइएगा, क्योंकि यहां पर किसी भी तरह के खाने पीने की दुकान नहीं है। यहां का पूरा एरिया जंगल का है, तो आप यहां पर खाना जरूर साथ लायें। आप जो भी अपने साथ लाते हैं, तो वहां कचरा भी अपने साथ लेकर जाएं। इसके अलावा यहां पर किसी भी तरह की लेट्रिन बाथरूम की सुविधा नहीं है, तो आपको इस चीज का भी ख्याल रखना पड़ेगा। यह पूरा जंगल एरिया है।

बरसात के समय में जो दमोह जबलपुर हाईवे रोड (Jabalpur Damoh Highway Road) से आपको यह झरना दिखाई देने लगता है। यहां पर आकर इस खूबसूरत वादियों का आनंद ले सकते हैं हम लोग भी यहां पर गए थे। यहां पर आप जब अपनी गाड़ी खड़ी करते हैं, तो उसका 20 रू चार्ज लिया जाता है और गाड़ी खड़ी करने के बाद पैदल पैदल जाना होता है। यहां सुनसान हो तो आप अंदर ना जाए मेरे हिसाब से तो यहां जब भी आते हैं, ग्रुप के साथ आए तो आपको बहुत मजा आएगा।

यह काफी खूबसूरत जगह है। आप यहां पर अपनी फैमिली और अपने दोस्तों के साथ जाकर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो, तो इस लेख को जरूर शेयर करें और अपने विचार हमसे साझा करें। 
आपने अपना समय दिया उसके लिए धन्यवाद


Waterfalls Near Jabalpur - जबलपुर के आसपास झरने

Waterfalls Near Jabalpur City

जबलपुर जिला के आसपास के झरने


जबलपुर मध्य प्रदेश राज्य का एक जिला है। जबलपुर को संस्कारधानी के नाम से भी जाना जाता है। जबलपुर में बहुत सारे दर्शनीय स्थल है। आज के लेख में मैं आपको जबलपुर जिले के झरनों के बारे में बताऊंगी। जबलपुर जिले में बहुत सारे झरने हैं। जहां पर आप जाकर घूम सकते हैं और अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। चलिए जानते हैं जबलपुर जिले के झरनों के बारे में

Waterfalls Near Jabalpur - जबलपुर के आसपास  झरने

Bagdari Falls 


 जबलपुर के आसपास  झरने (Waterfalls Near Jabalpur)

1. धुआंधार जलप्रपात - Dhuandhar Falls (Bhedaghat)

धुआंधार जलप्रपात (Dhuandhar Fallsजबलपुर में स्थित है। यह जलप्रपात पूरे देश में प्रसिद्ध है। यह जबलपुर शहर की शान है। यह पर आप अपना अच्छा टाइम बिता सकते है यह जलप्रपात जबलपुर मुख्य शहर से लगभग 25 किमी की दूरी पर भेडाघाट में स्थित है। यह झरना नर्मदा नदी पर बना है। यह पर नर्मदा नदी 30 फीट उची चटटानों से नीचे गिरती है। यह बहुत ही खूबसूरत दिखाता है। यह पर आपको संगमरमर की चटटानें देखने मिलती है। इन संगमरमर के चटटानों के बीच से नर्मदा नदी बहती है। यह पर जलप्रपात देखने के अलावा आप शापिंग भी कर सकते है। यह पर आपको बहुत सारी दुकान देखने मिल जाएगी। यह पर रोपवे की भी सुविधा है। रोपवे से आप धुआधार का खूबसूरत नजारा देख सकते है। आप यह पर नर्मदा नदी मे बोटिग भी कर सकते है और सगमरमर की वदियों का मजा ले सकते है। इस जलप्रपात का मजा आप पूरे साल ले सकते है।

धुआंधार जलप्रपात (Dhuandhar Falls) से करीब 1 से डेढ किमी की दूरी पर चौसठ योगिनी मंदिर (Chausath Yogini Temple) स्थित है। यहां पर आप प्राचीन समय के चौसठ योगिनी मंदिर (Chausath Yogini Temple) के भी दर्शन कर सकते हैं। चौसठ योगिनी मंदिर (Chausath Yogini Temple) में आपको 64 मूर्तियां देखने के लिए मिल जाती है, जो खंडित अवस्था में है। यहां पर मंदिर के बीच में शिव भगवान जी का मंदिर बना हुआ है। जो प्राचीन समय का है जिस में शिव जी की पत्थर की मूर्ति विद्यमान है।

पचमट्ठा मंदिर धुआंधार जलप्रपात से करीब 2 से ढाई किलोमीटर दूर होगा। आप यहां पर पैदल भी जा सकते हैं। इस मंदिर में पांच मंदिर बने हुए हैं जिनमें शिव शिवलिंग स्थापित है।

Waterfalls Near Jabalpur - जबलपुर के आसपास  झरने

Dhuandhar Fall
s


2. घुघरा जलप्रपात - Ghughra Falls

घुघरा जलप्रपात (Ghughra Falls) नर्मदा नदी पर बना है। यह बहुत खूबसूरत एवं शांत जगह है। घुघरा जलप्रपात (Ghughra Falls) एक छोटा सा मगर बहुत खूबसूरत जलप्रपात है। यह पर आपको नर्मदा नदी का बहुत ही खूबसूरत नजरा देखने मिलता है। यह पर आप अपनी गाडी सीधे जलप्रपात के पास तक लेके जा सकते है। यह पर पानी का बहाव बहुत तेज है। यह पर ज्यादा भीड नही होती है या कहा जाए तो बिल्कुल भीड ही नहीं रहती है। तो यह पर आप अपना अच्छा समय बिता सकते है यह पर आप अपनी फैमिली और फेडस के साथ आ सकते है। यह झरना जबलपुर से करीब 20 किमी की दूरी पर स्थित होगा। यह पर आप अपने वाहन से जा सकते है। यह जलप्रपात धुआधार से लगभग 5 से 6 किमी की दूरी पर होगा। यह पर ज्यादा शाॅप नहीं है केवल एक ही शाॅप है इसलिए आप ज्यादा समय के लिए जा रहे तो अपने लिए खाना और पानी लेकर जाए। 

Waterfalls Near Jabalpur - जबलपुर के आसपास  झरने

Ghughra Falls


3. भदाभदा जलप्रपात - Bhadbhada Falls

भदाभदा जलप्रपात (Bhadbhada Falls) गौर नदी पर बनता है। यह बहुत खूबसूरत जलप्रपात है। यह का दृश्य बहुत ही मनमोहक होता है। यह पर ज्यादा भीड नही रहती है इसलिए यह पर आप अपना अच्छा समय बिता सकते है। यह पर पानी का वहाव बहुत तेज होता है। यह पर आप अपने फैमिली और फेडस के साथ जाये । यह पर आपको बहुत सुंदर दृश्य दिखने मिलेगा। यह पर आप अपनी वाहन से असानी से पहुॅचा सकता है। यह पर बस या आटो नही चलती है। यह एक अच्छी जगह है। यह झरना आपको साल भर देखने नहीं मिलेगा यह गर्मी में पानी नही रहता है। इसका झरने का मजा आप बरसात और ठंड मे ले सकते है। यह झरना जबलपुर से 15 से 20 किमी की दूरी पर स्थित है। 

भदाभदा जलप्रपात (Bhadbhada Falls) से लगभग 5 से 6 किमी की दूरी पर जमतरा ब्रिज है। जहां से आपको नर्मदा मैया का खूबसूरत नजारा दिखेगा। यह पर गौर नदी आकर नर्मदा नदी से मिलती है आप वो भी देख सकते है। यह पर एक पुराना ब्रिज है जिसमें से पुराने समय में रेल निकलती थी। अब यहां से रेल नहीं निकलती है अब यहां पर आप घूमने जा सकते है। 

Waterfalls Near Jabalpur - जबलपुर के आसपास  झरने

Bhadbhada Falls

4. निदान जलप्रपात - Nidan Falls

निदान जलप्रपात (Nidan falls) बहुत खूबसूरत है। इस जगह की खूबसूरत की लाजाबाब है। निदान जलप्रपात  (Nidan falls) चारों तरफ खूबसूरत पहाडो से घिरा हुआ है। यह जबलपुर शहर 50 से 55 किमी की दूरी पर कंटगी पर स्थित है। आपको बरसात के समय मे कंटगी रोड से यह जलप्रपात दिखता है। यह पर आपको पर्किग चार्ज लगता है। आपको पार्किग चार्ज 20 रू लगता है। मै इस जलप्रपात 2019 में गई थी। हम लोग बरसात के मौसम में गए थे। आपको यह पर जाकर पर्किग स्थल से 1 किमी पैदल चलना पडता है। यहां चारों तरफ हरियाली और बहता हुआ पानी बहुत खूबसूरत लगता है। यह पर आप ग्रुप मे जाया क्योकि यहां पर जलप्रपात तक जाने के लिए जंगल वाला रास्ता पडता है इसलिए सेफटी का ध्यान जरूर दे। यह पर कुंड पर भी आप सेफटी का ध्यान दे क्योकि यह का कुंड गहरा है।  

Waterfalls Near Jabalpur - जबलपुर के आसपास  झरने


5. खंदारी जलप्रपात एवं जलाशय - Khandari Lake and Falls

खंदारी जलप्रपात (Khandari fall) जबलपुर शहर का एक मुख्य जलप्रपात है। इस जलप्रपात का मजा आपको बरसात में लेने मिलता है। यह पर एक छोटा सा जलप्रपात बनता है, जो बहुत ही आकर्षक लगता है। हम यहां पर 2019 में गए थे। यहां पर खंदारी जलाशय (Khandari Lake) है। साल 2019 में बरसात बहुत ज्यादा हुई थी जिससे खंदारी जलाशय (Khandari Lake) ओवरफलो हो गया था, जिसको देखने के लिए पूरे जबलपुर से लोग आये हुए थे। यह पर खंदारी जलाशय (Khandari Lake) के पास ही मे एक छोटी सा झरना बनता है जो बहुत खूबसूरत लगता है। आप यहां पर नहा भी सकते। यहां का आसपास का वातावरण बहुत अच्छा है। यह जबलपुर शहर से 10 से 12 किमी की दूरी पर स्थित है। यह पर आप अपने वाहन से जा सकते है।

6. बगदरी झरना - Bagdari Falls

बगदरी झरना (Bagdari falls) जबलपुर शहर से 50 से 55 किमी की दूरी पर है। बगदरी झरने (Bagdari falls) तक आप अपने वाहन से असानी से पहॅुच जायेगे। यह पर बहुत खूबसूरत झरना है। यहां पर आकर बहुत एजांय कर सकते है। यह पर खासकर लडके ही ज्यादा देखने मिलता है। आप यहां पर आकर खूबसूरत पहडियों का दृश्य देखने मिल जायेगा। यह पर आप अपने फैडस और फैमिली के साथ आ सकते है। यह पर पानी बरसात मे होता है गर्मी मे पानी नहीं रहता है। यहां पर आप एक बडी सी चटटान में बैठकर झरने का सुंदर व्यू देखने मिल जाएगा।

Waterfalls Near Jabalpur - जबलपुर के आसपास  झरने

Bagdari Waterfalls 


7. टेमर झरना - Temar Falls

टेमर झरना (Temar Falls) जबलपुर के बरगी बांध पास ही मे स्थित है। इस झरने तक आप अपनी गाडी से जा सकते है। यह झरना बहुत खूबसूरत है। आप यहां पर जाकर अच्छा समय बिता सकते है। यह जलप्रपात बरगी में काली जी विशाल मूर्ति के पास ही मे है। झरने तक जाने के लिए रोड कच्ची है। आप यहां पर अपने दोस्तों के साथ जा सकते है और एजांय कर सकते है। 

आपको अगर यह जानकारी अच्छी लगी हो। अपने इन झरनों में घूमा हो तो अपना अनुभव हमसे जरूर साझा करें और इस लेख को जरूर शेयर करें।

धन्यवाद अपना बहुमूल्य समय देने के लिए

Rani Durgavati Abhyaran | Rani Durgavati Sanctuary | रानी दुर्गावती अभयारण्य

Rani Durgavati Sanctuary Beautiful Part of Damoh City.

रानी दुर्गावती अभ्यारण्य

रानी दुर्गावती अभ्यारण्य दमोह जिले का एक खूबसूरत जगह है। यह जगह प्रकृति से भरपूर एक प्राकृतिक जगह है। यहां पर आकर आप अपना पूरा दिन बिता सकते हैं। यहां पर आपको पूरा जंगल देखने मिलेगा और जंगली जानवर भी देखने मिलेंगे। रानी दुर्गावती अभ्यारण्य में जंगल में घूमने के अलावा भी बहुत सारी जगह है जहां पर आप घूम सकते हैं।

Rani Durgavati Abhyaran | Rani Durgavati Sanctuary | रानी दुर्गावती अभयारण्य

Najara View Point

रानी दुर्गावती अभ्यारण्य का लोकेशन

Location in Rani Durgavati Sanctuary


यह अभ्यारण्य मध्य प्रदेश के दमोह जिले में स्थित है। दमोह जिला जबलपुर जिले के बहुत करीब है। इस अभ्यारण्य में जबलपुर जिले से भी पहुंचा जा सकता है और दमोह जिले से भी पहुंचा जा सकता है। यह अभ्यारण्य दमोह जिले के सिंग्रामपुर तहसील के पास स्थित है। यह अभ्यारण्य दमोह जिले के सिंग्रामपुर तहसील में स्थित है। सिंग्रामपुर तहसील से रानी दुर्गावती अभ्यारण्य 4 या 5 किलोमीटर की दूरी पर होगा। यह अभ्यारण्य दमोह जबलपुर हाईवे रोड पर ही पड़ता है, तो आप यहां पर सड़क के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आप अपनी बाइक के द्वारा आसानी से आ सकते हैं। आप इस अभ्यारण्य में कार से भी आ सकते हैं। 

आप रानी दुर्गावती अभ्यारण्य में बाइक से अच्छी तरह घूम सकते है। रानी दुर्गावती अभ्यारण्य में बहुत सारी जगह है। जहां पर आप घूम सकते हैं। रानी दुर्गावती अभ्यारण्य  जितनी भी जगह है। वह पूरी तरह प्राकृतिक एवं प्राचीन है। रानी दुर्गावती अभ्यारण्य में आपको जंगली जानवर देखने मिलते है। आपको यह पर बहुत सारी जगह आपको देखने मिलती है।

रानी दुर्गावती अभ्यारण का एंट्री चार्ज
Rani Durgavati sanctuary's entry charge


रानी दुर्गावती अभ्यारण्य में आपके वाहन का 60 रू. लगता है। आपको एक एंट्री टिकट मिलती है। इस टिकट के जरिये आप इस अभ्यारण्य में जितने भी  दर्शनीय स्थल है वो आप इस एंट्री टिकट से घूम सकते है। ये 60 रू. आपकी गाडी का चार्ज होता है आपकी जितनी भी गाडी रहेगी उन सभी गाडी का 60 रू. लगेगा। हम लोगों ने कार का पता नहीं किया था कि कितना चार्ज लगेगा कार का। मेरे हिसाब से कार का चार्ज भी 60 रू. लगता होगा। हम लोग स्कूटी ले गए थे तो स्कूटी का हम लोग का 60 रू. लगा था। आप यह 60 रू. देकर रानी दुर्गावती अभ्यारण्य की निदान जलप्रपात, नजारा व्यू पांइट, सिंगौरगढ का किला, दानीताल तालाब, सद्भावाना शिखर, और भी बहुत से जगह देख सकते है। रानी दुर्गावती अभयारण्य में मैंने जिन भी जगह घुमा है। मैं आपको उन जगहों की जानकारी आपसे शेयर कर रही हूं।

निदान जलप्रपात - Nidan Waterfalls 

निदान जलप्रपात रानी दुर्गावती अभ्यारण में स्थित है और यह बहुत ही खूबसूरत जलप्रपात है। यह जलप्रपात चारों तरफ से सुंदर पहाड़ियों से घिरा हुआ है और आपको जलप्रपात तक पहुंचने के लिए करीब एक से डेढ़ किलोमीटर का पहाड़ी रास्ता तय करना पड़ता है। आप दूर से भी इस जलप्रपात को देख सकते हैं जो बहुत खूबसूरत दिखता है यहां पर आप जाकर जलप्रपात के नजदीक में बैठ सकते हैं। यहां पर एक कुंड भी है जहां पर आप स्नान कर सकते हैं।

Rani Durgavati Abhyaran | Rani Durgavati Sanctuary | रानी दुर्गावती अभयारण्य

Nidan Waterfall

Rani Durgavati Abhyaran | Rani Durgavati Sanctuary | रानी दुर्गावती अभयारण्य

Nidan Waterfall 

निदान जलप्रपात, दमोह

सिगौरगढ का किला - Fort of Singaurgarh

रानी दुर्गावती अभ्यारण्य में आपको सिगौरगढ का किला देखने मिलता है। यह एक खूबसूरत महल हुआ करता था अर्थात प्राचीन समय में यहां पर रानी दुर्गावती का गढ हुआ करता है। यह पर रानी दुर्गावती का विवाह हुआ था। यह किला रानी दुर्गावती अभ्यारण्य के अंदर स्थित है। आपको इस किले तक पहुॅचने के लिए आपको रानी दुर्गावती अभ्यारण्य की मुख्य सडक से 3 से 4 किमी की दूरी दूरी तक चलना होता है। आप यह पर अपनी गाडी से आसानी से जा सकते है। आपको यह पर जाने के लिए आधी दूर पर कच्ची सडक मिलती है। आपकी गाडी या कार इस सडक पर असानी से चल जाती है। कहीं कहीं पर आपको पक्की सडक मिल जाती है। इसके अलावा आपको यहां पर एक तालाब भी देखने मिलेगा। यह तालाब भी प्राचीन समय का है। इस तालाब में पुराने समय में रानी दुर्गावती जी स्नान करने के लिए आती थी। यहां पर आपको एक हनुमान मंदिर भी देखने मिल जाएगा, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह हनुमान मंदिर प्राचीन समय का है। इस हनुमान जी के प्रतिमा के दर्शन करने के लिए दूर दूर से लोगों आते है और जो भी फॉरेस्ट ऑफिसर ड्यूटी जॉइन करता है। वह जरूर इस हनुमान मंदिर में दर्शन करने के लिए आते है। इस तालाब के बारे में कहा जाता है कि यहां पर मगरमच्छ है। तालाब के पास बोर्ड लगा हुआ है जिसमें इस बारें में सूचना दी गई है। इसके अलावा यहां पर जो व्यू रहता है, वो बहुत मस्त है। तालाब के आसपास का नजारा बहुत ही मनोरम रहता है। यहां पर आपको अद्भुत दृश्य देखने मिलता है। तालाब के किनारे बेल के पेड़ हैं जो बहुत प्यारे लगते हैं। इस तालाब के आगे भी आपको खूबसूरत व्यू देखने मिलता है।

इस महल के जाने वाले रास्ते में एक महल और है जो ऐसा लगता है कि सैनिकों के रहने के लिए बनाया गया है। यह महल भी बहुत पुराना है और बहुत खूबसूरत लगता है। आप जब जंगल की सैर करने जाते हैं, तो ऐसा लगता है जैसे आप एक अलग दुनिया में आ गए हैं।

Rani Durgavati Abhyaran | Rani Durgavati Sanctuary | रानी दुर्गावती अभयारण्य

Fort of singaurgarh


नजारा व्यूप्वाइंट - Najara View Point

रानी दुर्गावती अभयारण्य में आपको नजारा व्यूप्वाइंट भी देखने मिलता है। नजारा व्यूप्वाइंट्स में आपको दमोह जिले के रानी दुर्गावती अभ्यारण का खूबसूरत व्यू देखने मिलता है। चारों तरफ आपको हरियाली देखने मिलती है और यहां पर आपको आकर बहुत अच्छा लगता है। दमोह शहर का सबसे ऊंचा पॉइंट है जहां से अब दूर दूर तक का व्यू देख सकते हैं।

नजारा व्यू प्वाइंट, दमोह जिला


दानी तालाब - Dani Talab

रानी दुर्गावती अभयारण्य में आपको दानी तालाब देखने मिलता है। दानी  तालाब हाईवे रोड के बाजू में ही स्थित है। आप इस तालाब में ढेर सारे कमल के फूल देख सकते हैं और दानी  तालाब  के आसपास का जो जंगल का एरिया है वह भी आप देख सकते हैं।

वॉच टावर - Watch Tower

रानी दुर्गावती अभयारण्य में वॉच टावर भी स्थित है। यह वॉच टावर हाईवे रोड से थोड़ी ही दूरी पर स्थित है। आपको करीब 1 एक से डेढ़ किलोमीटर चलना पड़ता है। आपकी गाड़ी भी टावर तक आसानी से चली जाती है। यहां पर एक टावर बनाया गया है जिसमें आपको सीढ़ियों से चढ़कर जाना पड़ता है। आप इस टावर से रानी दुर्गावती अभ्यारण्य की खूबसूरती देख सकते हैं। आपको इस टावर से चारों तरफ पहाड़ियों का व्यू देखने मिलता है। इसके अलावा यहां पर फॉरेस्ट के जो कर्मचारी हैं। उनके रहने के लिए भी एक घर बनाया गया है। वह भी आप देख सकते हैं। वह भी बहुत खूबसूरत है।

रानी दुर्गावती अभयारण्य  अन्य जगह

Other Place in Rani Durgavati Sanctuary 

आप रानी दुर्गावती अभयारण्य में बड़ा चक्कर और छोटा चक्कर लगा सकते हैं आप बड़ा चक्कर और छोटे चक्कर लगाकर रानी दुर्गावती अभयारण्य का पूरी जगह घूम सकते हैं। आपको इस यात्रा में बहुत सारी जंगली जानवर देखने मिल जाएंगे। इसके अलावा रानी दुर्गावती अभयारण्य में जो भी जगह थी मैने उन सभी जगह की जानकारी आपको नहीं दी हूॅ क्योकि मै रानी दुर्गावती अभयारण्य की सभी जगह नहीं घूम पाई हूॅ। इसके अलावा भी रानी दुर्गावती अभयारण्य में बहुत सारी जगह है। जहां पर आप घूम सकते हैं। यह जो भी जगह मैंने आपको बताया है। यह जगह मैं खुद घूमी हूं तो इनके बारे में मैंने आपको डिटेल में जानकारी दे दी हूं। जिन जगहों में आप रानी दुर्गावती अभयारण्य में घूम सकते हैं।

रानी दुर्गावती अभयारण्य में रतन कुंड है। 52 बजरिया है। आप गिरी दर्शन देख सकते है। सद्भावना शिखर है, जहां पर आप जाकर घूम सकते हैं। इन जगह पर हम नहीं घूमे थे मगर आप इन जगहों पर जाकर घूम सकते हैं। 

Rani Durgavati Abhyaran | Rani Durgavati Sanctuary | रानी दुर्गावती अभयारण्य

View of Nidan falls 

रानी दुर्गावती अभयारण्य पर कहीं कहीं पर आपको फोन का नेटवर्क काम नहीं करता है, क्योंकि यहां पर पूरा जंगल और पहाड़ी वाला रास्ता है। इसलिए यहां पर फोन का नेटवर्क काम नहीं करता है। मगर आपको घूमने में बहुत मजा आएगा यहां पर जंगल में फॉरेस्ट के ऑफिस बने हुए हैं।

रानी दुर्गावती अभयारण्य पर आकर मुझको बहुत अच्छा लगा। यह हमारा  बहुत अच्छा एक्सपीरियंस रहा है। रानी दुर्गावती अभयारण्य जबलपुर जिले के पास में है, लगभग 50 से 60 किलोमीटर होगा। तो आप यहां पर कभी भी जा सकते हैं। अपनी 1 दिन का ट्रिप प्लान करके । दमोह जिले से भी रानी दुर्गावती अभयारण्य आ सकते हैं। 

रानी दुर्गावती अभयारण्य आप अपने दोस्तों और परिवार के साथ आ सकते हैं। यह जगह सुरक्षित है मगर कहीं कहीं पर सुनसान होता है। जहां पर भी दर्शनीय स्थल है। वहां पर लोग रहते हैं। मगर आप अपनी सेफ्टी का जरूर ध्यान दें। जगह अच्छी है आप जाकर काफी इजांय कर सकते है। 

Math Ghogra waterfall and Cave || Shri Paramhans Ashram Math Ghoghara Dham || Shiv Dham Math Ghoghara

श्री शिवधाम मठघोघरा लखनादौन


मठघोघरा जलप्रपात एवं गुफा (Math Ghogra Waterfall and cave) सिवनी जिलें का एक दर्शनीय स्थत है। यह झरना एवं गुफा प्रकृति की गोद में स्थित है। यहां पर आपको बरसात के सीजन में एक खूबसूरत झरना देखने मिलेगा। मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall )  में प्राचीन शिव मंदिर है। यहां पर शिव भगवान की अनोखी प्रतिमा विराजमान है। आपको यह पर चारों तरफ प्रकृति की खूबसूरती देखने मिल जाएगी। यहां जगह आपको बहुत पसंद आयेगी। 

Math Ghogra waterfall and Cave
Math Ghogra Waterfall and Cave

Math Ghogra waterfall and Cave
Math Ghogra Waterfall and Cave


मठघोघरा झरना एवं गुफा (Math Ghogra Waterfall and cave) सिवनी जिले के लखनादौन तहसील में स्थित है। आप यहां पर असानी से पहॅुच सकते है। लखनादौन सिवनी से लगभग 60 किमी की दूरी पर होगा। लखनादौन जबलपुर नागपुर हाईवे रोड पर स्थित है। आप लखनादौन तक बस द्वारा असानी से पहुॅच सकते है। मगर आपको लखनादौन बस स्टैड से आपको आटो बुक करना होगा इस मठघोघरा जलप्रपात (Math Ghogra Waterfall ) तक जाने के लिए। आप यहां पर अपने वाहन से भी आ सकते है। मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall ) तक पहुॅचने के लिए आपको पक्की रोड मिल जाती है। आपको इस जगह तक पहुॅचने के लिए पहले लखनादौन पहुॅचना पडता है। आपको इस जगह पर बरसात पर जाना चहिए क्योकि यहां पर बरसात में ही झरना आपको देखने मिलता है। वैसे आप यहां गर्मी में भी जा सकते है क्योकि यहां का वातावरण बहुत अच्छा  और ठंडा रहता है। यहां पर चारों तरफ जंगल का अदुभ्त नाजारा देखने मिलता है। यहां पर आपको ज्यादा भीड नहीं देखने मिलती है। यहां पर आपको बैठने के लिए बहुत अच्छा जगह मिल जाती है। अगर आप बरसात में आते है यहां पर आपको थोडा सावधानी बरतनी पडती है, क्योकि यहां जगह चारों तरफ से जंगल और उॅचे उॅचे पहाडों से घिरी हुई है, तो यहां पर बरसात के समय रोड में फिसलन हो जाती है, इसलिए गाडी संभलकर चलाने की जरूरत होती है। इस जगह तक  पहुॅचने के लिए आपको पक्की सडक मिल जाती है। लखनादौन बस स्टाॅप के पास ही में एक गाली सीधी इस जगह के लिए जाती है। आपको इस गाली में एक बोर्ड देखने मिलेगा जिसमें मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall and cave) का नाम लिखा होगा और दूरी लिखी होगी। आप इस रोड से सीधा जाना है, इस रोड के अंत में ही मठघोघरा जलप्रपात एवं गुफा (Math Ghogra Waterfall and cave) देखने मिलेगा। आपको लखनादौन से मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall ) के आने वाले रास्ते में बहुत ही खूबसूरत नदी या आप इन्हें बरसाती नाले भी कहे सकते है, देखने मिल जाते है। इसके अलावा आपको खुले मैदान देखने मिलेगी। बरसात के समय नदियों में पानी बहता है और इसमें आपको गांव के बच्चे मस्ती करते हुए दिख जाते है। इसके अलावा बरसात में आपको हरियाली भी दिखने मिल जाती है। इस जगह के आसपास ग्रामीण क्षेत्र है जहां पर आपको बरसात के समय मक्के की खेती देखने मिल जाएगी। आप जब इस जगह पहुॅचते है तो आपको रोड में ही साइन दिख जाता है। आप जब इस रोड से मंदिर की तरफ आते है, यहां पर आपको घाटीनुमा रोड दिखने मिलेगी जो सर्पाकार होती है। आप जब इस मंदिर की तरफ जाते है तो आपको पहाडों का सुरम्य व्यू देखने मिलेगा । बरसात में तो पहाडी में जो हरियाली होती है वहां एकदम मस्त होता है। आप जब इस मंदिर के पास पहुॅचते है तो आपको एक झरना दिखाई देगा जो चटटानों के उपर से बहुत प्यारा लगता है। यह मुख्य झरना नहीं है मुख्य झरना देखने के लिए आपको इस घाटी के ओर नीचे जाना होता है। 

Math Ghogra waterfall and Cave
Math Ghogra Waterfall and Cave


आप मंदिर पहुॅच जाते है तो आपको तीन बहुत बडे बडे त्रिशूल दिखाई देते है जो धरती पर गडे होगें। मंदिर तक आपकी गाडी आराम से चली जाती है। आपको अपनी गाडी यहीं पर पार्क करना होता है। यहां से आगे का रास्ता आपको पैदल तय करना होता है। यहां पर आपको संभल कर चलना होता है क्योकि यहां पर पहाडों से पानी रिसता है वहां पूरी रोड और सीढियों में फैला रहता है। यहां पर बहुत फिसलन होती है। इस जगह को श्री परमहंस मठघोधरा धाम (Shri Paramhans Ashram Math Ghoghara Dham) भी कहा जाता है। आप जैसे ही सीढियों से नीचे जायेगें आपको खूबसूरत व्यू दिखाई देगा। यहां पर एक झरना पहाडों के बीच से बहता है और झरने के नीचे एक गुफा है, वैसे यहां गुफा पहाडों को काटकर बनाई गई। यहां पर आपको बहुत बडी जगह जायेगी। जहां पर शिव भगवान की मूर्ति भी स्थापित है। यहां मूर्ति गुफा के अंदर स्थित है, इसके अलावा यहां पर 12 ज्योर्तिलिंग भी आपको देखने मिलेगें। गुफा में बहुत बडा स्पेस है जहां पर आप पूरा घूमकर देख सकते है। यहां पर एक छोटा सा रूम भी बना था, गुफा के अंदर जहां पर ताला लगा हुआ था। आपको यहां स्थल पर शिव भगवान की प्राचीन एवं पत्थर का एक शिवलिंग देखने मिलेगा जो यहां पर बहुत प्रसिध्द है, इस शिवलिंग की बनावट अनोखी है। इस जगह का मुख्य आकर्षण यहां का झरना है, यह झरना बरसात में देखने मिलेगा। इस झरने के नीचे ही यहां गुफा स्थित है। यहां गुफा बहुत खूबसूरत लगता है। यहां के चारों तरफ का वातावरण बहुत खूबसूरत है। यहां पर पहाडों से पानी आता है, यह पानी पीने के लिए होता है। यह पूरी तरह से शुध्द होता है क्योकि यह पानी पहाडों से रिसता है। आप यह जो झरना बहता है उसका पानी पी नहीं सकते है क्योकि यह पानी उपर का जो भी खेत है और घरों का पानी बह कर आता है। मगर जो यह पहाडों का पानी है वो बहुत शुध्द है ये जो पानी है वो बरसात के साथ साथ गर्मी में भी बहता रहता है। यहां पर आप झरने से आगे जाने का रास्ता है वहां पर छोटा सा गार्डन है। यहां पर पूरा जंगल है चारों तरफ हरियाली है। यहा पर गर्मी में यह झरना सूख जाता है। 

Math Ghogra waterfall and Cave
Shri Paramhans Ashram Math Ghoghara Dham

Math Ghogra waterfall and Cave
Math Ghogra waterfall and Cave


यह जगह बहुत अच्छी है और यहां पर बहुत शांती रहती है। यहां पर आप बरसात में जायेगें तो आपको बहुत अच्छा लगेगा। इसके अलावा गर्मी में भी यहां जाया जा सकता है। यहां पर आप अपनी फैमिली और फैडस के साथ जा सकते है। आप यहां पर जाकर कचडा न करें यहां जगह बहुत साफ एवं अच्छी है। आप यहां पर कचडा न करें। यह जगह बहुत खूबसूरत है जहां पर जाकर आप अपना अच्छा समय बिता सकते है। यह फोटोग्राफी के लिए बहुत बढिया जगह है। 

Dhuandhar Falls

धुआंधार

धुआंधार संगमरमर की चटटानों के उपर से गिरने वाला एक खूबसूरत झरना है, इस झरने के सुन्दरता को देखने के लिए भारत देश के कोने कोने से लोग आते है। धुआंधार झरने की खूबसूरती देखने विदेशों से भी लोग आते है। धुआंधार झरना नर्मदा नदी पर बना हुआ है। यहां झरना तेज वहाव के साथ चटटानों से नीचे गिरता है, जो देखने में बहुत मनोरम लगते है। 
Dhuandhar Falls
Dhuandhar Falls

धुआंधार झरना (Dhuandhar Falls) मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले में स्थित है । धुआंधार झरना (Dhuandhar Falls) जबलपुर जिले से लगभग 25 किमी की दूरी पर स्थित है। धुआंधार जबलपुर के भेडाघाट क्षेत्र में स्थित है। वैसे भेडाघाट में बहुत सारी जगह है जहां पर आप घूम सकते है, आपका पूरा दिन यहां पर घूमते घूमते ही बित जाएगा। आप इस झरने तक सडक के माध्यम से जा सकते है। यहां जलप्रपात बहुत फैमस है इसलिए आप यहां पर असानी से पहॅच सकते है। यहां पर जाने के लिए आप अपने वाहन से जा सकते है। धुआंधार झरना तक जाने के लिए अच्छी सडक है। इस जलप्रपात तक जाने के लिए आप आटो या मेट्रो बस से जा सकते है। आप आटो बुक कर सकते है तो आटो आप से धुआंधार  झरने आप कितना समय बिताते है उसके अनुसार चार्ज करेगा। अगर आप आटो शेयर करके धुआंधार जाते है तो आपको 20 से 30 रू चार्ज हो सकते है। इससे सस्ता है आप मेटो बस से धुआंधार झरने में जाये, मेट्रो बस में आपको चार्ज बहुत कम लगेगा। मेरे हिसाब से 15 रू अभी इस समय लग रहा है। आप अगर अपने वाहन से धुआंधार जलप्रपात जाते है, तो आपको सगडा रोड से आना चहिए क्योकि संगडा रोड से यहां झरना पास पडता है। वैसे आप चाहे तो भोपाल जबलपुर हाईवे रोड से भी धुआधार जलप्रपात तक पहॅुच सकते है। 
Dhuandhar Falls
Dhuandhar Falls

धुआधार पहुॅचकर आपको धुआधर के गाडी स्टैड में गाडी खडा करना है। गाडी स्टैड का चार्ज 10 रू है। आप गाडी खडा करके पैदल चलकर धुआधार के मार्केट एरिया से होते हुए धुआंधार झरने तक पहुॅच सकते है। मार्केट एरिया में आपको बहुत सारी शाॅप मिलेगी। आपको यहां के बाजार में मारबल के शिवलिंग मिल जाएगें । यहां बाजार में लोग दूर दूर से यहां पर शिवलिंग लेने आते है। इसके अलावा यहां पर पत्थर के सजावट के सामान भी मिल जाएगे। आपको इस बाजार क्षेत्र में बहुत सारी होटल भी मिल जाएगी। जहां पर आप खाने पीने का सामान ले सकते है। यहां पर आप चाय नाश्ता भी कर सकते है। आपको यहां पर रोपवे भी मिल जाएगा। 

अगर आप रोपवे का मजा लेना चाहते है तो बाजार में ही आपको रोपवे में जाने के लिए रास्ता मिल जाएगा। जहां पर आपका शायद 100 रू का टिकट मिलता है। आप टिकट लेकर रोपवे से उस पार जा सकते है और धुआंधार जलप्रपात के उस पास से आप इस झरने का व्यू देख सकते है। वैसे जब आप रोपवे में जाते है तो उपर से आपको धुआंधार झरने (Dhuandhar Falls) का बहुत ही मनोरम दृश्य दिखता है जिसका वर्णन नहीं किया जा सकता है। रोपवे से आपको नर्मदा नदी अपनी तेज वहाव से चटटानों से बहती है और बहुत तेज आवाज करती है। यहां आपको नर्मदा  आप रोपवे से उतरकर आप नर्मदा नदी के किनारे आ सकते है और संगमरमर की चटटानों में बैठकर यहां पर मजे ले सकते है। आपको यहां पर बहुत सारी खाने की चीजे मिल जाती है, यहां पर कुछ खाने का समान ताजा होता है जैसे आपको यहां पर जामुन, ताजी बेर, बिही, और गन्ना का जूस मिल जाएगा जो ताजा और आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छा होगा। आप यहां पर बहुत अच्छा समय बिता सकते है। धुआंधार झरने के इस पार ज्यादा भीड नहीं रहती है। झरने के इस पार भी आपको होटल मिल जाएगा जहां पर जाकर आप धुआंधार व्यू देख सकते है और खाने का आंनद भी ले सकते है। 
Dhuandhar Falls
Dhuandhar Falls

अब धुआंधार जलप्रपात (Dhuandhar Falls) के इस पार की बात करते है। आप मार्केट एरिया से होते हुए जलप्रपात तक पहुॅच जाते है। आप मार्केट एरिया से सीढियों के माध्यम से नीचे आते है और आपके जलप्रपात तक पहुॅचने के लिए एक पतली सी सडक मिलती है या फिर आप चाहे तो चटटानों के बीच से रास्ता जाता है जलप्रपात तक जाने का आप वहां से भी जा सकते है। आपको रास्ते में ताजा खीरा खाने मिल जाएगी या फिर उबली हुई बेर मिल जाएगी। आपको रास्ते में बहुत सारी दुकान मिल जाती है जहां पर आप मार्बल के बने सामान मिल जाते है जैसे बाल में लगाने वाली क्लिप, कान में पहने वाले एयररिंग और भी बहुत सारी चीजें आपको मिल जाती है। आप जलप्रपात में पहुॅचते है, जलप्रपात के पास लोहे की जाली लगी हुई है जिससे कोई यहां पर गिरे नहीं । आपको यहां पर धुआंधार जलप्रपात बहुत खूबसूरत व्यू देखने मिलता है। यहां पर नर्मदा नदी संगमरमर की चटटान से 10 मीटर उचाई से नीचे गिरती है। यहां पर पानी इतनी तेजी से गिरता है कि उसकी आवाज आप दूर दूर तक सुन सकते है। यहा पानी तेज गति से उपर से नीचे गिरता है जिससे धुंआ निकलता है इसलिए इसे धुआधार कहा जाता है और ये पानी तेज गाति से गिरता है तो वो सूक्ष्म बूॅद बनता है जो आपको जब आप जाली सेे खडे होकर देखते है तो आपको ठण्डक का अहसास करता है। यहां पर नदी और चटटान का बहुत बढिया तालमेल बनता है जो देखने लायक होता है। आप कम कम अपना आधा या एक घण्टा आराम से दे सकते है। आप नदी के किनारे नहा भी सकते है। मगर यहां पर चेजिग रूम नही है। यहां पर भी एक रेस्टोरेन्ट है जहां पर आप चाय नाश्ता कर सकते है। यहां पर आपके शौचालय की सुविधा मार्केट एरिया में है जलप्रपात के पास शौचालय नहीं है। आपको यहां पर एक टाॅवर भी देखने मिल जाएगा जिसमे चढने के लिए आपको सीढिया चढनी होगी। जिससे आपको भेडाघाट का खूबसूरत व्यू देखने मिलता है। यहां पर आपको सूर्यास्त का व्यू भी देखने मिलेगा जो बहुत शानदार होता है। टावर से आपको संगमरमर चटटान एवं चारो तरफ का व्यू भी देखने मिलेगा। आप यहां पर अपनी फैमिली और दोस्तो के साथ आ सकते है। यहां पिकनिक के लिए अच्छी जगह है। यहां पर नर्मदा जंयती पर विशाल मेला लगता है। इसके अलावा यहा पर नवंवर में पूर्णिमा में भी विशाल मेला लगता है जिसमें दूर दूर से लोग आते है, इस मेले मे रात मे चादनी रात में लोग नाव की सैर करते है। 

Dhuandhar Falls
Dhuandhar Falls


आपके लिए सुझाव 



  1. आप यहां पर गंदगी न करें। कचडा डस्टबिन मे डाले और आप शौचालय के लिए सार्वजानिक शौचालय का प्रयोग कर सकते है। 
  2. आप यहां पर स्नान करते है। तो नदी के किनारे ही करे ज्यादा अंदर न जाये क्योकि यहां नर्मदा नदी उथली है मगर उसका वहाव बहुत तेज होता है।
  3. आप सेल्फी लेते समय जरूर सावधानी बरतें। सुरक्षित जगह देखकर ही सेल्फी लें । जाली के पास खडे होकर सेल्फी न ले और सेल्फी ले भी तो अपनी सेफटी का ध्यान रखें। 
  4. नर्मदा नदी के किनारे जो चटटाने है उनको विशेष ध्यान दें उनमें खडे होकर सेल्फी न खीचें। 

Sahastradhara:- Mandla city best tourist place

Sahastradhara
सहस्त्रधारा 

Sahastradhara:- Mandla city best tourist place
सहस्त्रधारा (Sahastradhara)एक खूबसूरत और प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर जगह है। यह जगह मंडला शहर का प्रमुख पर्यटन स्थल है। मंडला मध्यप्रदेश के एक जिला है। इस जगह पर आपको नर्मदा नदी का बहुत खूबसूरत रूप देखने मिलेगा। सहस्त्रधारा एक धार्मिक एवं प्राकृतिक स्थल है। यहां पर आपको बहुत खूबसूरत जलप्रपात देखने मिलेगा, इसके अलावा यहां पर आप सहस्त्रार्जन मंदिर देख सकते है जो नर्मदा नदी के बीच में बना है। आप इस मंदिर में बरसात में नहीं जा सकते है क्योकि बरसात के समय यहां मंदिर नर्मदा नदी के पानी से डूबा जाता है। गर्मी के दिन में नर्मदा नदी का पानी सूख जाता है तो आप इस मंदिर जा सकते है। यहां का चारों तरफ का वातावरण बहुत ज्यादा मनोरम है।
Sahastradhara  Mandla city best tourist place
View of Sahastradhara 


आप अगर मंडला जाते है तो इस जगह आपको जरूर जाना चहिए, हमारा मंडला यात्रा में इस जगह का अनुभव बहुत अच्छा रहा है। मंडला मध्यप्रदेश के एक जिला है। मंडला एक अदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है। मंडला जिले में आप जबलपुर जिले से बस से जा सकते है। यहां पर रेल्वे स्टेशन है मगर अभी रेल्वे की सुविधा नहीं है। आप इस जगह पर अपने वाहन से या आॅटो बुक करके पहॅुच सकते है। सहस्त्रधारा (Sahastradhara) मुख्य शहर से लगभग 4 किमी की दूरी पर होगा। यहां तक आने के लिए आपको पक्की सडक मिल जाएगी। आपको सहस्त्रधारा (Sahastradhara)आने वाले रास्ते में नर्मदा नदी के कई घाट एवं मंदिर मिलते है आप चाहे तो इन घाट और मंदिर में जा सकते है। आप जब इस जगह पहूॅचते है, तो आपको एक बहुत बडा मैदान देखने मिलेगा। इस मैदान से होते हुए आप सहस्त्रार्जन मंदिर तक पहुॅचते है। इस मंदिर तक आने के लिए अच्छी रोड बनी है आपकी गाडी आसानी से आ जायेगी। 

Sahastradhara  Mandla city best tourist place
Sahastadhara Temple

सहस्त्रधारा (Sahastradhara) पहुॅचकर आप सहस्त्रार्जन मंदिर के दर्शन कर सकते है। यहां मंदिर नर्मदा नदी के बीच में बना है। मंदिर तक जाने के लिए रास्ता बनाया गया है। मंदिर का डिजाइन बहुत खूबसूरत है और यहां पानी में स्थित होने के कारण बहुत खूबसूरत लगता है। मंदिर में शिव भगवान का शिवलिंग स्थापित है। आपको मंदिर के बाहर ही बहुत सारे शिवलिग देखने मिल जाएगे। मंडला का यहां क्षेत्र बरगी बांध का डूब क्षेत्र है मतलब यहां पर बरगी बांध भराव क्षेत्र है, इसलिए यहां पर पानी भरा हुआ रहता है। इसलिए यहां पानी भरा होता है। हम यहां पर ठंड के समय में गए थे, तब भी यहां पर पानी भरा हुआ था। हम लोग इस मंदिर के अंदर नहीं जा पाये थे। हम बस मंदिर के पास तक जा पाये थे। यहां पर शायद गर्मी में पानी कम हो जाता हो तब आप इस मंदिर में घूम पाये। इसके अलावा यहां पर एक मंदिर और यहां मंदिर बहुत खूबसूरत है। यहां मंदिर सफेद कलर का है जो देखने में बहुत अच्छा लगता है। आप इस जगह पर स्नान भी कर सकते है मगर यहां पर कपडे बदलने की सुविधा नहीं है। वैसे यहां जगह बहुत अच्छी है। 

Sahastradhara  Mandla city best tourist place
Sahastradhara falls


सहस्त्रधारा जलप्रपात (Sahastradhara Falls)नर्मदा नदी पर बना हुआ एक खूबसूरत झरना है। यहां झरना सहस्त्रार्जन मंदिर से थोडी दूरी पर स्थित है। आपको देखने मे लगेगा कि यहां झरना पास ही में मगर जब आप इस झरने की ओर चलना शुरू करते है तो यहां झरना आपसे दूर होते जाता है। यहां मै अपना अनुभव बताया है, यहां झरना मेरे हिसाब से करीब 1 किमी की दूरी पर होगा। इस झरने तक आपको पैदल ही चलना होगा क्योकि यहां पर चटटान है। यहां पर जो चटटान वो कुछ अलग प्रकार की है, यह चटटान काले रंग की है। आपको यहां पर जरूर जूते पहनना चाहिए, क्योकि चप्पल या सैडल पहनकर चलना संभव नहीं है। यहां जो चटटान है वो मैग्नीशियम, चूना पत्थर और बेसाल्ट की है। आपको इस झरने तक पहुॅचने में समय लगेगा, मगर यहां पर पहुॅचकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर नर्मदा नदी कई धाराओं में विभक्त हो गई है, नर्मदा नदी के ये धाराए इन चटटानों के माध्यम से बहती है, जो देखने में बहुत अच्छी लगती है। यहां पर आपको इन धाराए के बहुत सारे छोटे छोटे जलप्रपात देखने मिल जाएगे। यहां पर नर्मदा नदी तेज बहाव से इन चटटानो से बहती है जो एक शानदार दृश्य पैदा करती है। आप इस जगह पर अपनी परिवार एवं दोस्तों के साथ जा सकते है।
Sahastradhara  Mandla city best tourist place
Sahastradhara falls


यहां जगह शांत एवं प्राकृतिक है। यहां पर ज्यादा लोग भी नही रहते है। यहां पर कोई त्योहार पर ही ज्यादा भीड होती होगी। यहां पर लोगों के द्वारा गंदगी की जाती है, लोग जलप्रपात के पास ही में लेटरिंग कर देते है जो मुझे मुझे अच्छा नही लगा है। यहां पर सरकार के द्वारा शौचालय की सुविधा है, वहां पर जाना चहिए । यह बहुत  अच्छा स्थान है यहां पर आपको गंदगी नहीं करना चहिए। यहां पर वैसे डस्टबिन वगैरह भी नहीं थे। लोग डस्टबिन की कमी के कारण, लोग कचरा इधर-उधर फेंक देते थे। आप अगर कुछ लेकर जाते है खाने पीने का सामान तो उसे यहां वहां न फैकें। 
सहस्त्रधारा (Sahastradhara)एक फैमस दर्शनीय स्थल है। सहस्त्रधारा (Sahastradhara) एक धार्मिक एवं प्राकृतिक स्थल है। यहां पर साल भर लोग आते रहते है। आप अगर बरसात में जाते है तो आपको यहां पर चारों तरफ पानी ही पानी देखेगें, जो यहां पर झरना है वहां बरसात में गायब हो जाता होगा क्योकि बरसात में पानी बहुत ज्यादा मात्रा में आ जाता है। 

आपके लिए सुझाव :- 

  • अगर इस जगह आपको ज्यादा समय बिताना है तो आप इस जगह अपना खाना पीना लेकर जाये क्योकि यहां पर किसी भी तरह की दुकान नहीं हो जहां पर आप खाने पीने का ले सकें। 
  • यहां पर आप शूज पहनकर जाये क्योकि यहां पर आपको नर्मदा नदी में बना सहस्त्रधारा झरना पैदल चलकर जाना होगा, आपको अगर जलप्रपात तक जाना है तो आपके पास पैदल चलने के अलावा कोई और विकल्प नहीं है। मेरे हिसाब से आपको चप्पल और सैडल पहनकर चलने में दिक्कत आ सकती है। 
  • आप सहस्त्रधारा जाते है तो आपसे निवेदन है इस जगह गंदगी न करें, आप अपने साथ जो भी कचरा लेकर जाते है वो अपने पास रखें। यहां वहां न फैके। यहां पर सार्वजनिक शौचालय बना हुआ है। सार्वजनिक शौचालय इस जगह में पहुचते साथ बना हुआ है। जब आप इस जगह पहुॅचते है यहां पर मैदान की शुरूवात होती है वही पर सुलभ शौचालय स्थित है। आप वहां पर लेटरिग करें ।
  • आप यहां पर स्नान करते है। तो ज्यादा गहरे में न जाये क्योकि यहां पर आपको बचाने वाला कोई नही रहेगा।
  • अगर आप सहस्त्रधारा जलप्रपात में जाते है तो पानी के तेज वहाव में मत जाये क्योकि  कभी भी कोई भी हादसा हो सकता है। इसलिए आप किनारे में रहकर जलप्रपात का आंनद लें।